Home /News /sports /

T20 World Cup: डेवॉन कॉनवे का टैलेंट नहीं पहचान सका दक्षिण अफ्रीका, घर-गाड़ी बेचकर न्यूजीलैंड में बसे

T20 World Cup: डेवॉन कॉनवे का टैलेंट नहीं पहचान सका दक्षिण अफ्रीका, घर-गाड़ी बेचकर न्यूजीलैंड में बसे

T20 World Cup: दक्षिण अफ्रीका में जन्मे डेवॉन कॉनवे न्यूजीलैंड के लिए खेलते हैं. (AFP)

T20 World Cup: दक्षिण अफ्रीका में जन्मे डेवॉन कॉनवे न्यूजीलैंड के लिए खेलते हैं. (AFP)

T20 World Cup : डेवॉन कॉनवे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की लिस्ट का वह नाम है, जो दक्षिण अफ्रीका छोड़कर किसी और देश के लिए क्रिकेट खेल रहा है. कॉनवे (Devon Conway) ने न्यूजीलैंड की ओर से खेलते हुए कुछ दिन पहले अपने डेब्यू टेस्ट में ही शतक लगाया था. आज वे न्यूजीलैंड के लिए टी20 वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. डेवॉन कॉनवे टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) में न्यूजीलैंड के लिए बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ शानदार 46 रन बनाए. डेवॉन कॉनवे (Devon Conway) जब क्रिकेट के सबसे बड़े मंच पर यूं शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं तो दक्षिण अफ्रीका के प्रशंसकों को कहीं ना कहीं एक टीस जरूर उठ रही होगी. कम लोगों को ही पता होगा कि डेवॉन कॉनवे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की लिस्ट का वह नाम है, जो दक्षिण अफ्रीका छोड़कर किसी और देश के लिए क्रिकेट खेल रहा है. जोहानेसबर्ग में जन्मे कॉनवे ने न्यूजीलैंड की ओर से खेलते हुए कुछ दिन पहले अपने डेब्यू टेस्ट में ही शतक लगाया था. तब उन्होंने बतौर डेब्यूटेंट लॉर्ड्स में सबसे बड़ी पारी (200) खेलने का रिकॉर्ड बनाया था. उन्होंने सौरव गांगुली का रिकॉर्ड तोड़ा था.

    न्यूजीलैंड को कॉनवे के रूप में मिला धाकड़ ओपनर
    डेवॉन कॉनवे का जन्म दक्षिण अफ्रीका की राजधानी जोहान्सबर्ग में साल 1991 में हुआ था. 20 साल की उम्र में कॉनवे दक्षिण अफ्रीका में फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था. लेकिन इस खिलाड़ी को अपनी पहचान में 11 साल लग गए. क्रिकेट में करियर बनाने के लिए कॉनवे काफी मुश्किलों से गुजरे और उन्हें अपने देश भी छोड़ना पड़ा. कॉनवे ने साउथ अफ्रीका में दूसरे लेवल का घरेलू क्रिकेट खेला था लेकिन उन्हें वहां ज्यादा मौके नहीं मिले. इसके बाद उन्होंने न्यूजीलैंड बसने का फैसला किया. 29 साल के इस खिलाड़ी ने न्यूजीलैंड में करियर बनाने के लिए सितंबर 2017 में दक्षिण अफ्रीका छोड़ दिया था.

    संपत्ति बेचकर दक्षिण अफ्रीका से न्यूजीलैंड पहुंचे कॉनवे
    कॉनवे ने ईएसपीएनक्रिकइंफो को दिए इंटरव्यू में बताया था कि दक्षिण अफ्रीका में प्रांतीय क्रिकेट कॉनवे अवसरों की कमी से निराश थे. उन्होंने फ्रैंचाइजी क्रिकेट में बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था, लेकिन अवसर भी काफी कम थे. वहां उन्हें वनडे, टी20 और फर्स्ट क्लास में अलग-अलग नंबरों पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला जिससे उनके प्रदर्शन में स्थिरता नहीं आ पाई. इन बातों ने कॉनवे को कहीं और देखने के लिए मजबूर किया. अपने दोस्तों की सलाह पर कॉनवे न्यूजीलैंड चले आएं. कॉनवे ने न्यूजीलैंड जाने के लिए सब कुछ बेच दिया. कॉनवे ने एक इंटरव्यू में कहा था, मैंने अपनी संपत्ति, कार और वह सब कुछ बेच दिया जो हम नहीं ला सके, क्योंकि मैं उस अध्याय को बंद करना और नए सिरे से शुरू करना चाहता था.

    टी20 में मचाया धमाल
    न्यूजीलैंड आते ही इस बल्लेबाज का गजब का प्रदर्शन किया. वेलिंगटन के लिए 17 फर्स्ट क्लास मैचों में कॉनवे ने 1598 रन ठोक दिये. कॉनवे का औसत 72 से ज्यादा का रहा. इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. कॉनवे को अगस्त 2020 में न्यूजीलैंड की राष्ट्रीय टीम से खेलने के लिए बुलावा मिला. वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टी20 मैच में ही तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए कॉनवे ने 29 गेंदों में पांच चौक और एक छक्के की मदद से 41 रनों की पारी खेली. इस बल्लेबाज ने 14 टी20 इंटरनेशनल में 59.12 की औसत से 473 रन बनाए हैं. कॉनवे ने चार अर्धशतक जड़ा है और उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 99 है.

    यह भी पढ़ें:

    भारत में बुरी तरह डर गए थे डेविड वॉर्नर, कहा-अंतिम संस्कार के लिए लाइन में खड़े थे लोग

    WTC में एक फाइनल से सहमत नहीं रवि शास्त्री, कहा- 3 मैच होने चाहिए

    कॉनवे न्यूजीलैंड की ओर से टी20 क्रिकेट में लगातार पांच अर्धशतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज हैं. उनके इसी प्रदर्शन के चलते मार्च 2021 में वनडे डेब्यू का मौका मिला. डेब्यू वनडे में 27 रन बनाने वाले कॉनवे ने दूसरे वनडे में 72 और तीसरे वनडे में 126 रनों की पारी खेली. वनडे में उनका औसत 75 का है.

    Tags: Cricket news, Cricket South Africa, Devon Conway, England vs new zealand, New Zealand, T20 WC, T20 World Cup

    अगली ख़बर