30 खिलाड़ियों ने लगाया नस्लवाद का गंभीर आरोप, अब साउथ अफ्रीका ने किया बड़ा ऐलान

30 खिलाड़ियों ने लगाया नस्लवाद का गंभीर आरोप, अब साउथ अफ्रीका ने किया बड़ा ऐलान
क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने किया बड़ा ऐलान

मखाया एनटिनी (Makhaya Ntini), हाशिम अमला समेत कई दिग्गज खिलाड़ियों ने ब्लैक लाइव्स मैटर (Black Live Matter) आंदोलन को समर्थन दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. हाल ही में साउथ अफ्रीका (South Africa) के कई दिग्गज खिलाड़ियों ने अपने करियर के दौरान नस्लभेद ही घटनाओं का खुलासा किया था. जिसके बाद दुनियाभर के फैंस हैरान रह गए थे. इन सनसनीखेज खुलासों के बाद अब क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने नस्लवाद को दूर करने की योजना की घोषणा की है. क्रिकेट बोर्ड ने तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी के ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ (बीएलएम) वैश्विक आंदोलन को अपना समर्थन देने के बाद खेल में कथित नस्लवाद को दूर करने की योजना की घोषणा की हैं. एनगिडी के बीएलएम के समर्थन के बाद मखाया एनटिनी सहित 30 पूर्व खिलाड़ियों ने अपने खेल के दिनों में नस्लवाद के आरोप लगाये थे. पिछले साल संन्यास लेने वाले दिग्गज बल्लेबाज हाशिम अमला ने भी इस मुद्दे को उठाने के लिए एनगिडी का समर्थन किया था.

नस्लवाद खत्म करने के लिए तत्पर क्रिकेट साउथ अफ्रीका
सीएसए ने शुक्रवार को एक बयान में ‘क्रिकेट फॉर सोशल जस्टिस एंड नेशन बिल्डिंग (एसजेएन)’ नाम की परियोजना का उल्लेख करते हुए कहा, 'क्रिकेट प्रशंसकों द्वारा राष्ट्रीय स्तर के आक्रोश के अलावा व्यापक हितधारक समूहों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है.' सीएसए एक ‘परिवर्तन लोकपाल’ स्थापित करेगा, जिसके मूल उद्देश्य स्वतंत्र शिकायत प्रणाली के प्रबंधन के साथ-साथ क्रिकेट खिलाड़ियों, प्रशंसकों और राष्ट्र को एकजुट करने की प्रक्रिया की देखरेख करना शामिल होगा.

रोमांटिक है क्रुणाल की लवस्टोरी, आधी रात पूरी टीम के सामने किया था प्रपोज
बाथरूम में बैठकर घंटो रोया करता था यह क्रिकेटर, डेब्यू से पहले मिल रहे थे ताने



सीएसए बोर्ड के अध्यक्ष क्रिस नेनजानी ने कहा, 'हमें खेद हैं कि हमारे क्रिकेट खिलाड़ियों को भावनात्मक तौर मुश्किल समय से गुजरना पड़ा। हमारे नए लोकतंत्र में नस्लवाद की जगह नहीं हैं.' उन्होंने कहा, 'एसजेएन अपनी तरह की पहली परियोजना है, जिसका मकसद रंगभेद की नस्लीय भेदभाव से क्रिकेट को छुटकारा दिलाना है. सभी हितधारकों के लिये क्रिकेट की भविष्य की स्थिरता के लिए यह एक बहुत महत्वपूर्ण परियोजना है.'

मखाया एनटिनी ने खोली थी नस्लवाद की पोल
बता दें पिछले हफ्ते साउथ अफ्रीका के लिए 662 इंटरनेशनल विकेट लेने वाले मखाया एनटिनी (Makhaya Ntini) ने नस्लभेद की पोल खोली थी. साउथ अफ्रीकी टीम के साथ अपने समय को याद करते हुए एनटिनी ने कहा था कि वह नस्लवाद का शिकार रहे और हमेशा खुद को ‘अकेला महसूस’ करते थे. उन्होंने टीम के तत्कालीन खिलाड़ियों पर आरोप लगाया कि वे उन्हें अलग रखते थे. एनटिनी ने ‘दक्षिण अफ्रीकी प्रसारण निगम’ से कहा 'उस समय मैं हमेशा अकेले था.' उन्होंने कहा, 'खाना खाने के लिए जाते समय कोई भी मुझे साथ नहीं ले जाता था. टीम के साथी खिलाड़ी मेरे सामने योजना बनाते थे, लेकिन उस में मुझे शामिल नहीं करते थे. नाश्ते के कमरे कोई भी मेरे साथ नहीं बैठता था.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading