इस महान अंपायर ने कहा-फाइनल में हुई बड़ी गलती, 6 की जगह 5 रन मिलने चाहिए थे इंग्लैंड को

एमसीसी की नियम बनाने वाले उपसमिति के सदस्य और पांच बार के अंपायर ऑफ द ईयर रह चुके साइमन टॉफेल ने कहा कि इंग्लैंड को पांच रन की जगह छह रन देना साफ तौर पर अंपायरों की गलती थी.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 4:34 PM IST
इस महान अंपायर ने कहा-फाइनल में हुई बड़ी गलती, 6 की जगह 5 रन मिलने चाहिए थे इंग्लैंड को
वर्ल्ड कप के फाइनल में इंग्लैंड ने सुपरओवर में जीत हासिल कर पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया. (फोटो-AP)
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 4:34 PM IST
वर्ल्ड कप 2019 का खिताबी मुकाबला भले ही इंग्लैंड ने जीत लिया हो, लेकिन इस मुकाबले में खराब अंपायरिंग को लेकर भी काफी आलोचना की जा रही है. मामला इंग्लैंड की पारी के 50वें ओवर से जुड़ा है जिसमें अंपायर कुमार धर्मसेना ने इंग्लैंड को ओवरथ्रो के चार रन दे दिए थे, जिसके बाद मेजबान टीम 50 ओवर के बाद मुकाबले को टाई कराने में सफल रही.

इस मामले में अब पूर्व अंपायर ऑस्ट्रेलिया के साइमन टॉफेल ने भी अपना रुख साफ किया है. टॉफेल ने इसे अंपायरों की गलती करार दिया है. एमसीसी की नियम बनाने वाले उपसमिति के सदस्य टॉफेल ने कहा कि इंग्लैंड को पांच रन की जगह छह रन देना साफ तौर पर अंपायरों की गलती थी.

आईसीसी के पांच बार के अंपायर ऑफ द ईयर चुने गए साइमन टॉफेल के अनुसार, अंपायरों ने नियमों को लागू करने में गलती कर दी और इंग्लैंड को छह नहीं, बल्कि पांच रन ही दिए जाने चाहिए थे. उन्होंने foxsports.com.au को दिए इंटरव्यू में ये बात कही.

इसे लेकर एमसीसी की रूलबुक में जो नियम 19.8 है उसके अनुसार, ऐसी स्थिति में बल्लेबाजों द्वारा पूरा किया गया रन और ओवरथ्रो पर मिली बाउंड्री से मिले रन तभी मान्य हैं जब फील्डर के थ्रो फेंकने से पहले दोनों बल्लेबाजों ने पिच पर एक-दूसरे को क्रॉस कर लिया हो, जबकि इस मुकाबले में ऐसा नहीं हुआ था.

icc cricket world cup 2019, world cup final, ben stokes, england national cricket team, new zealand cricket team, england vs new zealand बेन स्टोक्स, केन विलियमसन, इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड, साइमन टॉफेल, simon taufel
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व अंपायर साइमन टॉफेल ने कहा है कि अंपायरों के लिए मैदान पर हालात आसान नहीं होते. (फाइल फोटो)


हुआ क्या था 50वें ओवर में

50वें ओवर की चौथी गेंद पर स्टोक्स ने मिडविकेट पर शॉट खेला और दो रन लेने के लिए दौड़ पड़े. मार्टिन गुप्टिल ने गेंद पकड़कर विकेटकीपर वाले छोर पर गेंद थ्रो की. इस दौरान रन आउट से बचने के लिए स्टोक्स ने डाइव लगा दी और गेंद उनके बल्ले से लगकर चार रन के ल‌िए बाउंड्री पार चली गई. नियमों के तहत ये ओवरथ्रो के चार रन मिलाकर कुल छह रन इस गेंद पर दे दिए गए और इंग्लैंड और रनों का फासला भी घट गया. तीन गेंद पर इंग्लैंड को जीत के लिए 9 रन की दरकार थी, लेकिन इस गेंद पर बने छह रनों के बाद उसे 2 गेंद पर तीन रन बनाने ‌थे.
Loading...

तो क्या होता...

-इंग्लैंड को पांच रन मिलते और उसे आखिरी दो गेंदों पर जीत के ल‌िए 4 रन बनाने होते, जो शायद इतना आसान नहीं होता.

-अगर इंग्लैंड को पांच रन मिलते तो फिर बल्लेबाजी छोर पर बेन स्टोक्स की जगह आदिल राशिद होते.

साइमन टॉफेल ने हालांकि मैच अधिकारियों का बचाव करते हुए कहा कि नतीजे के लिए अंपायरों पर सवाल उठाना गलत है. इतने तनाव भरे मैच में उन्होंने सोचा होगा कि थ्रो के वक्त दोनों बल्लेबाजों ने एक-दूसरे को क्रॉस कर लिया होगा. बेशक टीवी रीप्ले में हमें साफ स्थिति पता चली.

धर्मसेना का किया बचाव

साइमन टॉफेल ने फाइनल में अंपायरिंग करने वाले कुमार धर्मसेना और मराइस इरासमुस का बचाव करते हुए कहा कि ये दोनों अंपायर सर्वश्रेष्ठ हैं, लेकिन मैदान पर चीजें इतनी आसान नहीं होती. टॉफेल के अनुसार, मुश्किल ये है कि अंपायरों को काफी सारी बातों का ध्यान रखना होता है. वे बल्लेबाज को रन लेते हुए देखते हैं, उसके बाद फील्डर की ओर देखते हैं और फिर उसके थ्रो को. ऐसे में उसी समय यह भी देखना होता है कि बल्लेबाज उस समय कहां हैं.

World Cup: न्यूजीलैंड की हार के बाद निशाने पर ICC, दिग्गजों और फैंस ने खड़े किए इंग्लैंड की जीत पर सवाल

फाइनल में अंपायर्स ने की ये तीन गलतियां, न्यूजीलैंड को चुकानी पड़ी इसकी कीमत!

 
First published: July 15, 2019, 4:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...