लाइव टीवी

खेत में मजदूरी कर पिता ने बनाया क्रिकेटर, डेब्यू मैच में ही दिखाया जलवा, धोनी से है ये 'रिश्ता'

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 12:13 PM IST
खेत में मजदूरी कर पिता ने बनाया क्रिकेटर, डेब्यू मैच में ही दिखाया जलवा, धोनी से है ये 'रिश्ता'
दिनेश मोर ने किया रेलवे के लिए रणजी ट्रॉफी में डेब्यू

दिनेश मोर (Dinesh Mor) ने रेलवे के लिए रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) में किया डेब्यू, पहली ही पारी में ठोके नाबाद 91 रन.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 12:13 PM IST
  • Share this:
मेरठ. रणजी ट्रॉफी का नया सीजन हो चुका है और इसके साथ ही क्रिकेट फैंस को एक और नया स्टार मिल चुका है. इस खिलाड़ी का नाम है दिनेश मोर (Dinesh Mor), जिन्होंने रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) में रेलवे के लिए डेब्यू किया है. दिल्ली के छावला में रहने वाले दिनेश मोर ने अपनी पहली ही रणजी ट्रॉफी पारी में शानदार नाबाद 91 रन बनाए. दिनेश मोर ने यूपी के खिलाफ मेरठ के विक्टोरिया पार्क स्टेडियम में मुश्किल में फंसी रेलवे की टीम को 253 रनों के स्कोर तक पहुंचाया. दिनेश मोर अपने शतक से चूक गए क्योंकि उनकी टीम ऑल आउट हो गई.

दिनेश मोर का धोनी कनेक्शन
आइए अब आपको बताते हैं कि दिनेश मोर (Dinesh Mor) के बारे में कुछ ऐसी बातें जो उन्हें स्पेशल बनाती हैं. दिनेश मोर और धोनी के बीच एक खास कनेक्शन है. दरअसल इन दोनों खिलाड़ियों का कोई रिश्ता नहीं, लेकिन दिनेश मोर की क्रिकेट यात्रा धोनी से काफी मिलती जुलती है.

दिनेश मोर ने रेलवे के लिए पहली पारी में नाबाद 91 रन ठोके


दिनेश मोर धोनी की ही तरह एक विकेटकीपर बल्लेबाज हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक दिनेश फिलहाल रेलवे में नौकरी करते हैं और वो टिकट कलेक्टर हैं. बता दें धोनी ने भी क्रिकेट की दुनिया में छाने से पहले टिकट कलेक्टर की नौकरी की थी. दिनेश मोर का रेलवे टीम से जुड़ना भी दिलचस्प है. दरअसल दिनेश पहले दिल्ली की रणजी टीम में जगह पाने की कोशिश कर रहे थे. वो पिछले दो सीजन से अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन दोनों बार उन्हें टीम में जगह नहीं मिली. दिनेश ने दिल्ली के लिए अंडर 16 में अच्छा प्रदर्शन किया था और उसके बाद अंडर 19 टीम में भी उनका सेलेक्शन नहीं हुआ. इसके बाद दिनेश ने रेलवे के साथ अपना लक आजमाया

इस विकेटकीपर-बल्लेबाज ने रेलवे की अंडर 23 टीम में जगह बनाई और ट्रायल्स के दौरान सेलेक्टर्स को प्रभावित किया. दिनेश मोर को रेलवे ने स्पोर्ट्स कोटा के तहत टिकट चेकर की नौकरी दी और अब उन्होंने रणजी ट्रॉफी में डेब्यू भी कर लिया है.

दिनेश मोर को नहीं मिली थी दिल्ली रणजी टीम में जगह
मुश्किल में फंसी टीम को बचाने में माहिर दिनेश
दिनेश मोर (Dinesh Mor) को धोनी की ही तरह मुश्किल में फंसी टीम को बचाने के लिए जाना जाता है. सोमवार को रणजी ट्रॉफी के अपने डेब्यू मैच में यूपी के तेज गेंदबाजों ने हरी पिच पर दिनेश मोर की खूब परीक्षा ली. रेलवे की टीम ने महज 36 रन पर 3 विकेट गंवा दिये थे, लेकिन इसके बाद दिनेश ने अपने बैटिंग पार्टनर नवनीत विर्क के साथ 83 रनों की साझेदारी कर टीम को मुश्किल से बाहर निकाला. नवनीत विर्क ने भी अपने डेब्यू मैच में 58 रन बनाए.

दिनेश को कई गेंदें पेट में लगीं. उनकी आंख के पास भी हल्की चोट लगी लेकिन ये बल्लेबाज घबराया नहीं और विकेट पर डटा रहा. दिनेश ने जबर्दस्त अंदाज में 91 रनों की नाबाद पारी खेल अपना लोहा मनवाया. ऐसा पहली बार नहीं है कि दिनेश ने टीम को मुश्किल से उबारा हो. दिनेश अंडर 16 क्रिकेट से ही ऐसी कई पारियां खेल चुके हैं. अंडर 23 सीके नायडू ट्रॉफी के सेमीफाइनल मैच में भी इस बल्लेबाज ने मुंबई के खिलाफ नंबर 7 पर आकर नाबाद 152 रन बनाए थे. रेलवे इस मैच को जीत फाइनल में पहुंचा था.

दिनेश मोर विकेटकीपिंग करते हैं.


गरीब परिवार से हैं दिनेश मोर
बता दें दिनेश मोर (Dinesh Mor) बेहद ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं. दिनेश के पिता जगबीर ने खेतों में मजदूरी तक की है. वो ट्रक में बिल्डिंग मैटिरियल की ढुलाई करते हैं और इसी से हुई आमदनी से उन्होंने अपने बेटे को क्रिकेटर बनाया. बता दें दिनेश के भाई संदीप भी क्रिकेटर हैं जो दिल्ली रणजी ट्रॉफी में जगह बनाने की कोशिश कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें :- पाकिस्‍तानी क्रिकेटर ने कोर्ट में मानी फिक्सिंग की बात, जल्‍द होगा सजा का ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 11:37 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर