Home /News /sports /

ये भारतीय था वीरेंद्र सहवाग से भी तूफानी बल्लेबाज, सिर्फ 330 मिनट में ठोक डाले 333 रन!

ये भारतीय था वीरेंद्र सहवाग से भी तूफानी बल्लेबाज, सिर्फ 330 मिनट में ठोक डाले 333 रन!

वीरेंद्र सहवाग की कहानी काफी दिलचस्‍प है. वो पहले 44 नंबर की जर्सी पहनते थे. बाद में उन्‍होंने ज्‍योतिषी के कहने पर 46 नंबर की जर्सी पहनी शुरू की, मगर वो उनके लिए लकी साबित नहीं हुआ और फिर उन्‍होंने बिना की जर्सी पहनने का ही फैसला लिया.

वीरेंद्र सहवाग की कहानी काफी दिलचस्‍प है. वो पहले 44 नंबर की जर्सी पहनते थे. बाद में उन्‍होंने ज्‍योतिषी के कहने पर 46 नंबर की जर्सी पहनी शुरू की, मगर वो उनके लिए लकी साबित नहीं हुआ और फिर उन्‍होंने बिना की जर्सी पहनने का ही फैसला लिया.

आज ही के दिन दलीप सिंह (Duleepsinhji) ने खेली थी चमत्कारी पारी, 33 चौके और एक छक्के की मदद से ठोके थे 333 रन

    नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट इतिहास में सबसे तूफानी बल्लेबाजों की बात की जाए तो वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) उस लिस्ट में सबसे ऊपर माने जाते हैं. इस पूर्व भारतीय ओपनर ने एक नहीं दो बार तिहरे शतक लगाए हैं, वो भी धमाकेदार स्ट्राइक रेट के साथ. लेकिन बता दें हिंदुस्तान में एक हीरा ऐसा भी जन्मा था जो सहवाग से भी तूफानी पारी खेलता था. उसने तो एक ही दिन में 333 रन ठोक डाले थे. बात हो रही है दलीप सिंह जी की जिन्होंने आज ही के दिन तूफानी तिहरा शतक लगाकर पूरी दुनिया में हलचल मचा दी थी.

    कौन थे दलीप सिंह?
    दलीप सिंह (Duleepsinhji) वो महान क्रिकेटर हैं जिनके सम्मान में भारत में आज दलीप ट्रॉफी खेली जाती है. दलीप सिंह के चाचा रणजीत सिंह थे जिनके नाम से भारत का सबसे बड़ा घरेलू टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी होती है. दलीप सिंह का जन्म 5 दिसंबर 1905 को काठियावाड़ में हुआ था. दलीप सिंह अपने चाचा रणजीत सिंह की तरह ही कमाल के बल्लेबाज थे. साल 1926 में वो रणजी की सिफारिश पर इंग्लैंड के सबसे पुराने क्लब ससेक्स के लिए खेलने गए. ये वही क्लब है जिसकी कप्तानी रणजी ने की थी.

    दलीप सिंह के नाम पर ही खेली जाती है दलीप ट्रॉफी


    दलीप सिंह (Duleepsinhji) ने ससेक्स के लिए कई ऐतिहासिक पारियां खेली और उनमें से सबसे खास पारी आज ही के दिन यानि 7 मई 1930 को होव के मैदान पर खेली गई थी. ससेक्स की ओर से खेल रहे दलीप सिंह ने नॉर्थैंट्स क्लब के गेंदबाजों की धज्जियां ही उड़ा दी. दलीप सिंह ने इस मुकाबले में महज 330 मिनट में 333 रन ठोक डाले थे. जिसमें उन्होंने 33 चौके और एक छक्का लगाया था. दिलचस्प बात ये है कि इस पिच पर ससेक्स के दूसरे बल्लेबाजों के लिए क्रीज पर टिकना भी मुश्किल हो रहा था. बॉएले और पार्क्स सिर्फ 1 और 9 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए. लेकिन तीसरे नंबर पर आए दलीप सिंह ने क्रीज पर उतरते ही विरोधी गेंदबाजों की खबर लेनी शुरू कर दी.

    दलीप सिंह (Duleepsinhji) के साथ रेगिनाल्ड पार्टरिज क्रीज पर जम गए जिन्होंने 111 रनों की पारी खेली. वहीं दलीप सिंह ने पहले शतक, फिर दोहरा शतक और जल्द ही तिहरा शतक ठोक दिया. दलीप सिंह ने महज 330 मिनट में 333 रन बनाए. जवाब में नॉर्थैंट्स की टीम पहली पारी में 187 और दूसरी पारी में 125 रनों पर सिमटी. उसकी दोनों पारियों का स्कोर भी दलीप सिंह से 21 रन कम था.

    इंग्लैंड के लिए खेला टेस्ट क्रिकेट
    दलीप सिंह (Duleepsinhji) ने इंग्लैंड के लिए ही टेस्ट क्रिकेट खेला. उन्होंने 12 टेस्ट में 58.52 के बेमिसाल औसत से 995 रन ठोके जिसमें 3 शतक और 5 अर्धशतक शामिल थे. दलीप सिंह का करियर बीमारी की वजह से जल्दी खत्म हो गए. इसके बाद वो भारत आ गए और 5 दिसंबर 1959 को मुंबई में हार्ट अटैक की वजह से उनका निधन हो गया.

    सचिन के बारे में तो खूब सुना होगा, मगर उनके मास्‍टर की कहानी जानते हैं आप?undefined

    Tags: Duleep trophy, India National Cricket Team, Sports news, Virender sehwag

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर