• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • इंग्लैंड के बोर्ड ने आईसीसी को लिखा- भारत के साथ पांचवें टेस्ट मैच का फैसला अब आप करें

इंग्लैंड के बोर्ड ने आईसीसी को लिखा- भारत के साथ पांचवें टेस्ट मैच का फैसला अब आप करें

भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का 5वां और अंतिम टेस्ट मैच रद्द होने के बाद  ईसीबी ने आईसीसी को खत लिखा है. (PIC: AP)

भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का 5वां और अंतिम टेस्ट मैच रद्द होने के बाद ईसीबी ने आईसीसी को खत लिखा है. (PIC: AP)

भारत और इंग्लैंड के बीच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में होने वाले सीरीज के अंतिम टेस्ट मैच मैच को ICC की विवाद समाधान समिति (DRC) द्वारा नियमों में कोविड-19 के कारण रद्द माना जाता है तो इससे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के अंकों में नहीं जोड़ा जाएगा. ऐसे में दोनों टीमों को कोई अंक नहीं मिलता है. इसके चलते मौजूदा सीरीज को भारत 2-1 से जीत लेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज के 5वें और अंतिम टेस्ट मैच को रद्द किए जाने को फिर आयोजित करने को लेकर प्रक्रिया शुरू हो गई है. मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में होने वाले इस टेस्ट मैच को टॉस से करीब 2 घंटे पहले रद्द कर दिया गया था. इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने इसे लेकर आईसीसी को पत्र लिखा है और त्वरित निर्णय की उम्मीद के साथ प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा है. पांचवां टेस्ट शुक्रवार (10 सितंबर) से शुरू होना था लेकिन इसे करीब 2 घंटे पहले कोरोना वायरस के डर के कारण रद्द कर दिया गया था. भारतीय टीम के हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) और सपोर्ट स्टाफ के कुछ सदस्यों के अलावा फिजियोथेरेपिस्ट योगेश परमार भी कोरोना संक्रमित पाए गए थे.

    मैच को फिर से आयोजित करने की पूरी उम्मीद है. ऐसा माना जा रहा है कि इसे अगले साल आयोजित किया जा सकता है. ईसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टॉम हैरिसन ने शुक्रवार को संकेत दिया कि अगले साल गर्मियों में इस मैच को आयोजित किया जा सकता है. यदि मैच को ICC की विवाद समाधान समिति (DRC) द्वारा नियमों में कोविड-19 के कारण रद्द माना जाता है तो इससे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के अंकों में नहीं जोड़ा जाएगा. ऐसे में दोनों टीमों को कोई अंक नहीं मिलता है. इसके चलते मौजूदा सीरीज को भारत 2-1 से जीत लेगा.

    दूसरा विकल्प यह है कि डीआरसी अगर मानता है कि भारत ने मैच को नहीं खेला यानी टीम उतारने में असफल रहा तो इस मैच को इंग्लैंड के खाते में जोड़ा जाएगा. ऐसे में सीरीज को 2-2 से बराबर माना जाएगा. इससे पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने कहा है कि इस मैच का आयोजन भविष्य में किया जा सकता है. दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड इसको लेकर बातचीत कर रहे हैं. बीसीसीआई सचिव जय शाह ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा, ‘ईसीबी और भारतीय बोर्ड रद्द किए गए सीरीज के पांचवें टेस्ट मैच को फिर से आयोजित करने की दिशा में काम करेंगे. खिलाड़ियों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं होगा.’ इस बयान में आगे कहा गया है, ‘बीसीसीआई और ईसीबी के बीच मजबूत संबंधों के कारण, भारतीय बोर्ड ने रद्द किए गए टेस्ट मैच (मैनचेस्टर में सीरीज का 5वां टेस्ट) को भविष्य में आयोजित करने की पेशकश की है.

    डब्ल्यूटीसी के तहत कुछ परिस्थितियों में मैच नहीं खेलने की अनुमति मिलती है. नियमों के अनुसार, ‘कोई भी मैच जो एक या दोनों पक्षों के स्वीकार्य कारणों से आयोजित नहीं होता है (जैसा कि विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप की शर्तों में परिभाषित किया गया है) तो ऐसे में अंक प्रतिशत की गणना में इस पर ध्यान नहीं दिया जाएगा.’ आईसीसी का निर्णय अहम रहेगा क्योंकि यह देखा जाएगा कि डीआरसी इसे कैसे देखता है. डब्ल्यूटीसी प्रतियोगिता की शर्तों में ऐसे प्रावधान भी हैं जो एक पक्ष को टेस्ट नहीं खेलने की अनुमति देते हैं, यदि कोविड-19 से एक टीम की फील्डिंग क्षमता पर असर पड़ा हो. बीसीसीआई इस बात पर अड़ा है कि ये प्रावधान इस स्थिति पर लागू होते हैं.

    हालांकि, ईसीबी चीफ टॉम हैरिसन ने शुक्रवार को स्पष्ट किया था कि घरेलू क्रिकेट बोर्ड मैनचेस्टर टेस्ट को कोविड-19 के कारण रद्द नहीं मानता है. ईसीबी के मुताबिक, भारत के 20 सदस्यीय प्लेइंग ग्रुप में कोई भी खिलाड़ी कोरोना संक्रमित नहीं था. इसका अर्थ है कि वे एक टीम को मैदान में उतार सकते थे. इसके बजाय हैरिसन ने टेस्ट रद्द करने का कारण मानसिक स्वास्थ्य और खिलाड़ियों की भलाई बताया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज