धोनी को चेन्नई सुपरकिंग्स में लाने वाले टीम इंडिया के इस पूर्व ओपनर ने की खुदकुशी, आर्थिक बदहाली से थे परेशान

वीबी चंद्रशेखर (VB Chandrashekhar) की गिनती टीम इंडिया (Team India) के बेहद आक्रामक ओपनरों (Opener) में की जाती थी. उनके निधन पर टीम इंडिया के पूर्व और मौजूदा क्रिकेटरों ने शोक जताया है.

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 9:48 AM IST
धोनी को चेन्नई सुपरकिंग्स में लाने वाले टीम इंडिया के इस पूर्व ओपनर ने की खुदकुशी, आर्थिक बदहाली से थे परेशान
भारत के पूर्व ओपनर वीबी चंद्रशेखर ने देश के लिए सात वनडे खेले हैं. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 9:48 AM IST
क्रिकेट (Cricket) के खेल में मौजूदा दौर में पैसों की कोई कमी नहीं है, लेकिन शायद यह बात हर क्रिकेटर के बारे में नहीं कही जा सकती. शायद यही वजह है कि टीम इंडिया (Team India) के एक पूर्व क्रिकेटर से जुड़ी ऐसी ही एक सनसनीखेज खबर सामने आई है जो क्रिकेटरों की चकाचौंध भरी जिंदगी के पीछे के काले सच को उजागर करती है. यही वजह है कि आर्थिक तंगी से परेशान होकर टीम इंडिया के एक पूर्व ओपनर को जान देनी पड़ी.


दरअसल, भारतीय टीम के पूर्व ओपनर वीबी चंद्रशेखर (VB Chandrashekhar) गुरुवार को चेन्नई स्थित अपने घर में मृत पाए गए. माइलापोर स्थित उनके घर में उनका शव पंखे से लटका मिला. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने आत्महत्या की है. उन्होंने देश के लिए सात वनडे खेले और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका 43.09 का बेहतरीन औसत रहा. उन्हें भारत के चुनींदा आक्रामक ओपनरों में गिना जाता था.

रिपोर्ट के अनुसार, इंस्पेक्टर सेंथिल मुरुगन ने बताया कि चंद्रशेखर की पत्नी ने बयान दिया है कि उन्होंने चंद्रशेखर के कमरे का दरवाजा खटखटाया, लेकिन काफी देर तक कोई जवाब न मिलने के बाद उन्होंने खिड़की से अंदर झांककर देखा तो चंद्रशेखर का शव पंखे से लटका हुआ था. इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी. उनकी पत्नी सौम्या ने बताया कि चाय पीने के बाद शाम 5.45 बजे वे अपने कमरे में चले गए थे. क्रिकेट बिजनेस में नुकसान होने के चलते वे काई दिनों से तनाव में ‌थे.

cricket, bcci, vb chandrashekhar, indian cricket team, क्रिकेट, बीसीसीआई, वीबी चंद्रशेखर, भारतीय क्रिकेट टीम, वीबी चंद्रशेखर आत्महत्या, वीबी चंद्रशेखर सुसाइड
वीबी चंद्रशेखर के सबसे तेज शतक के रिकॉर्ड को 31 साल बाद ऋषभ पंत ने तोड़ा. (फाइल फोटो)


वीबी चंद्रशेखर (VB Chandrashekhar) तमिलनाडु प्रीमियर लीग (Tamilnadu Premier League) में वीबी कांची वीरंस टीम के मालिक थे और माना जा रहा है कि इस टीम को लेकर वे आर्थिक तंगी का शिकार हो गए ‌थे. चंद्रशेखर की मौत की खबर ने क्रिकेट जगत को स्तब्‍ध कर दिया है. अनिल कुंबले, हरभजन सिंह और सुरेश रैना जैसे टीम इंडिया के वर्तमान और पूर्व क्रिकेटरों ने उनके निधन पर शोक जताया है.












धोनी को चेन्नई सुपरकिंग्स में लाने का श्रेय
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को आईपीएल (IPL) टीम चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Superkings) में लाने का श्रेय भी वीबी चंद्रशेखर को ही जाता है. मौजूदा समय में चंद्रशेखर तमिलनाडु प्रीमियर लीग के ऑफिशियल ब्रॉडकास्टर में एक्सपर्ट की भूमिका निभा रहे थे. 2008 में लीग की शुरुआत के वक्त वह चेन्नई सुपरकिंग्स के पहले ऑपरेशंस डायरेक्टर थे और तब टीम के अधिकतर खिलाड़ियों को चेन्नई सुपरकिंग्स से जोड़ने में उनकी अहम भूमिका थी. उन्होंने तीन साल तक चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए काम किया.

81 मैचों में 4999 रन
वीबी चंद्रशेखर ने अपने करियर में 81 फर्स्ट क्लास मैच खेले और इनमें 43.09 की शानदार औसत से 4999 रन बनाए. इनमें दस शतक और 23 अर्धशतक भी शामिल हैं. उन्होंने 1988 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी. इसके दो साल बाद उन्होंने हैमिल्टन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना आखिरी वनडे मैच खेला. 57 साल के चंद्रशेखर ने गोवा के लिए केरल के खिलाफ नाबाद 237 रन की पारी खेली थी. उन्हें भारत के आक्रामक ओपनरों में गिना जाता है. वे 1987 में रणजी ट्रॉफी जीतने वाली तमिलनाडु टीम के सदस्य ‌थे.

cricket, bcci, vb chandrashekhar, indian cricket team, क्रिकेट, बीसीसीआई, वीबी चंद्रशेखर, भारतीय क्रिकेट टीम, वीबी चंद्रशेखर आत्महत्या, वीबी चंद्रशेखर सुसाइड
माना जाता है कि महेंद्र सिंह धोन समेत कई खिलाड़ियों को चेन्नई सुपरकिंग्स से जोड़ने में वीबी चंद्रशेखर की अहम भूमिका थी. (फाइल फोटो)


सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड बनाया था, 31 साल तक कायम रहा, ऋषभ पंत ने किया ध्वस्त
वीबी चंद्रशेखर उस समय बेहद आक्रामक क्रिकेट खेलने के लिए जाने जाते ‌‌थे. यहां तक कि उन्होंने 1988-89 के रणजी सत्र में क्रिस श्रीकांत का रिकॉर्ड तोड़ते हुए महज 56 गेंदों पर शतक बनाकर सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड कायम किया था. हालांकि बाद में 2016 में ऋषभ पंत ने 48 गेंद पर शतक लगाकर इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

चयनकर्ता से कमेंटेटर तक
वीबी चंद्रशेखर टीम इंडिया के चयनकर्ता भी रह चुके हैं. इसके अलावा उन्होंने बतौर कमेंटेटर भी क्रिकेट के क्षेत्र में अपना योगदान दिया है.  पूर्व भारतीय क्रिकेटर और तमिलनाडु के कप्तान एस. बद्रीनाथ ने कहा कि मैं कुछ दिन पहले ही उनसे मिला था. वह पूरी तरह ठीक दिख रहे थे. मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा कि वो अब हमारे बीच नहीं हैं.

Ashes : पहले दिन ऑस्ट्रेलिया का दबदबा, हेजलवुड की दमदार वापसी

ये भी पढ़ें: वेस्टइंडीज से आई बुरी खबर, इस स्पिनर का हुआ निधन


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 9:29 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...