विराट के फ्लॉप होने पर कौन सा बल्लेबाज उठाता है जीत की जिम्मेदारी, पूर्व सेलेक्टर ने किया खुलासा

अजिंक्य रहाणे विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने उन्होंने 17 टेस्ट में 1095 रन बनाए हैं. (फोटो-AFP)

अजिंक्य रहाणे विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने उन्होंने 17 टेस्ट में 1095 रन बनाए हैं. (फोटो-AFP)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद का मानना है कि टीम मैनेजमेंट को उपकप्तान अजिंक्य रहाणे का लगातार समर्थन करना चाहिए. क्योंकि जब भी टीम के लिए विराट रन बनाने से चूकते हैं तो रहाणे ही आगे आकर जिम्मेदारी संभालते हैं. वो न सिर्फ रन बनाते हैं, बल्कि टीम को जीत भी दिलाते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. अजिंक्य रहाणे टीम के लिए खेलने वाले खिलाड़ी का आदर्श उदाहरण हैं. जब भी टीम इंडिया मुश्किल में होती है, तब रहाणे न सिर्फ रन बनाते हैं, बल्कि टीम को जीत भी दिलाते हैं. पिछले साल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर विराट कोहली की गैरमौजूदगी में रहाणे ने ही टीम की कमान संभाली और एक बल्लेबाज और कप्तान की दोहरी भूमिका निभाई. उनकी अगुवाई में ही भारत पहला टेस्ट बुरी तरह हारने के बावजूद 4 टेस्ट की सीरीज 2-1 से जीता. यही वजह है कि पूर्व चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद भी रहाणे को टीम इंडिया के लिए सबसे अहम खिलाड़ी मानते हैं.

एमएसके प्रसाद ने क्रिकेट वेबसाइट से बातचीत में कहा कि टीम मैनेजमेंट को रहाणे का लगातार सपोर्ट करना चाहिए. जब भी टीम के लिए विराट रन बनाने से चूकते हैं, तो रहाणे ही सामने आते हैं और टीम को मुश्किल से उबारते हैं. प्रसाद ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि वह ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनके साथ शुरुआत की जा सकती है. ये बात सच है कि वो अपने करियर में काफी उतार-चढ़ाव से होकर गुजरे हैं. लेकिन जब भी टीम मुश्किल में होती है, वह हमेशा मजबूती से सामने आते हैं. उनका ग्राफ थोड़ा उपर नीचे जरूर रहा. लेकिन मुझे नहीं लगता है कि टीम मैनेजमेंट कोई बड़ा बदलाव करने वाली है.

'विराट की गैरहाजिरी में ऑस्ट्रेलिया सीरीज जिताई'

उन्होंने आगे कहा कि मुझे पक्का यकीन है कि वो दमदार वापसी करेंगे. वो शानदार टीम मैन हैं और उन्हें टीम में हर कोई पसंद करता है. हमें ये नहीं भूलना चाहिए कि उन्होंने सीनियर खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कैसे टीम को जीत दिलाई थी. प्रसाद ने रहाणे की तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम के उपकप्तान ने मुश्किल हालात में अच्छी बल्लेबाजी की है. विदेश में उनके रिकॉर्ड से ये बात साबित होती है. शायद घर पर उन्हें थोड़ा संघर्ष करना पड़ा है. हमें उन पर अनावश्यक दबाव नहीं डालना चाहिए.
रहाणे ने 12 में से 8 टेस्ट शतक विदेश में जड़े

रहाणे का विदेशी जमीन पर रिकॉर्ड शानदार रहा है. वो SENA (South Africa, England, New Zealand and Australia) में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाजों में से एक हैं. उन्होंने 73 टेस्ट में 4583 रन बनाए हैं. इसमें से 42 टेस्ट उन्होंने विदेशी जमीन पर खेले हैं और उसमें उन्होंने 44.44 के औसत से 2978 रन बनाए हैं. यानी करीब 3 हजार रन उन्होंने घर से बाहर खेलते हुए बनाए हैं. रहाणे ने ऑस्ट्रेलिया में 12 टेस्ट में 42 से ज्यादा के औसत से 884 रन बनाए हैं. उन्होंने दो शतक भी लगाए हैं.

फारुख इंजीनियर बोले- इंग्लैंड के खिलाड़ी IPL की वजह से हमारे तलवे चाटते हैं



वहीं, इंग्लैंड में इस बल्लेबाज ने 10 टेस्ट में 556 रन जोड़े हैं. यहां भी वो एक शतक लगा चुके हैं. इसके अलावा उन्होंने न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका में कुल 7 टेस्ट खेलते हुए 500 से ज्यादा रन बनाए हैं. उन्होंने टेस्ट करियर में 12 शतक लगाए हैं. इसमें से 8 विदेश जमीन पर ठोके हैं.

इंग्लिश कप्तान आयन मॉर्गन और जोस बटलर हो सकते हैं सस्पेंड, भारतीयों पर की थी नस्लीय टिप्पणी

WTC में रहाणे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय

इतना ही नहीं, विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में भी रहाणे भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने 17 टेस्ट में 1095 रन बनाए हैं. उन्होंने तीन शतक और 6 अर्धशतक लगाए हैं. वो रन बनाने के मामले में विराट कोहली से आगे हैं. विराट ने 14 टेस्ट में 877 रन बनाए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज