दिनेश कार्तिक बोले-130 करोड़ में सिर्फ 302 लोगों को मिला टेस्ट में मौका, मैं भाग्यशाली हूं

दिनेश कार्तिक ने टीम इंडिया में खेलने की उम्मीदें नहीं छोड़ी है (PTI)

दिनेश कार्तिक ने टीम इंडिया में खेलने की उम्मीदें नहीं छोड़ी है (PTI)

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और दिनेश कार्तिक ने साल 2004 में ही भारत के लिए डेब्यू किया था. कार्तिक को लगातार हर फार्मेट में मौके नहीं मिले. पिछले 17 सालों में कार्तिक ने 152 मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिनेश कार्तिक भारत के सबसे प्रतिभाशाली विकेटकीपर बल्लेबाजों में से एक हैं. कार्तिक ने साल 2004 से 2018 के बीच टीम इंडिया की तरफ से 26 टेस्ट में मैच खेले हैं. कार्तिक को भले ही अपने 17 सालों के इंटरनेशनल करियर में इतने कम टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला लेकिन वह खुश हैं. कार्तिक का कहना है कि भारत की तरफ से टेस्ट मैच खेलने का सम्मान बहुत कम लोगों को मिला और उनके लिए यह बड़ी उपलब्धि है. कार्तिक ने साल 2004 में मुंबई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया था और 2018 में लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला. इस बल्लेबाज ने 26 टेस्ट में करीब 25 की औसत से एक शतक की बदौलत 1025 रन बनाए हैं.

कार्तिक ने अपने टेस्ट करियर के सफर पर क्रिकेटनेक्स्ट से बातचीत की. उन्होंने कहा, "मैं भाग्यशाली हूं कि 130 करोड़ लोगों के देश में केवल 302 टेस्ट क्रिकेटरों में से एक हूं." उन्होंने 152 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है. टेस्ट के अलावा कार्तिक ने 94 वनडे और 32 टी20 मैचों में हिस्सा लिया है. आखिरी बार कार्तिक भारत की तरफ से वर्ल्ड कप सेमीफाइनल 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले थे.

150 से ज्यादा मैच खेलकर खुश हैं कार्तिक

कार्तिक ने कहा, "मेरा करियर जिस तरह से आगे बढ़ा, उससे मैं बहुत खुश हूं. मैं हमेशा से ऐसा व्यक्ति रहा हूं जो बहुत संतुष्ट रहता है. मैंने इस खेल का काफी आनंद उठाया है क्योंकि भारत में जहां की आबादी करोड़ों में है, वहां सिर्फ 302 लोगों ने देश के लिए टेस्ट खेला है. और इसका हिस्सा बनना वाकई कुछ खास है. मैं सच में खुश हूं. क्रिकेट खेलकर खुश होने के लिए बहुत सी चीजें हैं. अपने करियर की शुरुआत में मैं केवल अपने देश के लिए एक मैच खेलना चाहता था. कुल मिलाकर 150 से अधिक मैच खेलकर मैं बहुत खुश हूं. इंडिया ब्लूज पहने हुए मेरे लिए यह एक शानदार यात्रा रही है."
धोनी से पहले भारत के लिए किया था डेब्यू

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और कार्तिक ने साल 2004 में ही भारत के लिए डेब्यू किया था. कार्तिक को लगातार हर फार्मेट में मौके नहीं मिले. इसके बावजूद कार्तिक इस मुद्दे पर ज्यादा नहीं सोचते. उनका कहना है कि देश के लिए खेलने के जो भी मौके मिले उसके लिए वह आभारी हैं.

कार्तिक ने आगे बताया, “जैसा कि मैंने कहा, 15-16 वर्षों के लंबे सफर में मेरे पास अपने बारे में खुश होने के कई कारण हैं. मैंने वह सब कुछ किया जो मैं कर सकता था, कभी-कभी ये चीजें काम करती हैं, कभी-कभी वे नहीं करतीं. महत्वपूर्ण बात यह है कि जब आप अपने बिस्तर पर लेटते हैं, तो आपको यह जानकर अच्छी नींद आनी चाहिए कि आपने इसे सब कुछ दिया है. और मैं गर्व से कह सकता हूं कि मैंने निश्चित रूप से ऐसा किया है.”



यह भी पढ़ें:

ENG vs NZ: 9 ओवर में दिए 8 रन, विलियमसन सहित 6 विकेट भी लिए, अब हो सकता है टीम से बाहर

इयान चैपल ने कहा- आर अश्विन सर्वश्रेष्ठ टेस्ट गेंदबाजों में से एक, मांजरेकर ने उठा दिए सवाल

टी20 वर्ल्ड कप खेलना चाहते हैं कार्तिक

कार्तिक को उम्मीद है कि वह 2021 और 2022 में होने वाले टी 20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में वापसी कर सकते हैं. कार्तिक कहा, "वे उम्र नहीं बल्कि यह देखते हैं कि आप कितने फिट हैं. यदि आप फिटनेस टेस्ट पास कर लेते हैं तो इसका मतलब है कि आप देश के लिए खेल सकते हैं. मेरा लक्ष्य टी20 वर्ल्ड कप में देश के लिए खेलना है. इस साल और अगले साल बैक-टू-बैक टी 20 विश्व कप हैं और मैं इसका हिस्सा बनने के लिए जो कुछ भी कर सकता हूं वह कर रहा हूं."

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज