डिविलियर्स के कहने पर फाफ डु प्लेसी ने नीलाम किया बल्ला और जर्सी, भूखे बच्चों की करेंगे मदद

डिविलियर्स के कहने पर फाफ डु प्लेसी ने नीलाम किया बल्ला और जर्सी, भूखे बच्चों की करेंगे मदद
कोरोना वायरस के बीच मदद के लिए फाफ डु प्लेसी का बड़ा कदम

फाफ डु प्लेसी (Faf Du Plessis) की पत्नी इमारी विसेर ने दक्षिण अफ्रीका में 35,000 बच्चों को खाना खिलाने के लिये चैरिटी से धन जुटाया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. लंबे समय से कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण दुनिया भर के लोग परेशानी से जूझ रहे हैं. भारत समेत दुनिया भर के क्रिकेटर्स ऐसे मुश्किल समय में मदद के लिए आगे आ चुके हैं. दक्षिण अफ्रीका के स्टार बल्लेबाज और पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसी (Faf Du Plessis) लंबे समय से अपने देश में भूख से परेशान बच्चों को खाना खिला रहे हैं. कोविड-19 महामारी से निपटने में जूझ रहे वंचित बच्चों के लिये खाना जुटाने के लिये अब उन्होंने अपना एक बल्ला और गुलाबी वनडे जर्सी नीलाम करने के लिये दान में दे दी है.

एबी डिविलियर्स के कहने पर जर्सी की दान
डुप्लेसी ने अपना नया आईएक्सयू बल्ला और गुलाबी रंग की वनडे जर्सी दान में दी जिस पर उनका नाम और पीछे 18 नंबर बना हुआ था. उन्होंने यह अपने पूर्व साथी एबी डिविलियर्स (AB Devilliers) द्वारा नामांकित किये जाने के बाद किया. डुप्लेसिस ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर दोनों चीजों की फोटो साझा करते हुए संदेश लिखा, ‘जैसा कि आप सभी जानते हो कोविड-19 महामारी का काफी लोगों पर बुरा प्रभाव पड़ा है और हम दक्षिण अफ्रीका में इसके असर का अनुभव कर रहे हैं. ’


उन्होंने लिखा, ‘मैंने एबी डिविलियर्स द्वारा नामांकित किये जाने के बाद इस चुनौती को स्वीकार किया है. मैंने अपना बिलकुल नया आईएक्सयू बल्ला और इंग्लैंड के खिलाफ ‘2016 पिंक वनडे’ की गुलाबी जर्सी को दान दिया है जिसकी नीलामी ‘ऑल इन अफ्रीका’ वेबसाइट पर की जायेगी. ’



नियम तोड़कर टीम से बाहर हुए आर्चर के समर्थन में आए स्टोक्स, कहा- उसे अकेले नहीं रहने देंगे

हरभजन सिंह बोले- 40 साल का हूं लेकिन आज भी बेस्ट स्पिनर से मुकाबला करा लीजिए

पत्नी इमारी विसेर के साथ चैरिटी के धन जुटा रहे हैं डु प्लेसी
डुप्लेसी ने लिखा, ‘इस नीलामी की सारी राशि उस प्रोजेक्ट को दी जायेगी जो मैंने हिलसांग अफ्रीका फाउंडेशन के साथ लांच किया था. इस परियोजना का उद्देश्य 500,000 रैंड तक की राशि जुटाना है जिसका इस्तेमाल स्थानीय समुदाय के वंचित बच्चों को खाना खिलाने के लिये होगा. किसी भी तरह का दान इन बच्चों की मदद के लिये होगा. ’ वह पहले भी चैरिटी के काम से जुड़े रहे हैं, उनकी पत्नी इमारी विसेर ने दक्षिण अफ्रीका में 35,000 बच्चों को खाना खिलाने के लिये चैरिटी से धन जुटाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज