Home /News /sports /

इयान चैपल का बड़ा बयान- T20 के कारण टेस्ट क्रिकेट का भविष्य खतरे में

इयान चैपल का बड़ा बयान- T20 के कारण टेस्ट क्रिकेट का भविष्य खतरे में

इयान चैपल ने कहा है कि टी20 क्रिकेट के साए में टेस्ट क्रिकेट फल-फूल नहीं सकता है. (AFP)

इयान चैपल ने कहा है कि टी20 क्रिकेट के साए में टेस्ट क्रिकेट फल-फूल नहीं सकता है. (AFP)

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) का मानना है कि टी20 प्रारूप (T20 Cricket) के लगातार बढ़ते कदमों से टेस्ट क्रिकेट पर गहरा असर पड़ रहा है. विशेषकर कोविड-19 के कारण पैदा हुई मुश्किल परिस्थितियों में लंबी अवधि के प्रारूप के लिये स्थिति अधिक विकट हो गयी है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल का मानना है कि टी20 प्रारूप के लगातार बढ़ते कदमों से टेस्ट क्रिकेट पर गहरा असर पड़ रहा है. विशेषकर कोविड-19 के कारण पैदा हुई मुश्किल परिस्थितियों में लंबी अवधि के प्रारूप के लिये स्थिति अधिक विकट हो गयी है. चैपल ने कहा कि टी20 में मैच पूरा करने में कम समय लगता है और इसलिए यह पारंपरिक प्रारूप पर हावी हो गया है.

    चैपल ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो में अपने कॉलम में लिखा कि यूएई में टी20 विश्व कप खेला जाना है और उसके बाद उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया में एशेज श्रृंखला होगी. एशेज श्रृंखला को लेकर चली बातचीत का मुख्य कारण कोविड महामारी थी. लेकिन टी20 प्रारूप टेस्ट क्रिकेट पर अधिक गहरा प्रभाव डाल रहा है.

    टी20 छोटा होने का कारण अधिक लोकप्रिय: चैपल
    उन्होंने आगे कहा कि टी20 टूर्नामेंट में भाग लेने वाले देशों को शामिल करने के लिये केवल कुछ दिनों की जरूरत होती है और इसलिए वर्तमान की मुश्किल परिस्थितियों में लंबी अवधि की टेस्ट श्रृंखला की तुलना में इसमें समझौता करना आसान होता है. कम अवधि का होने के कारण टी20 क्रिकेट उन देशों को टेस्ट मैचों की तुलना में अधिक अनुकूल लगता है जो पारंपरिक तौर पर क्रिकेट खेलने वाले देश नहीं हैं. यही वजह है कि आगामी टी20 टूर्नामेंट में ओमान और पापुआ न्यूगिनी जैसे देश भाग ले रहे हैं.

    ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज ने कहा कि टी20 प्रारूप आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को छोड़कर अन्य देशों में टेस्ट क्रिकेट की तुलना में अधिक लुभावना और लोकप्रिय है.

    टी20 क्रिकेट में आयरलैंड के बल्‍लेबाज का कमाल, विराट कोहली को छोड़ा पीछे

    ‘भविष्य में गिने-चुने देश ही टेस्ट क्रिकेट खेलेंगे’
    उन्होंने कहा कि टेस्ट खिलाड़ी तैयार करने के लिये आवश्यक आधारभूत लागत गैर पारंपरिक क्रिकेट देशों के लिये अत्याधिक होगी. दूसरी तरफ वे एक टी20 प्रतियोगिता का संचालन कर सकते हैं जिससे उनकी अच्छी आय भी होगी. यहां तक कि अगर गैर पारंपरिक देश की अपनी टी20 प्रतियोगिता नहीं है, तब भी उसके बेहतर खिलाड़ियों के पास विदेशों में टूर्नामेंट खेलकर अच्छी कमाई करने का अवसर रहेगा. भविष्य में टेस्ट श्रृंखलाएं पारंपरिक क्रिकेट देशों के बीच ही खेली जाएंगी. टेस्ट खेलने वाले नये देशों आयरलैंड और अफगानिस्तान में खेल का लंबा प्रारूप फलेगा-फूलेगा इसकी संभावना कम लगती है.

    Tags: Cricket news, Ian Chappell, T20 cricket, Test cricket

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर