भारत से मैच कल, साउथ अफ्रीका के पास प्लान A, B, C कुछ नहीं

बांग्लादेश के खिलाफ साउथ अफ्रीका को करारी हार का सामना करना पड़ा, टीम अपने शुरुआती दोनों मैच हार चुकी है.

News18Hindi
Updated: June 4, 2019, 8:22 AM IST
भारत से मैच कल, साउथ अफ्रीका के पास प्लान A, B, C कुछ नहीं
आगे के मैचों के लिए साउथ अफ्रीका के पास प्लान A, B, C कुछ नहीं है
News18Hindi
Updated: June 4, 2019, 8:22 AM IST

ICC Cricket World Cup 2019: क्रिकेट का सबसे बड़ा टूर्नामेंट वर्ल्ड कप शुरू हो चुका है. हर बार की तरह इस बार भी साउथ अफ्रीका को टफ टीम की लिस्ट में रखा गया है. लेकिन साउथ अफ्रीका का परफॉर्मेंस कुछ और ही कह रहा है. बांग्लादेश के हाथों मिली करारी शिकस्त के बाद अब सवाल उठने लगे हैं कि क्या साउथ अफ्रीका वर्ल्ड कप की रेस से बाहर हो गया है. क्या टीम के पास वापसी करने का अब कोई प्लान नहीं बचा है?


गेंदबाज रन रोक नहीं पा रहे और बल्लेबाज बना नहीं पा रहे
टीम की मौजूदा स्थिति पर नजर डालें तो यही लगता है कि अब 'चोकर्स' के पास आगे के मैचों के लिए प्लान A, B या C कुछ नहीं है. टीम के बॉलर्स रन रोकने में नाकाम हैं और बल्लेबाजों के बल्ले से रन नहीं निकल रहे. टूर्नामेंट का पहला मैच इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका के बीच हुआ. इंग्लैंड ने 311 रन बनाए और अफ्रीका 207 रनों पर सिमट गई. साउथ अफ्रीका का दूसरा मैच बांग्लादेश से हुआ और इस बार भी उसे 21 रनों से हार का सामना करना पड़ा. ये कहना गलत होगा कि बांग्लादेश जैसी कमजोर टीम के खिलाफ साउथ अफ्रीका हार गई. क्योंकि पिछले कुछ सालों में बांग्लादेश ने ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, इंडिया, श्रीलंका, पाकिस्तान जैसी बड़ी टीमों को हराया है. लेकिन वर्ल्ड कप में बांग्लादेश को कभी भी साउथ अफ्रीका या अन्य बड़ी टीमों के मुकाबले का नहीं माना गया है.


टीम इंडिया को लेकर नहीं है कोई प्लान

साउथ अफ्रीका का टूर्नामेंट के पहले हाफ का सबसे बड़ा मैच पांच जून को टीम इंडिया के खिलाफ होने वाला है और टीम ये मैच बिना प्लान A के खेल रही है. टीम के सफल तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी चोट के चलते इस मैच से बाहर हैं. डेल स्टेन गेंदबाजी कर रहे हैं. लेकिन अफ्रीकन कैंप में उनकी वापसी को लेकर अभी भी सस्पेंस बरकरार है. जबकि हाशिम अमला की फॉर्म दूर-दूर तक लौटती नहीं दिख रही. ये साफ है कि इंडिया के खिलाफ अफ्रीका का प्लान ए नहीं चलने वाला है. वहीं प्लान बी भी टीम के पास नहीं है, क्योंकि युवा तेज गेंदबाज एनरिच नोर्तजे टूर्नामेंट से पहले ही चोट के चलते बाहर हो चुके हैं.


'सुपरमैन' की खल रही है कमी
प्लान सी से लेकर जेड तक अफ्रीका के पास कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है. क्रिस मॉरिस से टीम को बड़ी उम्मीदें थीं. लेकिन उनका परफॉर्मेंस भी अच्छा नहीं रहा है. बांग्लादेश के खिलाफ मॉरिस ने तेज गेंदबाजों में सबसे ज्यादा 73 रन दिए और बल्ले से भी वो कमाल नहीं दिखा पाए. टीम का मिडिल ऑर्डर लाचार नजर आ रहा है. साउथ अफ्रीका का प्री टूर्नामेंट मंत्रा था कि उन्हें 'सुपरमैन' यानी एबी डिविलियर्स की जरूरत नहीं है. लेकिन अब लगता है कि टीम को एबी की कमी बड़ी खल रही है. इसके अलावा टीम की बैटिंग में लेटर C मिसिंग है. लेटर C का मतलब कॉन्फिडेंस.


Loading...

डेविड मिलर

 सीनियर खिलाड़ियों पर सवाल उठने लाजमी
मिडिल ऑर्डर में अगर कोई परफॉर्म कर भी पा रहा है तो वो हैं रासी वान डर दुसां. ये बल्लेबाज नया जरूर है, लेकिन इसमें बड़े टूर्नामेंट में परफॉर्म करने की पूरी काबिलियत है. लेकिन दुसां को मिडिल ऑर्डर में टीम के वरिष्ठ खिलाड़ी जे पी ड्यूमिनी और मिलर का साथ मिलता नहीं दिख रहा. ड्यूमिनी सीनियर खिलाड़ी हैं. ऐसे में उनकी खराब परफॉर्मेंस पर सवाल उठने लाजमी हैं.


जो टीम पेपर्स पर दिखती है वो ग्राउंड पर नहीं
पेपर्स पर साउथ अफ्रीकी टीम अलग नजर आती है, जबकि ग्राउंड पर टीम का प्रदर्शन बेहद फीका रहा है. अमला अगर पूरी तरह फिट हो जाते हैं, तो साउथ अफ्रीका को ड्यूमिनी, मिलर और मार्करम के बीच में किन्हीं दो को चुनना होगा. दुसां को टीम से बाहर शायद नहीं किया जाएगा. क्योंकि उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है. खुद कप्तान फाफ डु प्लेसी भी मान चुके हैं कि टीम के पास विकल्प कम हैं. उन्होंने हार के लिए टीम को जिम्मेदार ठहराया है. फाफ ने कहा है कि ड्रेसिंग रूम में मौजूद कोई भी खिलाड़ी अपनी पूरी क्षमता से नहीं खेल रहा है. प्लेयर्स ऐसी परफॉर्मेंस (बांग्लादेश के खिलाफ मिली हार) के लिए कोई एक्सक्यूज नहीं दे सकते. 




क्रिस मौरिस

अभी भी है वापसी का मौका
फाफ का मानना है कि साउथ अफ्रीका अभी भी जीत सकती है और थ्योरी के हिसाब से वो सही भी हैं. साउथ अफ्रीका अभी टूर्नामेंट से बाहर नहीं हुई है. लेकिन वर्ल्ड कप में बने रहने के लिए उसे अपने बचे हुए सात मैचों में से उसे पांच हर हाल में जीतने होंगे. इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम को अपनी पूरी जान लड़ानी होगी. साथ ही टीम को एकजुट होकर वेस्ट इंडीज, श्रीलंका, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ बेहतर परफॉर्म करना होगा.


(क्रिकेट नेक्स्ट के लिए फिरदौस मुंडा की रिपोर्ट पर आधारित)


ICC Cricket World Cup 2019: पिच अच्छी नहीं होगी तो इंग्लैंड में रन नहीं बनाएंगे विराट-धवन और रोहित शर्मा!
इंग्‍लैंड के खिलाड़ी का खुलासा- गेंद से छेड़छाड़ करते थे
इंग्‍लैंड को बड़ी चोट, 42 साल का खिलाड़ी बना संकटमोचक


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 3, 2019, 3:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...