वेस्‍टइंडीज के खिलाफ उतरने से पहले इंग्‍लैंड ने मांगी मनोवैज्ञानिकों से मदद, जानें पूरा मामला

वेस्‍टइंडीज के खिलाफ उतरने से पहले इंग्‍लैंड ने मांगी मनोवैज्ञानिकों से मदद, जानें पूरा मामला
स्टुअर्ट ब्रॉड ने इंग्लैंड टीम के खेल मनोवैज्ञानिकों से खिलाड़ियों को मानसिक रूप से इस तरह ढालने में मदद करने की अपील की है

अगले महीने 8 जुलाई से इंग्‍लैंड और वेस्‍टइंडीज (England vs West Indies) के बीच तीन टेस्‍ट मैचों की सीरीज शुरू होगी. ये मैच जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में खेले जाएंगे.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. अगले महीने इंग्‍लैंड और वेस्‍टइंडीज (England vs West Indies) के बीच टेस्‍ट सीरीज खेली जाएगी और पूरी दुनिया की नजर इस सीरीज पर है. दरअसल कोरोना के बाद  यह‍ पहला इंटरनेशनल मुकाबला होगा. हालांकि सीरीज पर कोरोना का असर साफ नजर आएगा. गेंदबाज गेंद पर लार का इस्‍तेमाल नहीं कर पाएंगे और स्‍टेडियम में दर्शकों को आने की अनुमति नहीं होगी. दर्शकों की गैरमौजूदगी का असर खिलाड़ियों के प्रदर्शन को प्रभावित कर सकता है. दिग्‍गज खिलाड़ी भी इस बात को स्‍वीकार चुके हैं कि दर्शकों से उन्‍हें प्रेरणा मिलती है. मगर कोरोना के कारण अब खिलाड़ियों को बिना दर्शकों के साथ खेलना होगा और इसके लिए इंग्‍लैंड की टीम खेल मनोवैज्ञानिकों की मदद लेगी.

स्टुअर्ट ब्रॉड (stuart broad) ने इंग्लैंड टीम के खेल मनोवैज्ञानिकों से खिलाड़ियों को मानसिक रूप से इस तरह ढालने में मदद करने की अपील की है, जिससे वे कोरोना वायरस महामारी के बीच अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की बहाली होने पर खाली मैदानों में अच्छा प्रदर्शन कर सकें.

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज  (England vs West Indies)  के बीच आठ जुलाई से शुरू हो रही तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला के जरिए कोरोना लॉकडाउन के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट फिर शुरू होगा, ये मैच जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में खेले जाएंगे और मैदान पर दर्शक नहीं होंगे.



जज्‍बात पर नियंत्रण रखने पर कर रहे हैं काम



ब्रॉड ने एक वीडियो कॉफ्रेंस में कहा कि ये मैच अलग होंगे, क्योंकि दर्शक ही नहीं होंगे. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मानसिक रूप से कठिन चुनौती होगा और हर खिलाड़ी को उसके लिए पूरी तरह से तैयार रहना होगा. उन्होंने कहा कि मैंने अपने खेल मनोवैज्ञानिकों से बात की है कि वे मानसिक रूप से इस तरह से ढालने में मदद करें कि हम नए माहौल में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकें. ब्रॉड ने कहा कि अगर आप मेरे सामने एशेज मैच और सत्र से पहले का दोस्ताना मैच रखें तो मुझे पता है कि मेरा प्रदर्शन किसमें बेहतर होगा. मुझे यह तय करना होगा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में जज्बात पर नियंत्रण रखना है और इस पर हम इस महीने की शुरुआत से ही काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: 

इस क्रिकेटर को झाड़ू मारने की मिल रही थी नौकरी, फिर शाहरुख खान ने बदल दी जिंदगी!

इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में वेस्‍टइंडीज टीम करेगी नस्‍लवाद का विरोध, अपनाएगी ये तरीका

बेन स्टोक्स (Ben Stokes) पहले टेस्ट में पहली बार इंग्लैंड की कप्तानी करेंगे और ब्रॉड का मानना है कि उन्हें इसमें कोई दिक्कत नहीं आएगी. ब्रॉड ने कहा कि स्टोक्स के पास क्रिकेट की अच्‍छी समझ रखने वाला दिमाग है, जिससे उन्हें जो रूट की जगह कप्तानी करने में मदद मिलेगी. रूट अपने दूसरे बच्चे के जन्म के कारण पहला टेस्ट नहीं खेल सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading