बेन स्टोक्स के भाई-बहन की हुई थी हत्या, दुनिया के सामने आया दर्दनाक सच

बेन स्टोक्स के भाई-बहन की हुई थी हत्या, दुनिया के सामने आया दर्दनाक सच
बेन स्टोक्स के भाई और बहन की हुई थी हत्या

एशेज में शानदार प्रदर्शन करने वाले इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes) के सौतेले भाई और बहन की उनके पिता ने हत्या कर दी थी, इस खबर के बाद स्टोक्स ने अखबार 'द सन' की कड़ी आलोचना की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2019, 4:59 PM IST
  • Share this:
गेंद और बल्ले से एशेज सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले इंग्लिश ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes) की जिंदगी का एक दर्दनाक सच दुनिया के सामने आया है. अंग्रेजी अखबार द सन ने दावा किया है कि 1988 में बेन स्टोक्स के जन्म से पहले उनके सौतेले भाई और बहन की हत्या कर दी गई थी. बेन स्टोक्स की मां डेब के पहली शादी से दो बच्चे थे. जिनकी उनके पहले पति ने हत्या कर दी थी. इसके बाद स्टोक्स की मां डेब ने रग्बी कोच गेरार्ड स्टोक्स से शादी की और 1991 में इंग्लैंड के ऑलराउंडर का जन्म हुआ

स्टोक्स के भाई-बहन की हुई थी निर्मम हत्या
द सन की रिपोर्ट के मुताबिक रिचर्ड डन और स्टोक्स की मां डेब का तलाक हो गया था. इसके बाद रिचर्ड डन को पता चला कि डेब रग्बी कोच गेरार्ड स्टोक्स के साथ रिलेशनशिप में है. रिचर्ड डन के पास अपने बच्चों की वीकेंड कस्टडी थी. एक दिन डन ने 8 साल की ट्रेसी और 4 साल के एंड्रयू को गोली मार दी और इसके बाद खुद भी आत्महत्या कर ली. आपको बता दें बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने कभी इस बारे में कोई जिक्र नहीं किया है.

बेन स्टोक्स ने द सन की रिपोर्ट पर नाराजगी जताई




अखबार द सन पर बिफरे स्टोक्स


द सन की इस रिपोर्ट के बाद बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने ब्रिटिश अखबार पर हमला बोला है. स्टोक्स ने इसे पत्रकारिता का सबसे खराब रूप करार दिया है.

बेन स्टोक्स ने द सन की रिपोर्ट पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की


स्टोक्स (Ben Stokes) ने ट्विटर पर लिखा, 'अपने रिपोर्टर को मेरे घर, न्यूजीलैंड में भेजकर उसे कुरेदने का काम किया गया है. मेरे नाम का इस्तेमाल करने से मेरी प्राइवेसी और साथ ही मेरे माता-पिता की प्राइवेसी पर हमला किया गया जो बिलकुल गलत है. मैं किसी को ये हक नहीं देता हूं कि मेरी प्रोफाइल से मेरे माता-पिता, पत्नी और मेरे बच्चों के अलावा मेरे पारिवारिक सदस्यों की प्राइवेसी पर हमला किया जाए. ये पत्रकारिता का सबसे खराब रूप है जो सिर्फ बेचने पर आधारित है, किसी की जिंदगी से नहीं. ये काफी गलत है.'

...तो क्रिकेट में भ्रष्टाचार रोकने के लिए सट्टेबाजी होगी वैध, बनेगा मैच फिक्सिंग कानून!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading