IPL को लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उठाया बड़ा कदम, अपने खिलाड़ियों को...

IPL को लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उठाया बड़ा कदम, अपने खिलाड़ियों को...
ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड ने कहा कि आईपीएल में खेलने का फैसला उनके खिलाड़ियों का अपना होगा (AP Photo)

फ्रेंचाइजियों ने मोटी रकम में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को खरीदा था, मगर अब 15 अप्रैल तक उनके खेलने की संभावना न के बराबर लग रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2020, 11:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हर दिन कोरोना वायरस (corona virus) का कहर बढ़ता ही जा रहा है. इस वजह से इंडियन प्रीमियर  लीग पर भी संकट मंडराने लगे हैं. केंद्र सरकार ने  विदेशी लोगों के लिए सभी मौजूदा विदेशी वीजा 15 अप्रैल तक निलंबित कर दिए. जिस वजह से आईपीएल को लेकर स्थिति उस समय और भी मुश्किल हो गई, जब फ्रेंचाइजियों ने मोटी रकम में काफी विदेशी खिला‌ड़ियों  को नीलामी में खरीदा था. विदेशी खिलाड़ी खासकर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आईपीएल में हिस्सा लेंगे या नहीं, इस पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का बयान  आया है.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने आईपीएल के इस सीजन में हिस्सा लेने  का फैसला पूरी तरह से अपने खिलाड़ियों पर छाेड़ दिया है. आईपीएल के 13वें सीजन ‌का आगाज 29 मार्च से होगा. लीग का उद्घाटन मुकाबला पिछले साल की फाइनलिस्ट टीमें मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच होगा.  सीए ने स्पोर्ट्स स्टार से बातचीत में कहा कि खिलाड़ियों का  अनुबंध सीधा अपनी फ्रेंचाइजी के साथ है. सीए के नजरिए से वह लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. खासकर डीएफएटी द्वारा दी गई सलाह पर नजर रखे हुए हैं.

पैट कमिंस, मैक्सवेल जैसे बड़े नाम हैं शामिल
आईपीएल के इस सीजन में तेज गेंदबाज पैट कमिंस,  ग्लेन मैक्सवेल जैसे कई बड़े ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ी  शामिल हैं. दुनिया के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज को कोलकाता नाइट राइडर्स ने 15.5 करोड़ रुपये में खरीदा था. इस सीजन से वह सबसे महंगे विदेशी खिलाड़ी हैं. उनके अलावा ग्लेन मैक्सवेल और नाथन कूल्टर नाइल भी आईपीएल में अहम ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हैं.  क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लंबे समय के मैनेजर के अनुसार ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स की उपलब्‍धता पर टिप्पणी करना जल्दबाजी  होगी. उन्‍होंने कहा कि हम इस स्तर पर टिप्पणी करने की स्थिति में नहीं हैं. खासकर उस समय जब हमें भारत या आईपीएल टीम से कोई सलाह नहीं मिली है.
 विदेशी खिलाड़ियों के लिए बढ़ी मुश्किलें


भारतीय सरकार ने वीजा पॉलिसी में हाल ही में जो बदलाव किए हैं उससे मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं. आईपीएल खेलने भारत आने वाले 60 विदेशी खिलाड़ियों को वीजा मिलेगा या नहीं इस पर स्थिति साफ नहीं है. हालांकि, बीसीसीआई खाली स्टेडियम में आईपीएल का आयोजन किया जाने पर विचार कर रही है, लेकिन आखिरी फैसला बैठक में ही होगा.








अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज