India vs England: जॉक क्राउली का दावा-गुलाबी गेंद से भारत पर भारी पड़ेगी इंग्लैंड की टीम

भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट 24 फरवरी से खेला जाएगा.  (फोटो-AFP)

भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट 24 फरवरी से खेला जाएगा. (फोटो-AFP)

India vs England: भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज अभी 1-1 से बराबरी पर है. तीसरा टेस्ट मैच 24 फरवरी से सरदार पटेल मोटेरा स्टेडियम में खेला जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 12:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इंग्लैंड के बल्लेबाज जॉक क्राउली का मानना है कि मोटेरा में गुलाबी गेंद से होने वाले डे-नाइट टेस्ट में उनकी टीम का पलड़ा भारी रहेगा. उनका कहना है कि इंग्लैंड के पास तेज गेंदबाजी की अनुकूल परिस्थितियों में खेलने का अच्छा अनुभव है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अविश्सनीय तेज गेंदबाजी आक्रमण और असाधारण बल्लेबाजों के कारण भारत मजबूत टीम है. चार मैचों की सीरीज अभी 1-1 से बराबरी पर है. तीसरा टेस्ट मैच 24 फरवरी से सरदार पटेल मोटेरा स्टेडियम में खेला जाएगा.

क्राउली से पूछा गया कि गेंद को अगर मूवमेंट मिलता है तो क्या इंग्लैंड का पलड़ा भारी रहेगा, उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि यह हमारे अनुकूल होगा. हम इस तरह की परिस्थितियों में खेलते हुए बड़े हुए है. तेज गेंदबाजों के लिये अनुकूल परिस्थितियों में गेंद को देर से खेलने की कोशिश करते रहे हैं. इसलिए आप यह कह सकते हैं कि भारतीयों की तुलना में हम ऐसी परिस्थितियों का अधिक अनुभव रखते हैं.' उन्होंने ब्रिटिश मीडिया से कहा, 'संभवत: यही वजह है कि वे स्पिन के अविश्वनीय खिलाड़ी हैं क्योंकि वे ऐसी परिस्थितियों में खेलते हुए बड़े हुए हैं.' लेकिन 23 साल का यह बल्लेबाज भारत के मजबूत तेज गेंदबाजी आक्रमण और कुशल बल्लेबाजों से अच्छी तरह वाकिफ है जो किसी भी तरह की परिस्थितियों में खेलने में माहिर हैं.

क्राउली ने जसप्रीत बुमराह और अनुभवी इशांत शर्मा के अलावा नये तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के संबंध में यह बात कही. लाल गेंद की तुलना में गुलाबी गेंद अधिक स्विंग करती है लेकिन क्राउली का मानना है स्पिनर तब भी टेस्ट के परिणाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे. उन्होंने कहा, 'लाल गेंद की तुलना में गुलाबी गेंद लगता है कि अधिक स्विंग करती है जिससे तेज गेंदबाजों को थोड़ा मदद मिलती है. मुझे उम्मीद है कि पिछले दो टेस्ट मैचों की तुलना में इस मैच में तेज गेंदबाजों को विकेट लेने के अधिक मौके मिलेंगे.'

यह भी पढ़ें:
IND VS ENG: भारतीय टी20 टीम में इशान किशन, सूर्यकुमार यादव और राहुल तेवतिया का सेलेक्शन

Vijay Hazare Trophy: झारखंड के कप्तान इशान किशन ने खेली 173 रनों की विस्फोटक पारी, सिर्फ चौके-छक्के से बनाए 142 रन

क्राउली ने कहा, 'पिच थोड़ी कड़ी भी लगती है इसलिए स्पिनरों को भी इसमें थोड़ा अधिक उछाल मिलेगी. स्पिनर भी अपनी भूमिका निभाएंगे और अगर वे घसियाली पिच तैयार करते हैं तो मुझे हैरानी होगी.' केंट का यह बल्लेबाज चेपॉक के ड्रेसिंग रूम में मार्बल की सतह पर फिसलने से कलाई में चोट लगने के कारण पहले दो टेस्ट मैचों में नहीं खेल पाया था लेकिन वह तीसरा टेस्ट में खेलने के लिये पूरी तरह फिट हैं. उन्होंने कहा, 'मैं नेट्स पर काफी बल्लेबाजी कर रहा हूं और यह सुनिश्चित कर रहा हूं कि मैं इस टेस्ट के लिये जितना संभव हो फिट रहूं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज