World Test Championship: न्यूजीलैंड टीम भारत से 17 दिन पहले इंग्लैंड रवाना, फाइनल से पहले 2 मैच खेलेगी

World Test Championship: न्यूजीलैंड की टीम फाइनल से पहले इंग्लैंड से दो टेस्ट खेलेगी. (BLACKCAPS twitter)

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम 15 मई को इंग्लैंड के लिए रवाना हुई. टीम को वहां वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) का फाइनल और इंग्लैंड से सीरीज खेलनी है. टीम इंडिया फाइनल के लिए 2 जून को इंग्लैंड जाएगी. फाइनल मैच 18 जून से होना है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. न्यूजीलैंड की टीम इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट की सीरीज और भारत के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) फाइनल में खेलने के लिए शनिवार को ब्रिटेन रवाना हो गई. दो मैचों की टेस्ट सीरीज दो जून से खेली जाएगी जबकि डब्ल्यूटीसी का फाइनल 18 जून से साउथम्पटन में होगा. टीम की रवानगी से पहले टीम के ट्विटर हैंडल पर लिखा गया, ‘उड़ान भरने का समय.’

    आईपीएल 2021 (IPl 2021) में खेलने वाले कप्तान केन विलियम्सन, तेज गेंदबाज काइल जेमिसन और बाएं हाथ के स्पिनर मिचेल सेंटनर अभी मालदीव में हैं और वहीं से ब्रिटेन पहुंचेंगे. ये तीनों दिल्ली से मालदीव पहुंचे हैं. दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले कारण तीनों खिलाड़ी मालदीव चले गए थे. स्टार तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट आईपीएल में हिस्सा लेने के बाद स्वदेश लौट गए हैं और इंग्लैंड के खिलाफ दोनों मैचों से बाहर रह सकते हैं. वे फाइनल में खेलेंगे.

    टीम इंडिया 2 जून को रवाना होगी

    मुंबई के कड़े क्वारेंटाइन के बाद भारतीय टीम 2 जून को ब्रिटेन के लिए रवाना होगह. बीसीसीआई इस बार कोई छूट देने के मूड में नहीं है. खिलाड़ियाें का कोरोना टेस्ट बोर्ड घर पर ही करा रहा है. आईपीएल के दौरान बायाे बबल में कोरोना केस आने के कारण टी20 लीग को 29 मैच बाद ही स्थगित करना पड़ा. लीग के बचे 31 मुकाबले बोर्ड सितंबर में कराने की योजना बना रहा है. इसी कारण तैयारी के लिए दूसरी टीम को न्यूजीलैंड के दाैरे पर भेजा रहा है.

    भारत पहले और न्यूजीलैंड की टीम दूसरे पर रही

    आईसीसी ने टेस्ट को रोमांचक बनाने के लिए 2019 से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत की. टीम इंडिया ओवरऑल टॉप पर रही जबकि न्यूजीलैंड की टीम दूसरे पर रही. कुल 9 टीमों काे मौका दिया गया था. सभी को 6 सीरीज खेलनी थी. तीन घर में और तीन विदेशी जमीन पर. लेकिन कोरोना के कारण कई सीरीज को स्थगित करना पड़ा. इस कारण कुल अंक की जगह औसत अंक के आधार पर टॉप-2 टीम का फैसला हुआ.