Home /News /sports /

सेलेक्शन पॉलिसी पर भड़के अफरीदी, बोले- PSL के आधार पर मिल जा रहा पाकिस्तान टीम में मौका

सेलेक्शन पॉलिसी पर भड़के अफरीदी, बोले- PSL के आधार पर मिल जा रहा पाकिस्तान टीम में मौका

शाहिद अफरीदी ने सीमित ओवर की पाकिस्तान टीम में खिलाड़ियों को बार-बार बदलने की आलोचना की.(Instagram)

शाहिद अफरीदी ने सीमित ओवर की पाकिस्तान टीम में खिलाड़ियों को बार-बार बदलने की आलोचना की.(Instagram)

पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan cricket Team) के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी(Shahid Afridi) ने टीम की मौजूदा सेलेक्शन पॉलिसी पर सवाल खड़े किए हैं. उनका मानना है कि घरेलू क्रिकेट में दो-तीन सीजन बिताने के बाद ही किसी खिलाड़ी को राष्ट्रीय टीम में मौका दिया जाना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan cricket Team) के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने टीम की मौजूदा सेलेक्शन पॉलिसी पर सवाल खड़े किए. उनका मानना है कि अब किसी भी खिलाड़ी के लिए राष्ट्रीय टीम के लिए खेलना आसान हो गया है. जबकि खिलाड़ियों को घरेलू क्रिकेट में कम से कम दो सत्र बिताने के बाद ही टीम में मौका दिया जाना चाहिए.

    एक कार्यक्रम में अफरीदी ने टेस्ट और लिमिटेड ओवर क्रिकेट के लिए राष्ट्रीय टीम चुनने की नीति को आड़े हाथ लिया. उन्होंने कहा कि आज घरेलू क्रिकेट में कुछ मैच खेलने के बाद खिलाड़ियों को सीधे राष्ट्रीय टीम में चुना जा रहा है. लेकिन जिस तेजी से वो टीम में आते हैं, उतनी ही तेजी से गायब भी हो जाते हैं. इसी वजह से पाकिस्तान टीम के प्रदर्शन में निरंतरता का अभाव है.

    सेलेक्शन पॉलिसी में सुधार होना चाहिए: अफरीदी
    पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने आगे कहा कि अतीत में राष्ट्रीय टीम में जगह बनाना ही हर क्रिकेटर का सपना होता था. लेकिन अब ऐसा नहीं है. घरेलू क्रिकेट के कुछ मैचों में प्रदर्शन के दम पर ही खिलाड़ी पाकिस्तान टीम का टिकट कटा रहे हैं. उनका मानना है कि सेलेक्शन पॉलिसी में बदलाव होना चाहिए और घरेलू क्रिकेट में दो-तीन सीजन बिताने के बाद ही राष्ट्रीय टीम में किसी खिलाड़ी को मौका देने पर विचार होना चाहिए.

    घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन के आधार पर मौका मिले
    अफरीदी ने कहा कि हमने खिलाड़ियों के लिए अपने देश का प्रतिनिधित्व करना इतना आसान क्यों बना दिया है?. मुझे यह देखकर दुख होता है कि एक खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट या पीएसएल के इक्का-दुक्का मैच में अच्छा प्रदर्शन करता है और उसे इसी आधार पर पाकिस्तान टीम में मौका मिल जाता है. ये तरीका सही नहीं है. चयनकर्ताओं को गेंदबाजों और बल्लेबाजों की प्रतिभा, स्वभाव और दबाव का सामना करने की क्षमता का आकलन करने से पहले उन्हें कम से कम दो से तीन साल तक घरेलू क्रिकेट में खेलने देना चाहिए.

    यह भी पढ़ें : Happy Birthday MS Dhoni: धोनी को चोट की झूठी खबर फैलाकर दिया गया था मौका, कैसे टीम इंडिया में पहुंचे?

    Happy Birthday MS Dhoni: एमएस धोनी का 7 नंबर से क्या है कनेक्शन, इंटरनेशनल क्रिकेट में कैसे मिला जर्सी नंबर 7

    'एक-दो मैच के आधार पर टीम में सेलेक्शन न हो'
    उन्होंने चयनकर्ताओं और कोच के लिए भी कहा कि किसी भी खिलाड़ी को सिर्फ एक-दो मैच में खराब प्रदर्शन के आधार पर टीम से बाहर नहीं करना चाहिए. अफरीदी के कहा कि अगर आप किसी खिलाड़ी को मौका देते हैं और वह प्रदर्शन नहीं करता है, तो उसे घरेलू क्रिकेट में वापस भेज दिया जाना चाहिए. पाकिस्तान के लिए खेलना इतना आसान मत बनाओ. खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का मूल्य पता होना चाहिए. मैं सिर्फ एक-दो मैच के आधार पर टीम में मौका पाने वाले खिलाड़ियों के खिलाफ हूं.undefined

    Tags: Cricket news, Paksitan cricket, Pcb, Shahid afridi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर