• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • 3 बाईपास सर्जरी के बाद फिट हुआ विश्व चैंपियन क्रिकेटर, बताया- अब क्या हैं ख्वाहिशें

3 बाईपास सर्जरी के बाद फिट हुआ विश्व चैंपियन क्रिकेटर, बताया- अब क्या हैं ख्वाहिशें

डैरेन लेहमन पांच सालों तक ऑस्ट्रेलिया के कोच रहे.

जिंदादिल डैरेन लेहमन (Darren Lehmann) बाईपास सर्जरी के बाद के वक्त को अपनी दूसरी पारी मान रहे हैं. वे इस बार वह सब करना चाह रहे हैं, जो अब तक छूट गया था. कोचिंग से लेकर दुनिया की सैर तक, सब कुछ उनके एजेंडे में है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. वो तीन फरवरी 2020 की तारीख थी. तीन विश्व कप जीत चुके डैरेन लेहमन (Darren Lehmann) का दो दिन बाद जन्मदिन था और इसी खुशी में उन्होंने बेटे जैक के साथ पिज्जा खाया और थोड़ी बीयर भी पी. चार फरवरी की सुबह जब लेहमन जगे तो उन्हें बुखार था. पसीने छूट रहे थे. लेहमैन के शब्दों में, ‘ऐसा लग रहा था कि जैसे कोई सीने को बड़ी ताकत से दबा रहा हो. मैंने किसी तरह होटल के मेडिकल आफीसर को फोन लगाया. एंबुलेंस आ गई. होटल से अस्पताल का रास्ता 10 मिनट का ही रहा होगा. लेकिन वो 10 मिनट मेरी जिंदगी का सबसे डरावना वक्त था...’

    ऑस्ट्रेलिया (Australia) के डैरेन लेहमन को गोल्ड कोस्ट के प्रिंस चार्ल्स हॉस्पिटल में भर्ती किया गया. बेटे जैक कहते हैं कि डॉक्टर ने बताया कि उनके पिता के दिल में ब्लॉकेज है. सर्जरी करनी होगी. सर्जरी हो गई. लेकिन हालत में ज्यादा सुधार नहीं हुआ. इसके बाद दो और सर्जरी हुईं. डैरेन इस दौरान आठ दिन भर्ती रहे. तीन सर्जरी, खूब सारी दवाइयों और उससे भी ज्यादा एहतिहयात की सलाह लेकर घर लौट आए हैं. अच्छी बात यह है कि फायदा हुआ है. अब चल-फिर रहे हैं.

    दूसरी पारी के लिए उत्साहित
    क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया डॉट कॉम ने इस बारे में डैरेन लेहमन से बात की. बेटे जैक की बातों में चिंता झलक रही थी, जो होनी भी चाहिए. लेकिन जिंदादिल डैरेन तो इसे अपनी दूसरी पारी मान रहे हैं. वे जिंदगी की इस दूसरी पारी में वह सब करना चाह रहे हैं, जो अब तक छूट गया था. कोचिंग से लेकर दुनिया की सैर तक, सब कुछ उनके एजेंडे में है.

    बॉल टैम्परिंग से मिली बदनामी
    1999 और 2003 में विश्व कप जीतने वाली टीम के अहम सदस्य रहे डैरेन ऑस्ट्रेलिया को बतौर कोच भी चैंपियन बना चुके हैं. 2015 में माइकल क्लार्क की कप्तानी में जिस टीम ने विश्व कप जीता, उसके कोच डैरेन ही थे. हालांकि, उनका कोच का करियर बॉल टैम्परिंग (Ball Tampering) के दाग के साथ खत्म हुआ. 2018 में जब ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों ने टैम्परिंग की तो माना गया कि इसमें कोच डैरेन लेहमन भी शामिल थे. हालांकि, क्रिकेट ऑस्टेलिया की इंटरनल जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई.

    खुश रहना है तो बीती बातें भूल जाओ
    डैरेन लेहमन कहते हैं कि बीते दो साल बहुत खराब रहे. इस दौरान उनका तलाक भी हुआ और बदनामी भी मिली. लेकिन वे यह सब भूल जाना चाहते हैं. डैरेन कहते हैं कि अगर आपको खुश रहना है तो आपको बीती बातें भुला देनी चाहिए. यदि अतीत में गलती की है, तो उससे सबक लीजिए. उसे सुधारिए. लेकिन उसे अपने साथ चिपका कर मत रखिए.

    ऑस्ट्रेलिया को समंदर के रास्ते से देखना है
    डैरेन लेहमन कहते हैं कि अभी तो वे सिर्फ 50 साल के हैं. उन्हें अभी बहुत काम करना है. डैरेन ने लंबी लिस्ट बना रखी है. वे कहते हैं कि उन्हें समंदर और रेल के रास्ते ऑस्ट्रेलिया को देखना है. वे क्वींसलैंड से बोट पकड़ेंगे और उत्तरी ऑस्ट्रेलिया की ओर आगे बढ़ेंगे. इसी तरह एडीलेड से डार्विन तक रेल सफर करेंगे. यह सफर तीन दिन और दो रात का है. इसके अलावा उन्हें कोचिंग का काम करते रहना है. वे ब्रिसबेन हीट के हेड कोच हैं.

    दोस्त की बहन से शादी की, बेटा क्रिकेटर
    डैरेन लेहमन का इंटरनेशनल करियर 117 वनडे और 27 टेस्ट मैचों का रहा. डैरेन ने दो शादी की है. पहली पत्नी एम्मा से दो बच्चे हैं जैक और टोरी. जैक पिता की तरह बाएं हाथ के बल्लेबाज और स्पिनर हैं. साउथ ऑस्ट्रेलिया से खेलते हैं. डैरेन ने दूसरी शादी क्रिकेटर क्रेग वॉइट की बहन आंद्रिया से शादी की है. दूसरी शादी से भी दो बच्चे हैं एमी और एथान.

    यह भी पढ़ें: 

    Corona: 374 इंटरनेशनल मैच खेल चुका क्रिकेटर फंड जुटाने के लिए बेच रहा लकी बैट

    पालघर में भीड़ ने की 2 संतों की हत्या, गुस्साए इरफान ने कह दी यह बात

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन