'फेक फील्डिंग' से डिकॉक ने फखर जमां को किया रन आउट, देखें- VIDEO

फखर जमां 155 गेंदों में 195 रन की पारी खेलकर रन आउट हुए (PIC: AFP)

फखर जमां 155 गेंदों में 195 रन की पारी खेलकर रन आउट हुए (PIC: AFP)

क्विंटन डी कॉक ने फील्‍डर की तरफ ऐसा इशारा किया कि गेंद नॉन स्‍ट्राइकर की तरफ थ्रो की जा रही है. यह देखकर फखर जमां रन लेने के दौरान धीमे हो गए. इसके बाद लॉन्ग ऑन से फील्‍डर ने सीधा थ्रो लगाया, जो सीधे स्‍टंप पर जाकर लगा.

  • Share this:
जोहानिसबर्ग. सलामी बल्लेबाज फखर जमां (Fakhar Zaman) की 155 गेंद में 193 रन की पारी के बाद भी पाकिस्तान को दूसरे वनडे मैच में रविवार को दक्षिण अफ्रीका (Pakistan vs South Africa) के खिलाफ 17 रन से हार का सामना करना पड़ा. दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर छह विकेट पर 341 रन बनाने के बाद जमां की शानदार पारी के बाद भी पाकिस्तान को नौ विकेट पर 324 रन पर रोक दिया. जीत के लिए 342 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान के लिए फखर जमां अपना दूसरा दोहरा शतक बनाने से चूक गए, लेकिन उन्होंने लक्ष्य का पीछा करते हुए वनडे में सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बनाया. इससे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉटसन के नाम था, जिन्होंने 2011 में बांग्लादेश के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए नाबाद 185 रन की पारी खेली थी.

फखर जमां इस मैच में क्विंटन डिकॉक (Quinton De Kock) की फेक फील्डिंग का शिकार हुए और रन आउट हो गए. क्विंटन डी कॉक ने फील्‍डर की तरफ ऐसा इशारा किया कि गेंद नॉन स्‍ट्राइकर की तरफ थ्रो की जा रही है. यह देखकर फखर जमां रन लेने के दौरान धीमे हो गए. इसके बाद लॉन्ग ऑन से फील्‍डर ने सीधा थ्रो लगाया, जो सीधे स्‍टंप पर जाकर लगा. डिकॉक की इस गलती के लिए फैन्स सोशल मीडिया पर डिकॉक और टेम्बा बावुमा दोनों को सजा देने की बात कर रहे हैं.

कैच आउट होने से गुस्साए बल्लेबाज ने बल्ले से फील्डर को पीटा, अबतक है बेहोशपाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज फखर जमां आखिरी ओवर में रन आउट हुए थे. वह महज 7 रनों से दोहरा शतक लगाने से चूक गए. उनके रन आउट को काफी विवाद हुआ और दिग्गज खिलाड़ी इससे काफी नाराज दिखाई दिए. दरअसल, आखिरी ओवर की पहली गेंद पर जब फखर ने लुंगी एनगिडी को लॉन्ग ऑफ की ओर शॉट खेलकर पहला रन तेजी से लिया. इसके बाद उन्होंने दूसरा रन भी लगभग पूरा कर ही लिया था, लेकिन विकेटकीपर क्विंटन डि कॉक की फेक फील्डिंग का शिकार होना पड़ा.बड़ी खबर: आईपीएल पर कोविड-19 का कहर, विराट कोहली के साथी देवदत्त पडिक्कल हुए कोरोना पॉजिटिववीडियो में आप देख सकते हैं कि डिकॉक फील्डर को नॉन स्ट्राइकिंग ऐंड की ओर गेंद थ्रो करने के लिए कह रहे थे. उस तरफ हारिस रऊफ दौड़ रहे थे. ऐसे में फखर जमां थोड़े धीमे पड़ गए. जब उन्होंने पलटकर नॉन स्ट्राकिंग ऐंड की ओर देखा तो पाया कि थ्रो तो उन्हीं के ऐंड पर आ रहा है. जब तक वह क्रीज के अंदर बल्ले को रखते गिल्लियां गिर चुकी थीं.

क्या कहता है आईसीसी का नियम
2017 के कानून (मैरीलिबोन क्रिकेट क्लब) के कानून 41 'अनफेयर प्ले' पर चर्चा करता है. कानून का कोड 41.5 यानी 'बल्लेबाजों का ध्यान भंग करना, धोखेबाजी या बाधा को दूर करना' 41.5.1 के तहत आता है. इस नियम के मुताबिक, इस तरह का व्यवहार किसी भी फील्‍डर के लिए अनुचित है.यदि मामले में अंपायरों को लगता है कि फील्डर ने 'इस तरह की गड़बड़ी का कारण या प्रयास किया है', तो उन्हें दोनों कप्तानों को सूचित करने और बाद में दोषी पक्ष को 5 रन की पेनल्‍टी देने का अधिकार दिया गया है,

अगर मैदान पर अंपायर सजा देते तो पाकिस्तान को 5 रन भी मिलते और शायद फखर जमां का दोहरा शतक भी पूरा हो जाता. बता दें कि 'मैन ऑफ द मैच' रहे फखर जमां ने 155 गेंद की पारी के दौरान दूसरे विकेट के लिए कप्तान बाबर आजम (31) के साथ 63 और आठवें विकेट के लिए शाहीन शाह अफरीदी (05) के साथ 68 रन की साझेदारी की. आखिरी ओवर में ऐडन मार्कराम के सीधे थ्रो पर रन आउट होने से पहले उन्होंने 18 चौके और 10 छक्के जड़े. दक्षिण अफ्रीका की इस जीत से तीन मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई. पाकिस्तान ने पहले वनडे मैच को तीन विकेट से जीता था. सीरीज का तीसरा मैच सात अप्रैल को खेला जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज