Home /News /sports /

कोहली की कुटाई : 12 गेंदों पर बनाने थे 43 रन, विराट ने छह गेंदों पर 28 रन देकर डुबोई टीम की लुटिया

कोहली की कुटाई : 12 गेंदों पर बनाने थे 43 रन, विराट ने छह गेंदों पर 28 रन देकर डुबोई टीम की लुटिया

19वें ओवर में विराट कोहली ने 28 रन लुटा दिए थे (फाइल फोटो)

19वें ओवर में विराट कोहली ने 28 रन लुटा दिए थे (फाइल फोटो)

टीम लगभग जीत की दहलीज पर ही खड़ी थी, मगर 19वें ओवर में विराट कोहली (Virat Kohli) ने 28 देकर अपनी टीम को हार की कगार पर ला दिया

    नई दिल्‍ली. 12 गेंद और 43 रन... ये एक ऐसा आंकड़ा है, जहां से लक्ष्‍य का पीछा कर रही टीम को जीत की दहलीज दिखाई देनी बंद हो जाती है. ज्‍यादातर फैंस आज भी उस मैच को नहीं भूले होंगे, जहां टीम ने इसी मोड़ से मैच पलट दिया और मुकाबला जीता लिया था. बात कर रहे हैं 2012 आईपीएल की, जहां रॉयल चैलेंलर्स बेंगलोर के खिलाफ चेन्‍नई सुपर किंग्‍स (Chennai Super Kings) को जीत के लिए 12 गेंदों पर 43 रन चाहिए थे और यहां से एल्‍बी मोर्कल (Albie Morkel) और ड्वेन ब्रावो ने मैच पलट करके जीत सीएसके की झोली में डाल दी. यह वही मैच था, जहां 19वें ओवर में विराट कोहली (Virat Kohli) गेंदबाजी करने आए थे और उनके उस एक ओवर ने पूरा ही मैच पलट दिया. साउथ अफ्रीका ऑलराउंडर और चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के पूर्व बल्‍लेबाज एल्‍बी मोर्कल ने यूट्यूब चैट में उस पल को याद करते हुए कहा कि उन्‍हें समझ नहीं आया कि मैच के उस मोड़ पर आरसीबी ने कोहली को गेंद क्‍यों दी.

    मोर्कल ने कहा कि चेपक स्‍टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में 20 ओवर में 206 रनों का पीछा करते हुए सीएसके ने 18 ओवर के खेल तक 5 विकेट गंवा दिए थे और आखिरी के दो ओवर में 43 रन चाहिए थे. 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर विकेट गिरा था. ऐसे में वे बल्‍लेबाजी के लिए आए और आरसीबी के कप्‍तान डेनियल विट्टोरी ने उस अहम ओवर में गेंद कोहली को थमा दी. 19वें ओवर में उन्‍होंने कोहली की गेंदों पर ताबड़तोड़ बल्‍लेबाजी की और 28 रन जोड़े. इसके बाद आखिरी ओवर में बाकी के बचे हुए 15 रन ड्वेन ब्रावो ने जड़ दिए. ब्रावो ने विनय कुमार की गेंदों पर दो चौके लगाकर सीएसके को जीत दिला दी.

    कोहली को गेंदबाजी नहीं करनी चाहिए थी
    मोर्कल ने कहा कि उनकी टीम उस मुकाबले में तो थी ही नहीं. मुकाबला आरसीबी के पक्ष में था, मगर उन्‍हें नहीं पता कि विराट कोहली को गेंद क्‍यूं दी गई. सभी उनका काफी सम्‍मान करते हैं. उन्‍हें वैसे भी गेंदबाजी नहीं करनी चाहिए थी. मोर्कल ने कहा कि जब वे सातवें नंबर पर बल्‍लेबाजी करने आए तो स्‍कोरबोर्ड देखकर उन्‍हें असंभव सा नजर आया. मगर जब उन्‍होंने कोहली के हाथ में गेंद देखी तो सोचा कि मैच को थोड़ा करीब लेकर जाया जाए. उसके बाद वह पहली गेंद पर तो बच गए और उस गेंद पर चार रन जोड़ लिए. मगर अगली गेंदों पर ताबड़तोड़ रन जुटाए. मोर्कल ने कहा कि वो 15 मिनट उनके करियर के सबसे शानदार पला था वह कोई जादू था.

    भारत के म्यूजियम में रखा जाएगा तिहरा शतक जड़ने वाले इस पाक खिलाड़ी का बल्ला

    नाम उछलने पर बोले पाकिस्‍तानी दिग्‍गज वसीम अकरम, ऐसा करने से खुद को रोक रखा हैundefined

    Tags: Chennai super kings, Cricket, IPL, Royal Challengers Bangalore, Sports news, Virat Kohli

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर