विराट या रोहित, कौन हो टी20 का कप्तान? जानें वीवीएस लक्ष्मण की राय

टी20 कप्तानी को लेकर दिग्गज अलग-अलग राय दे रहे हैं.

टी20 कप्तानी को लेकर दिग्गज अलग-अलग राय दे रहे हैं.

दूसरी तरफ गेंदबाजों का सही इस्तेमाल ना कर पाने और टीम में लगातार बदलाव को लेकर विराट कोहली को कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी है. कोहली की आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर भी अब तक टाइटल जीत पाने में असफल रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2020, 12:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) की सीमित ओवरों की कप्तानी को लेकर काफी बहस हो रही है. मौजूदा कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी पर सवाल उठ रहे हैं. रोहित शर्मा (Rohit Sharma) आईपीएल (IPL) में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को खिताब जितवा कर कप्तानी में भी वाहवाही लूट रहे हैं. रोहित के नेतृत्व में मुंबई ने आईपीएल के इतिहास में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के बाद दूसरी ऐसी टीम बनने का गौरव पाया, जो पिछले साल जीते अपने खिताब का बचाव कर पाई. यही नहीं, विराट कोहली की अनुपस्थिति में रोहित को जब भी टीम इंडिया की कप्तानी का अवसर मिला है, उनका नेतृत्व कौशल सामने आया है.

वहीं, दूसरी तरफ गेंदबाजों का सही इस्तेमाल ना कर पाने और टीम में लगातार बदलाव को लेकर कोहली को कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी है. कोहली की आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर भी अब तक टाइटल जीत पाने में असफल रही है. हालांकि, जब वीवीएस लक्ष्मण से कोहली और रोहित की कप्तानी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ''इसमें कोई संदेह नहीं है कि रोहित शानदार कप्तान हैं. कोहली की अनुपस्थिति में जब भी उन्होंने टीम इंडिया की कप्तानी संभाली सफलता हासिल की. अपनी टीम को पांच बार खिताब जितवाना आसान नहीं है. उन्होंने अच्छी टीम बनाई और कठिन परिस्थितियों में धैर्य बनाए रखा. रोहित में एक अच्छे कप्तान के सभी गुण हैं. विराट भी अद्भुत सफल कप्तान हैं. लिहाजा मुझे टीम की कप्तानी को बदलने का कोई औचित्य नहीं दिखाई देता.''

INDvsAUS: श्रेयस अय्यर हुए ड्रॉप तो मोहम्मद कैफ ने साधा विराट-शास्त्री पर निशाना

वीवीएस लक्ष्मण विजय लोकपाली और जी कृष्णन की किताब 'दि हिटमैनः द रोहित शर्मा स्टोरी' के वर्चुअल लॉन्च के मौके पर बोल रहे थे. लक्ष्मण ने रोहित के टेस्ट करियर की अपने करियर से तुलना की. लक्ष्मण ने 56 अर्द्धशतकों और 17 शतकों के साथ टेस्ट में 8781 रन बनाए हैं. उन्होंने कहा, ''रोहित का करियर मुझे अपने करियर की याद दिलाता है. मेरा बल्लेबाजी क्रम भी कई बार बदला गया. टेस्ट में पारी की शुरुआत करना, अच्छी गेंदबाजी के सामने आसान नहीं होता, लेकिन एक बार जमने के बाद वह गेंदबाजों पर दबाव बना सकता है.''
India Tour of Australia:ऑस्ट्रेलिया में अजिंक्य रहाणे का धमाकेदार शतक, पुजारा ने भी लगाई हाफ सेंचुरी

लक्ष्मण ने कहा, ''लेकिन रोहित चोटों से परेशान रहे हैं. वह बेहद प्रतिभाशाली हैं, उन्हें टेस्ट मैच खिलाड़ी के रूप में भी सफलता मिलेगी. पहली बार मैंने उन्हें 2005 में केएससीए टूर्नामेंट में खेलते देखा था. उन्होंने तेज गेंदबाजों के सामने काफी समय बिताया, लेकिन स्पिनरों के सामने वे संघर्ष करते दिखाई दिए. एक साल बाद मैंने उन्हें दोबारा देखा, वह नंबर 6 पर खेलते हुए आसानी से चौके लगा रहे थे. वह पूरे गेम का मूमेंटम बदल रहे थे. मैं जानता था कि रोहित में कुछ खास करने की क्षमता है. हमें टेस्ट में भी दोहरा शतक बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ता है और रोहित ने वनडे में तीन दोहरे शतक लगाए हैं."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज