इन दिग्गज खिलाड़ियों को मिल सकता है भारतीय कोच बनने का मौका

वर्ल्डकप में लगातार दूसरी बार सेमीफइनल में पहुंचकर बाहर होने के कारण बीसीसीआई ने हेड कोच और सपोर्ट स्टाफ का करार नहीं बढ़ाने का फैसला किया है.

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 6:08 PM IST
इन दिग्गज खिलाड़ियों को मिल सकता है भारतीय कोच बनने का मौका
भारतीय टीम के नए कोच की खोज शुरू होने वाली है. (bcci()
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 6:08 PM IST
2019 के आईसीसी क्रिकेट वर्ल्डकप के सेमीफाइनल में बाहर हो जाने के बाद टीम इंडिया में कुछ बड़े फेरबदल होने वाले हैं. वर्ल्डकप में लगातार दूसरी बार सेमीफइनल में पहुंचकर बाहर होने के कारण बीसीसीआई ने हेड कोच और सपोर्ट स्टाफ का करार नहीं बढ़ाने का फैसला किया है. इसके साथ ही बीसीसीआई ने नए कोच और सपोर्ट स्टाफ के लिए आवेदन मंगवाए हैं जिसके पैमाने बहुत कड़े हैं. ऐसे में एक नज़र उन दावेदारों पर, जो इन पैमानों का पालन करते हुए हेड कोच के दावेदार हो सकते हैं

गैरी कर्स्टन: 2011 में टीम इंडिया को उसका दूसरा वर्ल्डकप जिताकर इतिहास रचने वाले गैरी कर्स्टन टीम इंडिया के हेड कोच के प्रमुख दावेदार हो सकते हैं. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा तय किए गए पैमानों पर भी कर्स्टन खरे उतरते हैं. टीम इंडिया के साथ-साथ कर्स्टन के बोर्ड से भी अच्छे रिश्ते हैं और इसकी संभावना बहुत ज़्यादा है कि कर्स्टन को दोबारा कोच बनाया जा सकता है. कर्स्टन की उम्र 51 साल है और उन्हें 101 टेस्ट और 185 वनडे मैचों का अनुभव है. फिलहाल वे आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के हेड कोच हैं.



टॉम मूडी: पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ऑल-रॉउंडर मूडी की सबसे बड़ी ताकत उनका अनुभव है. महज़ 53 साल के मूडी पिछले 18 सालों से कोचिंग कर रहे हैं. इसके अलावा उन्हें बतौर खिलाड़ी, 8 टेस्ट और 76 वनडे खेलने का अनुभव है. अंतररार्ष्ट्रीय क्रिकेट में मूडी ने श्रीलंका के हेड कोच की भूमिका निभाते हुए टीम को 2007 के वर्ल्डकप फाइनल में पहुंचाया था. इसके अलावा वे 2012 से आईपीएल में सनराइज़र्स हैदराबाद के मुख्य कोच हैं. सनराइज़र्स ने 2016 का आईपीएल खिताब उन्हीं के नेतृत्व में अपने नाम किया था.

टॉम मूडी सनराइजर्स हैदराबाद के कोच हैं (ap)
टॉम मूडी सनराइजर्स हैदराबाद के कोच हैं (ap)


महेला जयवर्धने: अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में 600 से ज़्यादा मैच और लगभग 25,000 रनों के अनुभव के साथ जयवर्दने क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ियों में से एक हैं. लेकिन उनकी सफलता की कहानी सिर्फ उनके खेल तक सीमित नही है. जयवर्दने पिछले तीन साल से आईपीएल में मुंबई इंडियंस के कोच हैं. इतने कम समय में महेला ने मुंबई को दो आईपीएल खिताब दिला दिए हैं. ऐसे में वे भारतीय टीम के हेड कोच की भूमिका में फिट बैठते हैं. उनकी उम्र महज़ 42 वर्ष है और इसी वजह से टीम के युवा खिलाड़ी भी उनके साथ सहज महसूस करते हैं.

श्रीलंका के दिग्गज बल्लेबाज महेला जावर्धने भी कोच की रेस में है
श्रीलंका के दिग्गज बल्लेबाज महेला जयवर्धने भी कोच की रेस में है

Loading...

बीसीसीआई ने तय किए कड़े पैमाने

दरअसल, वर्ल्डकप में टीम इंडिया के बाहर हो जाने के कारण ना सिर्फ टीम के प्रदर्शन पर. बल्कि बोर्ड पर भी काफी सवाल उठाए गए थे. इसी के चलते बीसीसीआई ने भारतीय कोच और सपोर्ट स्टाफ का करार ना बढ़ाते हुए सभी प्रमुख पदों पर आवेदन मांगे हैं. हेड कोच चुनने के लिए बीसीसीआई ने जो पैमाने तय किए हैं उनके मुताबिक़, मुख्य कोच की उम्र 60 से कम होनी चाहिए, साथ ही टेस्ट खेलने वाले देश को न्यूनतम दो साल कोचिंग देने का अनुभव हो, इसके अलावा असोसिएट सदस्य/ए टीम/आईपीएल टीम को तीन साल कोचिंग देने का अनुभव होना चाहिए. आवेदक ने 30 टेस्ट या 50 वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हों.

वर्ल्ड कप छोड़ विंबलडन देखने गए रहाणे, फैंस ने कहा- क्रिकेट याद कर रहा है आपको

धोनी के संन्यास की खबरों ने दुखाया माता-पिता का दिल, कहा-छोड़ दें क्रिकेट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 5:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...