धोनी की तर्ज पर संन्यास नहीं लेंगे फाफ डुप्लेसी, इंग्लैंड से हार के बाद कही ये बड़ी बात

पिछले कुछ दिनों से फाफ डु प्लेसी के संन्यास की अटकलें चल रही हैं

फाफ डुप्लेसी (Faf du Plessis) ने कहा कि जब एक कप्तान सीरीज के बीच में ही टीम का साथ छोड़कर चला जाए तो वो सबसे खराब चीज होती है

  • Share this:
    नई दिल्ली. खराब दौर से गुजर रही साउथ अफ्रीकन टीम को हाल ही में इंग्लैंडे से घर में ही करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा. जिसके बाद से ही कप्तान फाफ डु प्लेसी (Faf du Plessis ) के भविष्य पर सवाल उठने लगे हैं. मगर अपने भविष्य पर बात करते हुए फाफ डु प्लेसी ने संकेत दे दिए हैं कि वो इस साल इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले सकते हैं. उन्होंंने यह भी इशारा किया कि वह कभी भी भारत के पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) की तरह संन्यास नहीं लेंगे.

    प्लेसी ने कहा कि उनके संन्यास के बारे में कई तरह की अपवाहें उड़ रही है. मगर वे रोबोट नहीं हैं. यह एक मुश्किल समय है, मगर यहां से कोई नहीं भाग रहा, न ही कोई जा रहा है. उन्होंने कहा कि वह टीम के लीडर हैं. प्लेसी ने कहा कि उन्होंने टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) तक टीम के साथ रहने का वादा किया है. इस साल ज्यादा टेस्ट क्रिकेट भी नहीं है. यह पूछने पर कि शुक्रवार से शुरू हो रहा टेस्ट मैच साउथ अफ्रीका में उनका आखिरी टेस्ट है. इसके जवाब में प्लेसी ने कहा कि हां निश्चित रूप से ऐसी संभावना है.



    धोनी की तर्ज पर नहीं लेना चाहते संन्यास
    प्लेसी ने कहा कि सबसे खराब चीज जो एक कप्तान कर सकता है वह सीरीज के बीच में ही टीम का साथ छोड़ना होता है. एक कप्तान सीरीज के बीच में ही टीम का साथ छोड़ दें और कहें कि 'माफ करना साथियों, मैं अब जा रहा हूं. मुझे जितना करना था मैंने कर लिया'. उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि उन्हें नहीं लगता कि यह किस नेतृत्व के  बारे में हैं. आपको कठिन समय से गुजरना होगा. उन्होंने कहा ‌कि टी20 वर्ल्ड कप के बाद एक बार फिर वह खुद का मूल्यांकन करेंगे कि वह कहां पर हैं. डु प्लेसी के इस बयान को धोनी के संन्यास से जोड़ा रहा है, क्योंकि 2014 में  धोनी ने भी सीरीज के बीच से टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

    धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के बीच में ही टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था (फाइल फोटो)


    सीरीज में पिछड़ने के बाद धोनी से टेस्ट क्रिकेट से लिया था संन्‍यास
    2014 में ऑस्ट्रेलिया (Australia) दौरे पर टीम इंडिया (Team India) की हालत खराब थी. टीम सीरीज में 0-2 से पिछड़ रही थी और बाक्सिंग डे टेस्ट भी ड्रॉ हो गया था. जिसके बाद एक टेस्ट मैच रहते हुए ही धोनी से टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला ले लिया. उस समय क्रिकेट जगत में इस फैसले की वजह से धोनी की काफी आलोचना भी हुई थी.

    विराट को मिला धोनी का विकल्प,पंत या राहुल नहीं ये खिलाड़ी संभालेगा जिम्मेदारी!

    सचिन तेंदुलकर और आनंद को केंद्र सरकार का झटका, इस अहम समिति से कर दी छुट्टी

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.