• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CRICKET DARREN SAMMY REVEALED HOW PLAYERS ARE FEEL TO TRAVEL PAKISTAN NOW

डैरेन सैमी का खुलासा, बताया- कैसी है पाकिस्‍तान में विदेशी खिलाड़ियों की सुरक्षा व्‍यवस्‍था

पूर्व वेस्‍टइंडीज ऑलराउंडर डैरेन सैमी उन विदेशी क्रिकेटर्स में से एक हैं, जिन्‍होंने पाकिस्‍तान में क्रिकेट की वापसी में अपना योगदान दिया था (फोटो क्रेडिट: darensammy88 इंस्‍टाग्राम)

2009 में पाकिस्‍तान का दौरा करने वाली श्रीलंका टीम की बस पर लाहौर में हमला हुआ था, जिसके बाद से ही बाकी टीमों ने वहां का दौरा करना बंद कर दिया था. यही नहीं पाकिस्‍तान का खुद का घरेलू मैदान यूएई हो गया था

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान में लंबे समय बाद क्रिकेट की वापसी हुई है. 2009 में लाहौर में श्रीलंका टीम पर हुए हमले के बाद से ही वहां पर क्रिकेट खत्‍म सा हो गया था. पाकिस्‍तान का खुद का घरेलू मैदान भी यूएई बन गया था, मगर अब वहां पर धीरे धीरे क्रिकेट लौट रहा है. पूर्व वेस्‍टइंडीज ऑलराउंडर डैरेन सैमी (Darren Sammy) उन क्रिकेटर्स में से एक हैं, जिन्‍होंने उस समय पाकिस्‍तान में क्रिकेट की वापसी में अहम योगदान दिया था, जब काफी टीम 2009 के बाद से उस देश का दौरा करने से डर रही थी.
    उस हमले के बाद पाकिस्‍तान ने अपने सभी मैच यूएई में खेले थे. 2018 और 2019 में पाकिस्‍तान में कुछ मैच यह देखने के लिए देश में करवाए गए कि क्‍या विदेशी खिलाड़ियों के लिए यह सुरक्षित है या नहीं. कुछ खिलाड़ियों ने पाकिस्‍तान जाने से मना कर दिया था, लेकिन सैमी उन विदेशी खिलाड़ियों में से एक रहे, जिन्‍होंने पाकिस्‍तान का दौरा किया.

    आश्वस्‍त महसूस करते हैं खिलाड़ी
    एक इंटरव्‍यू में सैमी ने पाकिस्‍तान में खिलाड़ियों की सुरक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर खुलासे किए. सैमी ने बताया कि पाकिस्‍तान में सुरक्षा की अच्‍छी व्‍यवस्‍था के चलते अब खिलाड़ी पाकिस्‍तान का दौरा करने के लिए किस तरह से आश्वस्‍त महसूस करते हैं. उन्‍होंने कहा कि अब टीमें उस देश का दौरा कर रही है. मुझे याद है कि पीएसएल के दूसरे सीजन में एक छोटा सा कदम उठाया गया और लाहौर में फाइनल खेलने पहुंचे. मुझे लगता है कि यह सही दिशा में एक छोटा सा कदम था.

    यह भी पढ़ें : 

    विराट कोहली और अनुष्‍का शर्मा ने बचाई बच्‍चे की जान, दुनिया की सबसे महंगी दवाई की थी जरूरत

    PSL की तैयारी के दौरान चोटिल हुए शाहिद अफरीदी, होने वाले दामाद शाहीन शाह ने मांगी दुआ

    दिमाग से जा रही है सुरक्षा को लेकर बातें
    पूर्व कैरेबियाई खिलाड़ी ने कहा कि जब मेरे साथ हाशिम अमला बातचीत कर रहे थे तो किसी ने मुझसे पूछा कि पाकिस्‍तान में अब और पांच साल पहले में क्‍या अंतर है. मुझे लगता है कि पाकिस्‍तान में अब खिलाड़ियों का आना बड़ा अंतर है. पांच साल पहले जब खिलाड़ी जाते थे तो वो पूछते थे कि क्‍या उन्‍हें वहां जाना चाहिए और अब पूछते है कि क्‍या वह वहां पर गोल्‍फ खेल सकते हैं या किन स्‍थानों पर डिनर के लिए जा सकते हैं. कैरेबियाई खिलाड़ी ने कहा कि सुरक्षा को लेकर चल रही तमाम बातें अब दिमाग से जा रही है और यही हम चाहते थे.
    First published: