होम /न्यूज /खेल /

भारतीय क्रिकेटर ने कार हादसे में बेटी को खोया था, अब खुद लड़ रहे मौत से जंग

भारतीय क्रिकेटर ने कार हादसे में बेटी को खोया था, अब खुद लड़ रहे मौत से जंग

पूर्व भारतीय लेग स्पिनर नरेंद्र हिरवानी के साथ विजय यादव. (PC- Vijay yadav instagram)

पूर्व भारतीय लेग स्पिनर नरेंद्र हिरवानी के साथ विजय यादव. (PC- Vijay yadav instagram)

कपिल देव के साथ खेल चुके पूर्व भारतीय क्रिकेटर विजय यादव मौत से जंग लड़ रहे हैं. उनकी दोनों किडनी पूरी तरह से खराब हो चुकी है और फिलहाल वो डायलिसिस पर हैं. उनकी मदद के लिए इंडियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन आगे आया है. बता दें कि विजय ने भारत के लिए 1 टेस्ट और 19 वनडे खेले थे.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. पूर्व भारतीय विकेटकीपर विजय यादव इस वक्त जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं. उनकी किडनी पूरी तरह से खराब हो गई है. 55 साल के विजय ने भारत के लिए 19 वनडे और 1 टेस्ट खेला था. अभी वो पूरी तरह से डायलिसिस पर निर्भर हैं और उन्हें ठीक होने के लिए किडनी ट्रांसप्लांट की जरूरत है. इस बीच, इंडियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन उनके इलाज के लिए फंड जुटाने की कोशिश कर रहा है. इस पूर्व भारतीय क्रिकेटर को पहले भी दो बार दिल का दौरा पड़ चुका है.

विजय यादव ने 1992 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे डेब्यू किया था. हालांकि, उन्हें पहले अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिला. उन्होंने मार्च 1993 में जिम्बाब्वे के खिलाफ इकलौता टेस्ट खेला था. भारत को वो टेस्ट पारी और 13 रन से जीता था. इस मैच की पहली पारी में विजय ने 30 रन बनाए थे और एक मैच के साथ 2 स्टम्पिंग भी की थी. हालांकि, इसके बाद उन्हें टेस्ट खेलने का मौका ही नहीं मिला. विजय का इंटरनेशनल करियर सिर्फ दो साल लंबा चला. उन्होंने 1992 से 1994 के बीच भारत के लिए 19 वनडे खेले. विजय ने 19 वनडे में 118 रन बनाए.

विजय यादव का फर्स्ट क्लास में दमदार रिकॉर्ड
विजय यादव टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कपिल देव के साथ हरियाणा के लिए घरेलू क्रिकेट खेले हैं. 1991 में हरियाणा ने रणजी ट्रॉफी जीती थी. तब वो हरियाणा टीम के अहम सदस्य रहे थे. उनका फर्स्ट क्लास रिकॉर्ड शानदार रहा है. उन्होंने 89 मैच में 36.25 औसत से 3988 रन बनाए थे. इस दौरान इस विकेटकीपर बल्लेबाज 7 शतक और 23 अर्धशतक लगाए थे.

इंडिया-ए के कोच भी रहे
विजय 2017 में राहुल द्रविड़ के साथ इंडिया-ए टीम के कोचिंग स्टाफ में थे. तब विजय टीम के फील्डिंग कोच थे. वो इंडिया-ए के साथ कई देश के दौरों पर भी गए थे.

IPL 2022: धोनी के साथी गेंदबाज ने 3 मैच में ही बढ़ाया RCB का ‘जोश’, बना टीम की जीत की गारंटी

IPL 2022: उमरान मलिक कैसे बन सकते हैं और खतरनाक गेंदबाज? सुनील गावस्कर ने दी बड़ी सलाह

कार हादसे में बेटी को खोया था
क्रिकेट से इतर, निजी जीवन में भी विजय यादव को किस्मत का साथ नहीं मिला. कई साल पहले फरीदाबाद में हुए एक कार हादसे में वो तो बाल-बाल बच गए थे. लेकिन उनकी बेटी की मौत हो गई थी. बेटी को गंवाने के दुख से उबरने के बाद उन्होंने दोबारा क्रिकेट मैदान पर वापसी की. लेकिन इस बार खिलाड़ी नहीं, बल्कि कोच के रोल में वो लौटे. वो लंबे वक्त से फरीदाबाद में क्रिकेट एकेडमी चला रहे हैं और भारत और चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने वाले तेज गेंदबाज मोहित शर्मा यहीं से निकले थे.

Tags: Cricket news, Team india

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर