पुरुष खिलाड़ियों से भरी बस में इस महिला क्रिकेटर ने किया टॉयलेट, सनसनीखेज खुलासा

पुरुष खिलाड़ियों से भरी बस में इस महिला क्रिकेटर ने किया टॉयलेट, सनसनीखेज खुलासा
ईशा गुहा का सनसनीखेज खुलासा

क्रिकेट खिलाड़ी अकसर जश्न मनाते हुए कई ऐसी हरकतें कर बैठते हैं जिनपर यकीन करना भी मुश्किल हो जाता है, इंग्लैंड की महिला क्रिकेटर रह चुकी ईशा गुहा (Isa Guha) ने सनसनीखेज खुलासा किया है

  • Share this:
नई दिल्ली. साल 2005 इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए बेहद ही खास था. ये वो समय था जब इंग्लैंड की पुरुष और महिला दोनों ही टीमों ने एशेज सीरीज (Ashes Series 2005) पर कब्जा किया था. महिला टीम के लिए तो ये जीत इसलिए खास थी क्योंकि तकरीबन 30 साल बाद उसने एशेज में ऑस्ट्रेलिया को मात दी थी. इस जीत का जश्न बड़े गजब अंदाज में मनाया गया था. सड़क पर महिला और पुरुष टीम से भरी खुली बस लंदन की सड़कों पर निकली थी, जिसमें जमकर नारेबाजी हो रही थी और खिलाड़ी बीयर और शैंपने पीकर इंजॉय कर रहे थे. हालांकि इस जश्न के दौरान एक ऐसी घटना हुई थी जिसका खुलासा 15 साल बाद हुआ है.

खिलाड़ियों से भरी बस में महिला क्रिकेटर ने किया टॉयलेट
ब्रिटिश अखबार द सन की रिपोर्ट की मानें तो 2005 में एशेज की जीत के जश्न के दौरान इंग्लैंड की महिला क्रिकेटर ईशा गुहा ने बस में ही पेशाब कर दी थी. ईशा गुहा ने खुद एक पोडकास्ट के दौरान इसका खुलासा किया. ईशा गुहा (Isa Guha) ने बताया, 'उस दिन वो जश्न एक रॉक कॉन्सर्ट की तरह लग रहा था. सड़कों पर लोग उमड़े हुए थे. लोग अपने घर की छतों और खिड़कियों पर हमारा नाम ले रहे थे. हम खूब पार्टी कर रहे थे.'

ईशा गुहा (Isa Guha) ने आगे बताया, 'इस दौरान हम शैंपेन पी रहे थे, हमें ये सब करते हुए एक घंटा बीत चुका था लेकिन तभी मुझे पेशाब आ गई और मैं कंट्रोल नहीं कर पा रही थी. मैंने देखा कि केविन पीटरसन बस रुकवाकर पास ही मौजूद एक दुकान में टॉयलेट के लिए गए लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकी. मुझे कहा गया कि तुम्हें ट्राफालगर स्क्वायर तक इंतजार करना होगा, जो कि 20 से 30 मिनट की दूरी पर था.'
ईशा गुहा (Isa Guha) ने आगे कहा, 'मेरे पास कोई विकल्प नहीं था और मैं बस की छत से नीचे गई और उस वक्त वहां कोई नहीं था. मैंने एक कप लिया और उसमें ही पेशाब कर दी. इसके बाद मैंने दोबारा इंजॉय करना शुरू कर दिया.' बता दें ईशा गुहा भारतीय मूल की हैं और वो इंग्लैंड की महिला टीम से खेलने वाली पहली ब्रिटिश एशियन खिलाड़ी हैं. ईशा गुहा ने साल 2012 में संन्यास ले लिया था और वो फिलहाल कमेंट्री करती हैं.



खुद को KKR का कर्जदार मानता है दुनिया का नंबर वन गेंदबाज, इस तरह करेगा भुगतान

कोहली से कैच छूटने के बाद धोनी बोले, बेवकूफ किसी और को बनाना, बहुत आए और गए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज