सौरव गांगुली के बड़े फैसले जिन्होंने हमेशा के लिए बदल दिया भारतीय क्रिकेट

सौरव गांगुली भारत के सफल कप्तानों में शामिल

सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने कप्तान रहते हुए टीम के लिए कई बड़े और अहम फैसले लिए

  • Share this:
    नई दिल्ली. पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने अपनी कप्तानी के दौरान कई ऐसे फैसले किए जिन्होंने भारतीय क्रिकेट को बदल दिया. सिर्फ इतना ही नहीं महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह (Yuvraj Singh) औऱ हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) जैसे हीरों को तराशने का श्रेय भी सौरव गांगुली को ही जाता है. गांगुली असल मायनों में एक लीडर थे जिनके सही फैसलों ने देश में क्रिकेट की सूरत बदल दी.

    एक फैसले ने खत्म कर दिया ऑस्ट्रेलिया का विजय रथ
    भारत ने साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोलाकाता टेस्ट में हारते हुए मैच को जीत लिया था जिसमें वीवीएस लक्ष्मण ने 281 रनों की पारी खेली. लक्ष्मण पहली बार में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के खिलाफ अच्छा खेले थे जिसके कारण गांगुली ने उन्हें चौथे की जगह तीसरे नंबर उतारा और मैच को पूरी तरह उलट दिया. लक्ष्मण के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी थी. भारत ने इस जीत से ऑस्ट्रेलिया के 16 मैचों से चला आ रहे जीत के सिलसिले को तोड़ा था.

    वीरेंद्र सहवाग से कराई ओपनिंग
    वीरेंद्र सहवाग ने पूरी जिंदगी मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी की थी. यहां तक की साउथ अफ्रीका के खिलाफ अफने डेब्यू के समय भी उन्होंने छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए शतक जड़ा था. हालांकि गांगुली को लगा कि सहवाग से ओपनिंग कराके वह टीम को बेहतर संतुलन दे सकते हैं. उनका यह फैसला काफी हद तक सही साबित हुआ और सहवाग ने शानदार प्रदर्शन किया. 50 की औसत से उन्होंने रन बनाए जिसमें दो तिहरे शतक भी शामिल थे. सहवाग विदशों में भारत के सबसे सफल टेस्ट ओपनर में शामिल हो गए.

    राहुल द्रविड़ को विकेटकीपिंग के लिए मनाया
    सौरव गांगुली जब कप्तान बने तब भारत के अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज की कमी से जूझ रहा था. गांगुली ने राहुल द्रविड़ को यह मौका दिया ताकी टीम संतुलित रहे. द्रविड़ ने बिना कुछ कहे बात मान ली. राहुल ने अच्छी कीपिंग के साथ-साथ टीम की मदद भी की उनकी वजह से एक अतिरिक्त बल्लेबाज टीम में खेल पाया. 2002 औऱ 2004 के बीच विकेटकीपर रहते हुए राहुल द्रविड़ ने अपने वनडे करियर की कुछ शानदार पारियां खेली.

    करियर की शुरुआत में दाएं हाथ से बल्‍लेबाजी करते थे सौरव गांगुली, जानिए फिर कैसे बन गए लेफ्ट हैंडर

    साउथ अफ्रीका के स्टार खिलाड़ी ने खोला राज, बताया लार पर बैन के बाद क्या करें गेंदबाज

    धोनी को मौका देकर तीसरे नंबर पर कराई बल्लेबाजी
    सौरव गांगुली ने ही सबसे पहले दिनेश कार्तिक की जगह महेंद्र सिंह धोनी को चुन कर उन्हें मौका दिया था. धोनी की बल्लेबाजी को लेकर शुरुआत में सवाल उठाए जा रहे थे. इस बीच गांगुली ने धोनी को तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने को भेजा और पाकिस्तान के खिलाफ तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए धोनी ने 148 रनों की पारी खेली थी और फिर बतौर कप्तान भी टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाईं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.