होम /न्यूज /खेल /Exclusive: भारत का क्रिकेट बहुत आगे, वह चुन सकता है 4 या 5 टीम, जिम्बाब्वे के कोच ने बताई वजह

Exclusive: भारत का क्रिकेट बहुत आगे, वह चुन सकता है 4 या 5 टीम, जिम्बाब्वे के कोच ने बताई वजह

जिम्बाब्वे कोच डेव हॉटन. (AFP)

जिम्बाब्वे कोच डेव हॉटन. (AFP)

जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान एवं वर्तमान समय में टीम के कोच डेव हॉटन ने भारतीय टीम की सराहना की है. उन्होंने खास इंटरव्यू ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

डेव हॉटन ने भारतीय खिलाड़ियों की सराहना की
कहा- वे क्रिकेट में इतना ऊंचा है कि 4 से 5 टीम चुन सकते हैं
मौजूदा समय में जिम्बाब्वे के कोच हैं डेव हॉटन

हरारे. मेरे साथ बैठे व्यक्ति जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान एवं वर्तमान समय में टीम के कोच डेव हॉटन हैं जिन्हें किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है. उन्होंने जिम्बाब्वे के पहले टेस्ट में शतक बनाया और कपिल देव जैसे दिग्गजों के साथ बहुत सारी क्रिकेट खेली है और अब वह जिम्बाब्वे की कोचिंग कर रहे हैं …

सवाल- डेव आप राष्ट्रीय टीम को कोचिंग देने की इस नई चुनौती को कैसे देखते हैं?

जवाब- मुझे लगता है कि यह एक रोमांचक चुनौती है, देश के युवा खिलाड़ियों में काफी कौशल है … मैं पिछले कुछ वर्षों में कुछ घरेलू प्रथम श्रेणी क्रिकेट में काम कर रहा हूं, इसलिए मैंने पूरे सभी युवाओं को करीब से देखा है और इन सभी में हुनर है. हमारे पास 5 घरेलू प्रथम श्रेणी टीम है, और ये अच्छे संकेत हैं. इसलिए मुझे पता था कि टीम में वापस आने का मतलब है कि आप कुछ अच्छे खिलाड़ियों के साथ काम कर रहे हैं और यह सिर्फ उन्हें एक साथ लाने का सवाल था ताकि उन्हें उम्मीद के मुताबिक सफल बनाया जा सके … हम पिछले 2 महीने में विश्व टी20 के लिए क्वालीफाई करने में सफल रहे और बांग्लादेश के खिलाफ हमने अच्छी सीरीज खेली लेकिन भारत के खिलाफ हमारी असली परीक्षा होगी.

यह भी पढ़ें- लॉर्ड्स टेस्ट का हीरो रहा यह 28 वर्षीय अफ्रीकी पेसर, महज 10 गेंद में लिख दी जीत की पटकथा

सवाल- बहुत सारे लोग इस दौरे पर विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे बड़े नामों को याद कर रहे है, आप इस भारतीय पक्ष को कैसे देखते हैं? अभी भी काफी मजबूत?

जवाब- बेशक काफी मजबूत. जब भारतीय लोग अपने एक या दो प्रमुख खिलाड़ियों की कमी पर चिंता करते हैं तो मुझे हंसी आती है … भारत विश्व क्रिकेट में इतना ऊंचा है कि वे शायद 4 या 5 टीम चुन सकते हैं और वो सारी टीमे एक बाराबर हो सकती है (हंसते हुए) इसलिए भले ही विराट कोहली जैसा खिलाड़ी इस दौरे पर नहीं आए मगर हम जानते हैं कि कुछ धुरंधर खिलाड़ी अभी भी टीम इंडिया में हैं और हमारे खिलाड़ियों के लिए न केवल उनके खिलाफ प्रतिस्पर्धा करना बल्कि उन्हें देखना और उनसे सीखना का भी ये शानदार मौका होगा.

सवाल- ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी पर दो शब्द, क्योंकि आप खुद एक विकेटकीपर और आक्रामक बल्लेबाज रहे हैं … आप ऋषभ पंत को कैसे देखते हैं?

जवाब- वह निश्चित रूप से मुझसे काफी बेहतर है, खासकर एक विकेटकीपर के रूप में…ऋषभ देखने में शानदार खिलाड़ी है…जाहिर है कि वह वास्तव में टी20 और पचास ओवरों के लिए अच्छी तरह से तैयार हुए है और मुझे यकीन है कि वह महान टेस्ट खिलाड़ी भी है. उसके पास खूब इनोवेशन है और शक्ति है और ऐसा लगता है कि वह हर समय अपने चेहरे पर मुस्कान के साथ खेलते है, भारत से लगातार महान खिलाड़ी निकल रहे हैं ओर पंत भी उनमें से एक हैं.

सवाल- जैसा कि आपने अभी भारतीय क्रिकेट की ताकत के बारे में बात की है, विशेष रूप से विकेट कीपिंग में उनके पास कई विकल्प हैं जैसे केएल राहुल, ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक, ईशान किशन और जाहिर तौर पर धोनी रिटायर हो गए, टीम एक अच्छे विकेट कीपर की तलाश में थी और अब आप देखते हैं कि कई विकेटकीपर उस जगह के लिए मौजूद हैं और सभी को खेल के हर प्रारूप में मौका भी नहीं मिल रहे है.

जवाब- मुझे लगता है कि भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे बड़ी समस्या यही है कि आप अपना सर्वश्रेष्ठ 11 कैसे चुनते हैं? सौभाग्य से भारत इतना क्रिकेट और इतने सारे दौरे करते हैं कि आप अपने खिलाड़ियों को बदलने में सक्षम हैं, मुझे लगता है कि इस गर्मी में इंग्लैंड में आपके पास एक टेस्ट टीम खेल रही थी और एक ही समय में एक दिवसीय टीम थी और फिर बाद में वेस्टइंडीज दौरा जहां बाकी खिलाड़ियों ने जगह बनाई. मुझे लगता है कि भारत का सबसे कठिन काम विश्व कप के लिए अपने अंतिम 15 को चुनना होगा क्योंकि आप 50 चुन सकते हैं…लेकिन खिला सिर्फ 11 ही सकते हैं.

सवाल- आप भारत के नियमित कोच राहुल द्रविड़ को कैसे देखते हैं… आपने उन्हें एक खिलाड़ी के रूप में देखा है लेकिन अब वह एक कोच हैं… आप राहुल को कोच कैसे देखते हैं?

जवाब- यह कहना मुश्किल है जब तक कि आपने वास्तव में इसका अनुभव नहीं किया है, लेकिन मुझे लगता है कि अगर वह जैसे क्रिकेटर थे वैसे ही हैं तो वह टीम में सबसे समझदार व्यक्ति होंगे… मुझे यकीन है कि वह वास्तव में चेंज रूम में कुछ शांति लाएगे क्योंकि हम सभी जानते हैं, विशेष रूप से क्रिकेट में, कि बड़े मैचों में चीजें आपके अनुसार न होने पर खिलाड़ी भावनात्मक हो सकते हैं, और मुझे लगता है कि द्रविड़ चेंज रूम में एक अद्भुत शांति लाएंगे.

सवाल- आपके समय में भारत जिम्बाब्वे के खिलाफ बहुत क्रिकेट खेलता था, कई कारणों से मैचों की संख्या काफी कम हो गई है. क्या आप बीसीसीआई से कोई उम्मीद करते हैं क्योंकि पिछले कुछ दशकों में भारत और जिम्बाब्वे के बीच मजबूत संबंध हैं?

जवाब- भारत पिछले कुछ वर्षों में जिम्बाब्वे के लिए वास्तव में अच्छा रहा है और ये तीन एक दिवसिए मुकबाले इसका एक अच्छा उदाहरण हैं. मुझे लगता है कि जिम्बाब्वे क्रिकेट में भी आंतरिक समस्याओं के कारण कुछ गिरावट आई थी, और हम वास्तव में उम्मीद नहीं कर सकते थे कि हम उतनी क्रिकेट खेलेंगे जितना अन्य पक्ष खेल रहे हैं…. लेकिन अब हम वापस आ गए हैं और हम अच्छा खेल रहे हैं साथ ही चीजें क्रम में हैं और मैं भविष्य में भारत के खिलाफ एक या दो टेस्ट मैच और कुछ दौरों की उम्मीद कर रहा हूं क्योंकि किसी भी क्रिकेटर के लिए भारत का दौरा करने से बड़ा अनुभव और कुछ नहीं है.

Tags: India vs Zimbabwe, Indian Cricket Team, Team india

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें