कोहली को किया था दो बार आउट...अब लोगों की जान बचा रहा है वेस्टइंडीज का ये क्रिकेटर

2016 में एंटीगा की सबसे भीड़भाड़ वाली जगह लोअर सेंट जोंस की कॉलोनी में भीषण आग लग गई थी. इसमें 15 लोगों की मौत हो गई थी. इस हादसे ने वेस्टइंडीज के लेग स्पिनर एंथोनी मार्टिन (Anthony Martin) की जिंदगी बदलकर रख दी.

News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 10:55 AM IST
कोहली को किया था दो बार आउट...अब लोगों की जान बचा रहा है वेस्टइंडीज का ये क्रिकेटर
एंथोनी मार्टिन ने 2011 में भारत के खिलाफ चेन्नई में खेले गए वनडे में विराट कोहली को आउट किया था. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 23, 2019, 10:55 AM IST
टीम इंडिया और वेस्टइंडीज (India vs West Indies) के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज (Test Series) का पहला मुकाबला एंटीगा (Antigua) के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेला जा रहा है. हालांकि बहुत कम लोगों को पता होगा कि चार साल पहले एंटीगा को अपने इतिहास की सबसे भयावह हादसे का शिकार होना पड़ा था. तब एंटीगा की सबसे भीड़भाड़ वाली जगह लोअर सेंट जोंस की कॉलोनी में भीषण आग लग गई थी. इस हादसे में करीब 15 लोगों की मौत हो गई थी. ये वो लम्हा भी था, जिसने भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली को दो बार आउट करने वाले वेस्टइंडीज के लेग स्पिनर एंथोनी मार्टिन (Anthony Martin) की जिंदगी ही बदलकर रख दी.

इस हादसे ने बदल दी जिंदगी
साल 2011 में वेस्टइंडीज की टीम से निकाले जाने के बाद एंथोनी मा‌र्टिन ने अगले चार साल तक घरेलू क्रिकेट खेलना जारी रखा, लेकिन इसके बाद हुए आगजनी हादसे के बाद से उनकी जिंदगी ही बदल गई. दरअसल, एंथोनी मार्टिन क्रिकेट खेलने के अलावा एक फायर स्टेशन में भी काम करते थे. वह 20 साल की उम्र से 2002 में यहां काम कर रहे थे. एंटीगा में जब आग लगी तो उस समय मार्टिन का एक साथी छुट्टी पर था तब उन्हें बॉस का फोन आया. एंथोनी मार्टिन फायर इंजन ट्रक चलाने का काम करते थे और ऑपरेशन का हिस्सा नहीं होते थे, लेकिन उन्होंने बताया कि उस दिन मुझे ऑपरेशन का हिस्सा बनना पड़ा.  मैं खुश था कि मैं कुछ लोगों की जान बचाने में कामयाब रहा. मगर मैं ये देखकर कांप गया कि कुछ लोगों ने मेरे सामने ही जलते हुए दम तोड़ दिया. इसके बाद से ही मैंने सोचा कि मुझे लोगों की जिंदगियां बचाने पर फोकस करना चाहिए. इसके बाद से मैं अपने, अपने परिवार के प्रति और ज्यादा जिम्मेदार हो गया.

पहले बहुत आरामतलब इंसान था...

एंथोनी मार्टिन बताते हैं कि मैंने अपनी जिंदगी में कभी काम और खेल को गंभीरता से नहीं लिया. मैं हमेशा दोस्तों के साथ घूमने के लिए बहाने बनाया करता था. यहां तक कि क्रिकेट खेलने के दौरान भी नेट्स पर पांच ओवरों से ज्यादा लगातार गेंदबाजी नहीं करता था. मैं कोई भी काम समय पर नहीं करता था, लेकिन उस हादसे ने मेरी जिंदगी ही बदलकर रख दी. उस हादसे के बाद मैं कई रातों तक ठीक से सो तक नहीं सका. मैं रात को उठकर देखता था कि मेरे घर में सब ठीक है या नहीं. घर के बाहर भी निकलकर यही सब देखता रहता था.

cricket, virat kohli, anthony martin, india vs west indies, indian cricket team, क्रिकेट, विराट कोहली एंथोनी मार्टिन, इंडिया वस वेस्टइंडीज, भारतीय क्रिकेट टीम, वेस्टइंडीज लेग स्पिनर एंथोनी मार्टिन,

वेस्टइंडीज के पूर्व लेग स्पिनर एंथोनी मार्टिन ने अपने वनडे करियर में विराट कोहली को दो बार आउट किया है. (फाइल फोटो)एंथोनी मार्टिन (Anthony Martin) ने 25 साल की उम्र में 2008 में लीवार्ड आइलैंड के लिए डेब्यू किया. 2010-11 के इस सीजन में उन्होंने हैट्रिक के साथ अपनी टीम को फाइनल में पहुंचाया. टूर्नामेंट में उनकी 2.82 की इकोनॉमी रेट सर्वश्रेष्ठ रही. इस प्रदर्शन की बदौलत उन्हें आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 के लिए वेस्टइंडीज के संभावितों में जगह मिली. इसके बाद सुलेमान बेन (Suleman Benn) और निकिता मिलर (Nikita Miller) को बाहर किए जाने के बाद उन्हें 2011 में ही पाकिस्तान के खिलाफ घरेलू सीरीज में शामिल किया गया. पांच मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मुकाबले में उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका मिला.
Loading...

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, 2011 में ही एंटीगा में खेले गए वनडे में एंथोनी मार्टिन (Anthony Martin) ने भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को पवेलियन की राह दिखाई. कोहली उनकी गेंद पर आगे बढ़कर खेलना चाहते थे और इसी कोशिश में स्टंप आउट हो गए. कोहली से पहले ही एंथोनी मार्टिन रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और सुरेश रैना (Suresh Raina) के विकेट भी ले चुके थे. मार्टिन कहते हैं कि अब मैं अपने पोते-पोतियों को कह सकता हूं कि मैंने भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज का विकेट लिया है. इस मैच में वेस्टइंडीज ने इंडिया को 103 रन से हराया और चार विकेट लेने वाले एंथोनी मार्टिन मैन ऑफ द मैच चुने गए. उन्हें ये पुरस्कार अपने हीरो विव रिचर्ड्स के हाथों मिला.

cricket, virat kohli, anthony martin, india vs west indies, indian cricket team, क्रिकेट, विराट कोहली एंथोनी मार्टिन, इंडिया वस वेस्टइंडीज, भारतीय क्रिकेट टीम, वेस्टइंडीज लेग स्पिनर एंथोनी मार्टिन,

एंथोनी मार्टिन ने अपने वनडे करियर में 9 मैचों में 11 विकेट लिए हैं. भारत के खिलाफ एक वनडे में चार विकेट भी शामिल हैं. (फाइल फोटो)फिर भी निकाल दिए गए टीम से
मगर वह सुनहरे दिन अधिक लंबे समय तक नहीं चल सके और एंथोनी ने इसके बाद चार और मुकाबले खेले. इनमें उसी साल दिसंबर में भारत के खिलाफ चेन्नई में खेला गया वनडे उनके करियर का आखिरी अंतरराष्ट्रीय वनडे साबित हुआ. हालांकि इस मैच में भी उन्होंने विराट कोहली को लांग ऑन पर कैच आउट कराया. अपने नौ वनडे मैचों के करियर में उन्होंने 26 की औसत और चार की इकोनॉमी रेट से 11 विकेट लिए. इसके बाद उन्हें टीम में कभी जगह नहीं मिली, लेकिन इस सवाल का जवाब उन्हें अभी तक नहीं मिल सका. इस बारे में एंथोनी मार्टिन कहते हैं कि मैं नहीं जानता कि मुझे टीम से क्यों निकाल दिया गया.एक वक्त था जब मैंने इस सवाल का जवाब तलाशने की काफी कोशिश की, लेकिन अब मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.

'विराट-शास्‍त्री के चलते टीम में नहीं मिली रोहित-अश्विन को जगह', अजिंक्य रहाणे ने किया खुलासा! 
वेस्टइंडीज के खिलाफ 60 विकेट, 50 से ज्यादा की बल्लेबाजी औसत फिर भी पानी पिला रहे हैं अश्विन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 10:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...