दीपक चाहर के पिता का छलका दर्द, बोले-ये गलती ना करते तो आईपीएल नीलामी में मिलते 2 करोड़

IND vs SL: दीपक चाहर जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं. (फोटो-AP)

India vs Sri Lanka: 2018 आईपीएल नीलामी में दीपक चाहर (Deepak Chahar) को चेन्नई सुपरकिंग्स (Chenai Super Kings) ने 80 लाख रुपये में खरीदा जबकि उनके भाई राहुल चाहर (Rahul Chahar) को मुंबई इंडियंस ने 1.9 करोड़ रुपये में खरीदा था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में जबरदस्त बल्लेबाजी करने वाले दीपक चाहर (Deepak Chahar) ऑलराउंडर के तौर पर सुर्खियों में हैं. चाहर पिछले तीन सालों से भारतीय टीम में अंदर-बाहर होते रहे हैं लेकिन 69 रनों की नाबाद पारी ने उन्हें सीनियर टीम इंडिया का दावेदार बना दिया है. 28 वर्षीय इस खिलाड़ी ने हमेशा खुद को एक ऑलराउंडर माना है, लेकिन एक समय ऐसा आया था जब उन्हें खुद को हरफनमौला कहने पर पछतावा हुआ था. 2018 आईपीएल नीलामी में दीपक चाहर को चेन्नई सुपरकिंग्स (Chenai Super Kings) ने 80 लाख रुपये में खरीदा जबकि उनके भाई राहुल चाहर (Rahul Chahar) को मुंबई इंडियंस ने 1.9 करोड़ रुपये में खरीदा था.

    दीपक चाहर के पिता लोकेंद्र चाहर इस नीलामी को याद करते हुए कहते हैं, ''यह हमारी गलती थी. दीपक ने ऑलराउंडर के तौर पर फॉर्म भरा था. ऑलराउंडर कैटेगरी में खिलाड़ियों की नीलामी उसी दिन देर से हुई. राहुल गेंदबाज बनकर गए थे. नीलामी में राहुल का नाम जल्दी आया. बाद में दीपक आया. जब तक दीपक का नाम पुकारा गया, तब तक टीमों का काफी पैसा खत्म हो चुका था, नहीं तो उन्हें 2 करोड़ रुपये से ज्यादा मिल जाते.'' लोकेंद्र चाहर ने शुरुआती दिनों में दीपक और राहुल को क्रिकेट की बारीकियां सिखाई हैं.

    दीपक का एक बल्लेबाज के रूप में अच्छा रिकॉर्ड है और उन्होंने पहले भी कुछ महत्वपूर्ण पारियां खेली हैं. सीएसके के लिए भी उन्होंने एक यादगार पारी खेली है, जब उन्हें नंबर 6 पर प्रमोट किया गया था. उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 20 गेंदों में 39 रन बनाए थे. लोकेंद्र चाहर ने आगे कहा, “जहां तक उसकी गेंदबाजी की बात है तो दीपक काफी धीमी गति से गेंदबाजी कर रहे हैं और 140 के पार पहुंच सकते हैं."

    यह भी पढ़ें:

    IND vs SL: वेंकटेश प्रसाद का खुलासा, कद की वजह से ग्रेग चैपल ने दीपक चाहर को कर दिया था रिजेक्ट

    IND vs ENG: हसीब हमीद ने डेब्यू टेस्ट में भारत के खिलाफ ठोका था शानदार पचासा, 5 साल बाद हुई वापसी

    लोकेंद्र कहते हैं, “दीपक अपने शरीर और सीमाओं को समझता है. अगर आप 140 किमी/घंटा से अधिक की गति से गेंदबाजी करते हैं तो एक दिन में 13-14 ओवर फेंक सकते हैं. लेकिन अगर उन्होंने लंबे स्पैल गेंदबाजी करने पर काम किया, तो वह 130 किमी/घंटा वाला गेंदबाज होगा. अगर वह इससे तेज गेंदबाजी करता है तो उसे और ताकत की जरूरत होगी. घायल होने की आशंका अधिक है.''

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.