धोनी : आखिरी एक साल में सचिन-सहवाग-युवराज से ज्यादा औसत, फिर क्यों लें संन्यास

कम ही लोग उस सच से अनजान हैं जो बताता है कि किसी के पास धोनी के संन्यास का कोई आधार ही नहीं है. अगर धोनी के पिछले एक साल का प्रदर्शन देखें तो पता चलेगा कि उनका प्रदर्शन ऐसा नहीं है जिसे देखकर उनके संन्यास की बात की जाए.

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 2:06 PM IST
धोनी : आखिरी एक साल में सचिन-सहवाग-युवराज से ज्यादा औसत, फिर क्यों लें संन्यास
महेंद्र सिंह धोनी. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 2:06 PM IST
वर्ल्ड कप 2019 के विजेता का फैसला हो चुका है. फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ सुपरओवर में जीत दर्ज कर इंग्‍लैंड ने अपना पहला वर्ल्ड कप जीत लिया है. जहां तक भारतीय टीम की बात है तो वर्ल्ड कप में उसका सफर सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ सका. सेमीफाइनल में उसे न्यूजीलैंड ने 18 रन से हराकर खिताब की रेस से बाहर कर दिया था.

वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की सेमीफाइनल से विदाई के बाद हार का ठीकरा पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के धीमे खेल पर भी फोड़ा गया. यहां तक कि उनके संन्यास को लेकर हर रोज एक नई खबर भी देखने को मिली. माना जा रहा है कि धोनी जल्द ही किसी भी दिन संन्यास का ऐलान कर सकते हैं.

यहां सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या वर्ल्ड कप से भारतीय टीम की विदाई के लिए सिर्फ एक खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ही जिम्मेदार है. क्या बाकी खिलाड़ियों पर हार की जिम्मेदारी नहीं है. और अगर हार के लिए सिर्फ धोनी जिम्मेदार नहीं हैं तो फिर उनके संन्यास को लेकर इतनी हायतौबा क्यों मचाई जा रही है.

भले ही वर्ल्ड कप में हार के बाद धोनी के संन्यास को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है और हर कोई इस बहस में शामिल होता दिख रहा है, लेकिन कम ही लोग उस सच से अनजान हैं जो बताता है कि किसी के पास धोनी के संन्यास का कोई आधार ही नहीं है. अगर धोनी के पिछले एक साल का प्रदर्शन देखें तो पता चलेगा कि उनका प्रदर्शन ऐसा नहीं है जिसे देखकर उनके संन्यास की बात की जाए. यहां तक कि धोनी का पिछले एक साल का प्रदर्शन हालिया वर्षों में भारतीय टीम को अलविदा कहने वाले बड़े-बड़े दिग्गजों से कहीं बेहतर है. इनमें सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग जैसे खिलाड़ी भी शामिल हैं.

cricket, mahendra singh dhoni, dhoni retirement news, indian cricket team, bcci, dhoni retirement, dhoni records, sachin tendulkar, virendra sehwag, क्रिकेट, महेंद्र सिंह धोनी, धोनी संन्यास न्यूज, धोनी रिकॉर्ड, धोनी आईपीएल, धोनी संन्यास, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई,
महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास को लेकर रोज नई खबर आ रही है. (फाइल फोटो)


पिछले एक साल में धोनी का प्रदर्शन
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने पिछले एक साल में अच्छा प्रदर्शन किया है. इस दौरान धोनी ने 30 मैचों में 769 रन बनाए हैं, जिसमें सर्वाधिक स्कोर नाबाद 87 रन है. धोनी का औसत 42.72 का रहा. मध्य और निचले क्रम के बल्लेबाज के लिए यह औसत काफी अच्छा माना जाता है क्योंकि उनके पास खेलने के लिए अधिक गेंदें नहीं रहती हैं. इस दौरान धोनी ने विकेटकीपर के तौर पर 21 कैच और 16 स्टंप भी किए.
Loading...

cricket, mahendra singh dhoni, dhoni retirement news, indian cricket team, bcci, dhoni retirement, dhoni records, sachin tendulkar, virendra sehwag, क्रिकेट, महेंद्र सिंह धोनी, धोनी संन्यास न्यूज, धोनी रिकॉर्ड, धोनी आईपीएल, धोनी संन्यास, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई,
सचिन तेंदुलकर का वनडे क्रिकेट में आखिरी एक साल का प्रदर्शन बेहद खराब रहा था. (फाइल फोटो)


इस मामले में सचिन भी नहीं टिकते माही के आगे

सचिन तेंदुलकर ने अपना आखिरी वनडे 18 मार्च 2012 को ढाका में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था. इस मैच में उन्होंने 48 गेंद पर 52 रन बनाए थे, जिसमें 5 चौके व 1 छक्का भी शामिल रहा. आखिरी वनडे से लेकर पिछले एक साल यानी 18 मार्च 2011 से लेकर 18 मार्च 2012 तक सचिन ने कुल 14 वनडे खेले. इस दौरान उन्होंने 33.78 की औसत से 473 रन बनाए. एक शतक 114 रन भी उनके बल्ले से निकला.

cricket, mahendra singh dhoni, dhoni retirement news, indian cricket team, bcci, dhoni retirement, dhoni records, sachin tendulkar, virendra sehwag, क्रिकेट, महेंद्र सिंह धोनी, धोनी संन्यास न्यूज, धोनी रिकॉर्ड, धोनी आईपीएल, धोनी संन्यास, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई,
वीरेंद्र सहवाग का आखिरी एक साल का वनडे औसत महज 22 ही रहा था. (फाइल फोटो)


सहवाग से कोसो आगे धोनी
टीम इंडिया के विस्फोटक ओपनर रहे वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर का आखिरी वनडे 3 जनवरी 2013 को पाकिस्तान के खिलाफ कोलकाता में खेला था. इस मैच में उन्होंने 43 गेंद पर 31 रन की पारी खेली. मगर सहवाग का खेल आंखों और हाथों के तालमेल से बेहतर बनता था. अपने करियर के आखिरी दिनों में ये तालमेल कम होता गया. यही वजह रही कि सहवाग ने अपने करियर के आखिरी एक साल में 11 वनडे खेलकर महज 248 रन ही बनाए. इस दौरान उनका औसत बेहद कम 22.54 का रहा. उनका सर्वाधिक स्कोर 96 रन रहा. इस अवधि में सहवाग ने चार विकेट भी लिए.

cricket, mahendra singh dhoni, dhoni retirement news, indian cricket team, bcci, dhoni retirement, dhoni records, sachin tendulkar, virendra sehwag, क्रिकेट, महेंद्र सिंह धोनी, धोनी संन्यास न्यूज, धोनी रिकॉर्ड, धोनी आईपीएल, धोनी संन्यास, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई,
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने अपने करियर के आखिरी दिनों में 44 की औसत से रन बनाए थे. (फाइल फोटो)


...सिर्फ गांगुली रहे धोनी के करीब
अपने करियर के आखिरी दिनों में टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तानों में से एक सौरव गांगुली को भी काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. लेकिन आंकड़े देखें तो गांगुली का आखिरी एक साल का प्रदर्शन इतना खराब नहीं रहा. उन्होंने अपना आखिरी वनडे 15 नवंबर 2007 को पाकिस्तान के खिलाफ ग्वालियर में खेला था. इस मैच में वे महज 5 रनों पर आउट हो गए. हालांकि इस आखिरी वनडे से पहले एक साल में गांगुली का प्रदर्शन संतोषजक रहा. उन्होंने इस दौरान 32 वनडे खेलकर 1240 रन बनाए, जिनमें सर्वाधिक स्कोर 98 रन था. गांगुली का औसत इस अवधि में उनके करियर औसत 41.02 से ज्यादा 44.28 रहा. इन 32 मैचों में उन्होंने 7 विकेट भी चटकाए.

cricket, mahendra singh dhoni, dhoni retirement news, indian cricket team, bcci, dhoni retirement, dhoni records, sachin tendulkar, virendra sehwag, क्रिकेट, महेंद्र सिंह धोनी, धोनी संन्यास न्यूज, धोनी रिकॉर्ड, धोनी आईपीएल, धोनी संन्यास, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई,

युवराज भी धोनी से पीछे

हाल ही में अंतरराष्ट्रीय ‌क्रिकेट को अलविदा कहने वाले युवराज सिंह का पिछले एक साल का प्रदर्शन भी औसत रहा. उन्होंने अपना आखिरी वनडे 30 जून 2017 को खेला था. इससे पहले एक साल में उन्होंने 11 वनडे खेलकर 372 रन बनाए, जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 150 रन रहा. उनका औसत 41.33 का रहा.

धोनी अभी नहीं लेंगे संन्यास, ये काम पूरा करके ही क्रिकेट को कहेंगे अलविदा

टीम इंडिया की बागडोर संभालने के लिए कोच में होनी चाहिए ये तीन खूबियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 1:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...