WTC Final: 54 गेंद में 8 रन, चेतेश्वर पुजारा की बल्लेबाजी देख डेल स्टेन ने दे डाली ये सलाह

WTC Final के दूसरे दिन बल्लेबाजी के दौरान चेतेश्वर पुजारा को न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज नील वैगनर की एक बाउंसर हेलमेट पर लगी थी. (PIC:AP)

WTC Final: विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल के दूसरे दिन भारत के तीन विकेट गिरे. चेतेश्वर पुजारा 8 रन बनाकर आउट हुए. इसके लिए उन्होंने 54 गेंद खेली औक इसमें दो गेंदों पर रन बना सके. पुजारा ने 36वीं गेंद पर खाता खोला. उनकी धीमी बल्लेबाजी पर दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने सवाल उठाए और उन्हें अपनी बल्लेबाजी में सुधार की सलाह दी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन(Dale Steyn) ने भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा(Cheteshwar Pujara) की बल्लेबाजी पर सवाल उठाए हैं. स्टेन को लगता है कि पुजारा को विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के दूसरे दिन थोड़ा और खुलकर खेलना चाहिए था और ज्यादा स्ट्राइक रोटेट करनी थी. पुजारा ने दूसरे दिन 54 गेंद खेलकर सिर्फ 8 रन बनाए और वो भी दो चौके जड़कर. इसके अलावा वो एक भी स्कोरिंग शॉट नहीं खेल पाए. पुजारा ने कितनी धीमी बल्लेबाजी की, अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उन्होंने 36वीं गेंद पर चौका जड़कर अपना खाता खोला.

    पुजारा ने अगली ही गेंद पर एक और चौका जड़ा. इसके बाद उन्होंने कुछ और डॉट बॉल खेलीं और आखिरकार ट्रेंट बोल्ट ने उन्हें एलबीडब्ल्यू कर दिया. स्टेन का मानना है कि पुजारा को अपने आउट होने के बाद ये अहसास हो गया होगा कि उनके पास रन बनाने के अधिक मौके थे, जिसका वो फायदा उठा सकते थे और इससे स्कोरबोर्ड आगे बढ़ता रहता. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की बात करें, तो पुजारा एक भी शतक नहीं लगा सके हैं. 9 अर्धशतक जड़े. अंतिम 6 पारियों की देखें तो वे किसी भी पारी में 25 रन का आंकड़ा नहीं छू सके हैं.




    उन्होंने ईएसपीएन क्रिकइंफो से बातचीत में कहा कि आप पुजारा जैसे बल्लेबाजों को देखना चाहते हैं. वो इसी तरह बल्लेबाजी करते हैं. लेकिन मुझे लगता है कि अगर वो अपनी पारी का वीडियो एनालिसिस देखेंगे, तो उन्हें ये जरूर पता चलेगा कि कई गेंद ऐसी थी, जिस पर आसानी से स्ट्राइक रोटेट कर सकते थे. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. उनकी बल्लेबाजी का ग्राफ कुछ ऐसा रहा. 0,0,0,0,0,4,4,0,0,0,0,0 और फिर वो आउट हो गए. मुझे यकीन है कि वो उन सभी 50 गेंदों में स्ट्राइक रोटेट कर टीम के साथ ही अपने खाते में भी धीरे-धीरे रन जोड़ सकते थे.

    यह भी पढ़ें: IND W vs NZ W: शेफाली, स्‍नेहा सहित 5 भारतीय खिलाड़ियों ने किया डेब्‍यू, सभी ने मचाया कोहराम

    भारतीय बल्लेबाजों को स्ट्राइट रोटेट करना चाहिए: स्टेन
    पुजारा का उदाहरण देते हुए स्टेन ने कहा कि भारतीय बल्लेबाजों को पिच या कंडीशंस के बारे में सोचकर परेशान नहीं होना चाहिए. उन्हें तीसरे दिन ज्यादा से ज्यादा स्ट्राइक रोटेट करने की कोशिश करनी चाहिए. साउथैम्पटन टेस्ट में दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर भारत ने तीन विकेट के नुकसान पर 146 रन बना लिए थे. कप्तान विराट कोहली(44) और अजिंक्य रहाणे 29 रन पर नाबाद खेल रहे हैं.

    WTC Final: दिनेश कार्तिक ने डेब्यू 'टेस्ट' में मचाया धमाल, सोशल मीडिया पर हुए वायरल

    स्टेन का मानना है कि भारत के लिए तीसरे दिन बहुत अहम है और उसे किसी भी कीमत पर मैच पर बनी पकड़ को गंवाना नहीं चाहिए. भारत के लिए ये अच्छा है कि उसने दूसरे दिन ज्यादा विकेट नहीं गंवाए. हालांकि, अब उन्हें स्कोरबोर्ड बढ़ाने पर ध्यान देना होगा. अगर ऐसा करने में टीम इंडिया सफल हो जाती है, तो फिर मैच पर उसकी पकड़ मजबूत हो जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.