मतलब एबी डिविलियर्स ने बोला था झूठ? फैंस ने कहा-पैसों के लिए खेलते हो, देश से मतलब नहीं

एबी डिविलियर्स ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 47 शतक लगाए हैं. (डिविलियर्स इंस्टाग्राम)

दक्षिण अफ्रीका के स्टार खिलाड़ी एबी डिविलियर्स (AB de Villiers) ने इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी से इंकार कर दिया है. उन्हें विंडीज दौरे के लिए नहीं चुना गया है. ऐसे में उनके टी20 वर्ल्ड कप खेलने की संभावना भी खत्म हो गई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. एबी डिविलियर्स (AB de Villiers) इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी नहीं करेंगे. इस संबंध में क्रिकेट साउथ अफ्रीका ने बताया कि एबी डिविलियर्स ने साफतौर पर इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी से इनकार कर दिया है और वो आने वाले वेस्टइंडीज दौरे पर भी टीम का हिस्सा नहीं होंगे. ऐसे में उनके इस साल होने वाली टी20 वर्ल्ड कप की उतरने की संभावना खत्म हो गई है. आईपीएल 2021 (IPL 2021) के दौरान उन्होंने कहा था कि वे इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी कर सकते हैं.

    एबी डिविलियर्स के इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी नहीं करने के बाद से सोशल मीडिया पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. कुछ लोग उनके साथ हैं तो बहुत सारे फैंस उन पर उंगली उठा रहे हैं. आईपीएल से पहले दक्षिण अफ्रीका बोर्ड से उनके टी20 वर्ल्ड कप में वापसी को लेकर बात भी हुई थी. वे पहले की तरह इंटरनेशनल मुकाबले तो नहीं खेलेंगे, लेकिन दुनिया भर की टी20 लीग में खेलते नजर आएंगे. लीग से उन्हें करोड़ों रुपए भी मिल रहे हैं.





    आईपीएल में खूब चला था बल्ला

    इंटरनेशनल में वापसी पर एबी डिविलियर्स ने कहा था कि वे इस बारे में दक्षिण अफ्रीका के हेड कोच मार्क बाउचर से बात करेंगे. इस दौरान उनकी फॉर्म और फिटनेस को लेकर भी चर्चा होगी. आईपीएल 2021 में उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए 6  पारियों में 51.75 की औसत से 207 रन बनाए थे. इस दौरान उनकी स्ट्राइक रेट 164.28 की थी. ऐसे में उनके प्रदर्शन पर किसी तरह का सवाल ही नहीं था.



    2018 में लिया था इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास

    एबी डिविलियर्स ने 2018 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया था. डिविलियर्स ने 114 टेस्ट, 228 वनडे और 78 टी20 मैच खेले. 47 शतक लगाए. उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 20,014 रन बनाए. टेस्ट में उन्होंने 22 जबकि वनडे में 25 शतक लगाए. वे वनडे में सबसे तेज शतक लगाने वाले खिलाड़ी हैं. उन्होंने विंडीज के खिलाफ 31 गेंद पर यह कारनामा किया था.