• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CRICKET COVID RISK WASHINGTON SUNDAR FATHER STAYS AWAY FROM HIM TO MINIMIZE RISK OF CONTRACTION FOR THE ALL ROUNDER

वाॅशिंगटन सुंदर के पिता ने बेटे का करियर बचाने के लिए घर छोड़ा, वजह भावुक करने वाला

वाशिंगटन सुंदर ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर शानदार अर्धशतकीय पारी खेली थी. (AP)

ऑलराउंडर वाॅशिंगटन सुंदर (Washington sundar) को इंग्लैंड दौरे के लिए टीम इंडिया में जगह मिली है. टीम को 2 जून को रवाना होना है. टीम इंडिया वहां वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल और इंग्लैंड से पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टीम इंडिया (Team India) अगले महीने इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना होगी. टीम लगभग 4 महीने तक वहां रहेगी. पहले उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship ) का फाइनल खेलना है और उसके बाद मेजबान देश इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी. दौरे से पहले बीसीसीआई ने सभी खिलाड़ियों को चेतावनी दे दी है, अगर कोई खिलाड़ी दौरे के पहले पॉजिटिव आता है तो टूर पर नहीं जाएगा.

    मालूम हो कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल 18 से 22 जून तक साउथम्प्टन में होना है. विराट कोहली अपनी कप्तानी में पहली आईसीसी ट्रॉफी जीतना चाहेंगे. न्यू इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, ऑफ स्पिनर वाॅशिंगटन सुंदर (Washington sundar) के पिता एम सुंदर ने वायरस से बेटे को बचाने के लिए बड़ा कदम उठाया है. पिता आयकर विभाग में प्रशासनिक अधिकारी के रूप में काम करते हैं. उनकी नौकरी के लिए उन्हें सप्ताह में तीन बार कार्यालय जाना पड़ता है और चेन्नई में मामलों की संख्या बढ़ने के बाद उन्होंने घर में नहीं रहने का फैसला किया. इसके बजाय, वे दूसरे घर में रह रहे हैं और अपने परिवार के साथ ऑनलाइन जुड़े हुए हैं.

    ऑफिस जाने के कारण दूसरे घर में रहने लगे

    एम सुंदर ने कहा, ‘जब से वाॅशिंगटन आईपीएल से घर लौटा है. मैं दूसरे घर में रह रहा हूं. बस मेरी पत्नी और बेटी वाॅशिंगटन के साथ रह रहे हैं, क्योंकि वो घर से बाहर नहीं निकलते हैं. मैं उसे केवल वीडियो कॉल पर देख पा रहा हूं. मुझे हफ्ते में कुछ दिन ऑफिस जाना पड़ा है. मैं नहीं चाहता कि वह मेरी वजह से कोरोना के संक्रमण में आए.’ पहली बार भारतीय पुरुष और महिला क्रिकेट टीम एक ही चार्टर्ड फ्लाइट में एक साथ यात्रा करेंगी. महिला टीम को इंग्लैंड से टेस्ट, वनडे और टी20 सीरीज खेलनी है. दोनों टीमें 2 जून को रवाना होंगी. हालांकि खिलाड़ी अपने साथ परिवार ले सकेंगे या नहीं इस पर फैसला होना बाकी है. ब्रिटेन सरकार की ओर से अब तक परिवार को अनुमति नहीं दी गई है.

    यह भी पढ़ें: WTC Final: नील वैगनर से निपटने के लिए टीम इंडिया में शामिल हुआ 'खास गेंदबाज'

    लॉर्ड्स में टेस्ट खेलना का सपना

    एम सुंदर बेटे के कोच भी हैं. उन्होंने बताया कि वॉशिंगटन सुंदर हमेशा इंग्लैंड में टेस्ट खेलना चाहता था और यह दौरा उसके करियर के लिए बेहद अहम है. एम सुंदर ने कहा, ‘वह हमेशा लॉर्ड्स और इंग्लैंड के दूसरे मैदान पर खेलना चाहता था. यह उसका सालों पुराना सपना है. वे नहीं चाहते हैं कि किसी भी कीमत पर उसका यह दौरा कैंसिल हो.’ 2018 में भी वॉशिंगटन सुंदर को इंग्लैंड दौरे पर वनडे और टी20 टीम में जगह मिली थी, लेकिन वे चोट के कारण एक भी मैच नहीं खले थे.