वर्ल्‍ड कप जीतते ही इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज ने छोड़ा इंटरनेशनल क्रिकेट

इंग्‍लैंड के वर्ल्‍ड कप जीतने के कुछ देर बाद ही इंग्लिश तेज गेंदबाज जेड डर्नबैक ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 1:50 PM IST
वर्ल्‍ड कप जीतते ही इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज ने छोड़ा इंटरनेशनल क्रिकेट
इंग्‍लैंड ने पहली बार क्रिकेट वर्ल्‍ड कप जीता है. (AP Photo)
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 1:50 PM IST
इंग्‍लैंड के क्रिकेट का वर्ल्‍ड चैंपियन बनते ही एक इंग्लिश तेज गेंदबाज ने संन्‍यास का ऐलान कर दिया. टीम की जीत के कुछ देर बाद ही तेज गेंदबाज जेड डर्नबैक ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया. उन्‍होंने सोशल मीडिया के जरिए यह यह ऐलान किया. उनका मानना है कि इंग्‍लैंड का पहली बार क्रिकेट वर्ल्‍ड कप जीतना एक अच्‍छा पल है और इसके साथ अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहना सही रहेगा. उन्‍होंने कहा, 'मुझे लगता है कि आज यह बताने का सही मौका है कि काफी सोचविचार के बाद मैं अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट से संन्‍यास ले रहा हूं. सालों तक मेरा समर्थन करने के लिए सभी का शुक्रिया लेकिन अब टीम सही जगह पर है और आगे बढ़ रही है. अब सर्रे पर ध्‍यान लगाने का समय है.'

डर्नबैक ने इंग्‍लैंड के लिए 24 वनडे और 34 टी20 मुकाबले खेले. इनमें उन्‍होंने 33 वनडे विकेट और 39 टी20 विकेट निकाले. उनकी रन देने की दर हर ओवर में 6 रन के करीब रही. इंग्‍लैंड क्रिकेट बोर्ड ने 2011-12 में उन्‍हें इंक्रीमेंट कॉन्‍ट्रेक्‍ट दिया. उस समय वे इंग्‍लैंड टीम के अहम सदस्‍य थे. वे इंग्लिश टीम के साथ भारत दौरे पर भी आए थे लेकिन यहां उन्‍हें कुछ खास कामयाबी नहीं मिली.

jade dernbach, jade dernbach retirement, jade dernbach england, cwc final, england world cup winner, जेड डर्नबैक, इंग्‍लैंड क्रिकेटर संन्‍यास, वर्ल्‍ड कप 2019
तेज गेंदबाज जेड डर्नबैक.


वे आखिरी बार इंग्‍लैंड के लिए अंतरराष्‍ट्रीय मैचों में 2014 में खेले थे. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 29 मार्च 2014 को उन्‍होंने अंतरराष्‍ट्रीय टी20 मैच खेला था.

डर्नबैक मूलत: दक्षिण अफ्रीका के हैं. उनके पिता दक्षिण अफ्रीका और मां इटैलियन मूल की हैं. साल 2000 में उनका परिवार इंग्‍लैंड आ गया था. वे बचपन में रग्‍बी खेलते थे लेकिन इंग्‍लैंड में उन्‍होंने क्रिकेट को अपना लिया. अंडर-15 लेवल क्रिकेट में वे सर्रे के साथ जुड गए. इसके बाद उन्‍होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. सर्रे के लिए अच्‍छे प्रदर्शन का उन्‍हें इनाम मिला और 2011 में इंग्‍लैंड लॉयंस टीम में चुने गए. इससे वे वर्ल्‍ड कप 2011 के लिए इंग्‍लैंड टीम में भी चुन लिए गए. हालांकि उन्‍हें खेलने का मौका नहीं मिला.

अल्लाह की वजह से जीते वर्ल्डकप: ऑयन मोर्गन

विलियमसन को पत्रकारों ने दिया स्टैंडिंग ओवेशन, जानें वजह
First published: July 15, 2019, 1:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...