लाइव टीवी

सरफराज अहमद को कप्‍तानी से हटाने पर तुले पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान, कह दी ये कड़ी बात

भाषा
Updated: September 20, 2019, 8:27 PM IST
सरफराज अहमद को कप्‍तानी से हटाने पर तुले पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान, कह दी ये कड़ी बात
पाकिस्तान टीम वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच सकी थी.

शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) ने मीडिया से कहा कि सरफराज को एकदिवसीय और टी20 टीमों का कप्तान बनाये रखना फैसला सही है लेकिन वह टेस्ट मैचों के लिए उपयुक्त कप्तान नहीं है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 20, 2019, 8:27 PM IST
  • Share this:
कराची: पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व कप्तानों शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) और जहीर अब्बास (Zaheer Abbas) का मानना है कि सरफराज अहमद (Sarfaraz Ahmed) को टेस्ट टीम की कप्तानी नहीं करनी चाहिए हालांकि वह सीमित ओवरों के प्रारूप में यह जिम्मेदारी संभालना जारी रख सकते हैं. अफरीदी ने मीडिया से कहा कि सरफराज को एकदिवसीय और टी20 टीमों का कप्तान बनाये रखना फैसला सही है लेकिन वह टेस्ट मैचों के लिए उपयुक्त कप्तान नहीं है.

2017 से कप्‍तान हैं सरफराज
सरफराज ने मिस्बाह-उल-हक के संन्यास के बाद 2017 के बाद से तीनों प्रारूपों में पाकिस्तान का नेतृत्व किया है लेकिन टेस्ट में उन्हें आलोचना का सामना करना पड़ा जहां टीम आईसीसी रैंकिंग में 7वें स्थान पर खिसक गई है. अफरीदी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि सरफराज अगर टेस्ट में टीम का नेतृत्व नहीं करते हैं तो उनके लिए अच्छा होगा. मेरा मानना है कि तीनों प्रारूपों में कप्तानी करना उनके लिए बड़े बोझ की तरह है. उनके पास सीमित ओवर के प्रारूपों में एक सफल कप्तान बनने की काबिलियत है.’

shahid afridi, shahid afridi jammu kashmir, afridi kashmir, kashmir special status, शाहिद अफरीदी, जम्‍मू कश्‍मीर, कश्‍मीर आर्टिकल 370
शाहिद अफरीदी.


'ढंग से कप्‍तानी नहीं कर पा रहे सरफराज'
पूर्व दिग्गज जहीर अब्बास ने भी ऐसी ही राय व्यक्त की. उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि वह तीनों प्रारूपों में कप्तानी के दबाव का ठीक से प्रबंधन कर पा रहे हैं. सरफराज को सिर्फ एकदिवसीय और टी20 प्रारूपों में यह जिम्मेदारी सौपी जानी चाहिए.'

मिस्‍बाह को कोच व चयनकर्ता बनाने पर भी सवालउन्होंने मिस्बाह को कोच और चयनकर्ता की दोहरी भूमिका दिए जाने की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें शीर्ष स्तर पर कोचिंग का अनुभव नहीं है. अब्बास ने कहा, ‘मुझे लगता है इससे मिस्बाह पर काफी दबाव बनेगा क्योंकि उसके पास शीर्ष स्तर की कोचिंग का अनुभव भी नहीं है.'

बता दें कि वर्ल्‍ड कप 2019 में पाकिस्‍तान के सेमीफाइनल में पहुंचने पर नाकाम रहने के बाद कोचिंग और चयन समिति में बदलाव किया गया है. कोच मि‍की आर्थर और मुख्‍य चयनकर्ता इंजमाम उल हक का काम मिस्‍बाह को ही सौंप दिया गया है.

प्रियांक पांचाल ने फिर जड़ा शतक, कब मिलेगी टीम इंडिया में जगह

एमएस धोनी क्रिकेट छोड़ दें इससे पहले कि उन्‍हें निकाल दिया जाए: सुनील गावस्‍कर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 20, 2019, 8:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर