डिप्रेशन में खुद का हाथ टूटने की मांग रहे थे दुआ, अब तूफानी पचासा ठोक मैक्‍सवेल ने की वापसी

डिप्रेशन में  खुद का हाथ टूटने की मांग रहे थे दुआ, अब तूफानी पचासा ठोक मैक्‍सवेल ने की वापसी
ग्‍लेन मैक्‍सवेल ने 77 रन की पारी खेली (फाइल फोटो)

ग्‍लेन मैक्‍सवेल (Glen Maxwell ) पिछले साल डिप्रेशन से जूझ रहे थे और इसी के चलते उन्‍होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ब्रेक भी ले लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2020, 10:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. ऑस्ट्रेलिया (Australia) के स्‍टार ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxewell) पिछले साल डिप्रेशन से जूझ रहे थे और इसी के चलते उन्‍होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ब्रेक भी ले लिया था. वो इतना अधिक मानसिक तौर पर परेशान हो गए थे कि पिछले साल इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप के दौरान वह कि चाहते थे कि उनका हाथ टूट जाए ताकि उन्हें खेलना न पड़े. मैक्‍सवेल ने पिछले साल 11 जुलाई को इंग्‍लैंड के खिलाफ पिछला वनडे मैच खेला था और फिर वो डिप्रेशन से खुद को बाहर निकालने में लग गए. अब मैक्‍सवेल ने सालभर बाद कोहराम मचाकर वनडे क्रिकेट में वापसी की और वो भी इंग्‍लैंड के खिलाफ.

इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच चल रही तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले मैच में मैक्‍सवेल ने 59 गेंदों पर 77 रन जडे. अपनी इस आतिशी में उन्‍होंने 4 चौके और 4 छक्‍के जड़े.

मार्श के साथ की बड़ी साझेदारी



पहले बल्‍लेबाजी करते हुए ऑस्‍ट्रेलिया ने मैक्‍सवेल और मिचेल मार्श 73 के दम पर निर्धारित ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 294 रन बनाए. एक समय ऑस्ट्रेलिया ने 23.4 ओवर के खेल में ही 123 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे. ऐसे में मैक्‍सवेल क्रीज पर आए और धारदार बल्‍लेबाजी शुरू कर दी. मैक्‍सवेल और मार्श के बीच छठे विकेट के लिए 126 रन की बड़ी साझेदारी हुई.
यह भी पढ़ें: 

Eng vs Aus: स्टीव स्मिथ के सिर पर लगी चोट, इंग्‍लैंड के खिलाफ पहले वनडे से हुए बाहर

मैच से पहले एक घुटने के बल नहीं बैठी इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया की टीम, होल्डिंग ने कह दी बड़ी बात

वर्ल्ड कप में मैक्सवेल को लगी थी चोट

वर्ल्ड के दौरान मैक्सवेल मानसिक तौर पर बहुत परेशान थे. साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच से पहले नेट सेशन में मैक्सवेल औऱ मिचेल मार्श (Mitchell Marsh) दोनों को ही हाथ में चोट लगी थी. मैक्सवेल ने एक इंटरव्‍यू में खुद बताया था कि मार्श और मैं दोनों साथ में अस्पताल गए. मैं उस समय सोच रहा था कि शायद अब समय आ गया है. मुझे क्रिकेट से ब्रेक मिल जाएगा. जब मार्श की रिपोर्ट आई तो मुझे उसके लिए दुख हो रहा था. मैं चाहता था कि मेरा हाथ टूटा जाता तो मुझे ब्रेक मिल जाएगा. मैं उस समय पर सभी पर नाराज रहता था. वर्ल्ड कप में जब मैं प्रदर्शन नहीं कर पाया तब खुद पर बहुत गुस्सा आया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज