क्रिकेट के इतिहास में बेहद खास है 14 अगस्त की तारीख, दो दिग्गजों से जुड़ी है वजह

क्रिकेट के इतिहास में बेहद खास है 14 अगस्त की तारीख, दो दिग्गजों से जुड़ी है वजह
सचिन तेंदुलकर और डॉन ब्रैडमैन क्रिकेट के बड़े दिग्गजों में शामिल है

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और डॉन ब्रैडमैन (Don Bradman) की जिंदगी में 14 अगस्त की तारीख काफी अहम है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 9:13 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. क्रिकेट के इतिहास में पूर्व भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज डॉन ब्रैडमैन (Don Bradman) को सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में शामिल किया जाता है. इन दोनों ही बल्लेबाजों ने ऐसे रिकॉर्ड कायम किए जिसे तोड़ना किसी के लिए आसान नहीं है. खास बात यह है कि इन दोनों ही बल्लेबाजों की जिंदगी में या यूं कहे करियर में 14 अगस्त बेहद अहम तारीख है. यह तारीख सिर्फ सचिन औऱ ब्रैडमैन ही नहीं खेल के इतिहास में भी अपनी खास जगह रखती है. इस दिन जहां एक तरफ ब्रैडमैन ने अपनी आखिरी पारी खेली वहीं दूसरी तरफ सचिन ने शतकीय सफर की शुरुआत की.

14 अगस्त 1948 में शून्य पर आउट हुए थे ब्रैडमैन
1948 में 14 अगस्त को ही ऑस्ट्रेलिया के सर डॉन ब्रैडमैन ने अपने आखिरी टेस्ट की आखिरी पारी खेली थी. लंदन के ओवल में हुए इस मैच में इंग्लैंड के कप्तान नॉर्मन यार्डली ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया. अगर ब्रैडमैन इस पारी में केवल 4 रन बना लेते तो वे अपने करियर को 100 की औसत पर खत्म करते. हालांकि ऐसा हो नहीं सका. ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड की पहली पारी केवल 52 रन पर समेट दी. इसमें सर लियोनार्ड ह्यूटन ने सबसे ज्यादा 30 रन बनाए. इसके जवाब में पहली पारी में ब्रैडमैन मैदान पर उतरे. होलीज की गेंद पर शून्य पर बोल्ड हो गए. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने का मौका ही नहीं मिला क्योंकि इंग्लैंड को इस मैच में पारी की हार का सामना करना पड़ा.
सचिन का पहला शतक
सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर में 100 शतक लगाए थे. इन 100 शतकों की शुरुआत भी 14 अगस्त को ही हुई थी. सचिन ने 1990 में इसी तारीख को अपने करियर का पहला शतक जड़ा था.



बैडमिंटन खिलाड़ी एन सिक्की रेड्डी समेत 2 को हुआ कोरोना, पीवी सिंधु पर भी खतरा
2018 में जब भारत की जीत से शुरू हुई थी सेपक टकरा चर्चा, जानिए क्या है यह खेल

आजादी के दिन से एक दिन पहले अपनी इस पारी से देश पर 200 साल तक राज करने वाले इंग्लैंड के मुंह से जीत छीन लाए थे. यह सचिन का नौवां टेस्ट मैच था और इसमें उन्होंने नाबाद 119 रन बनाए थे जिसमें 14 चौके भी शामिल थे.. इस मैच की खास बात ये थी कि इसमें वे अपने आदर्श सुनील गावस्कर के पैड पहनकर खेल रहे थे. इसी के बाद सचिन ने टेस्ट में 51 शतक लगाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज