IPL 2021: कभी मजदूरी करके बनाई थी पिच, जानिए रवि बिश्नोई से उनके संघर्ष और सफलता की कहानी

लेग स्पिनर रवि बिश्नोई को पिछले साल पंजाब किंग्स (Punjab Kings) ने 2 करोड़ रुपए में खरीदा था. उन्होंने अपने पहले आईपीएल में 14 मैच में 12 विकेट लिए थे. (Punjab Kings/Twitter)

लेग स्पिनर रवि बिश्नोई को पिछले साल पंजाब किंग्स (Punjab Kings) ने 2 करोड़ रुपए में खरीदा था. उन्होंने अपने पहले आईपीएल में 14 मैच में 12 विकेट लिए थे. (Punjab Kings/Twitter)

20 साल के लेग स्पिनर रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) इस साल आईपीएल में पंजाब किंग्स (Punjab Kings) की तरफ से खेलेंगे. पिछले आईपीएल में रवि ने 14 मैच में 12 विकेट हासिल किए थे. इस सीजन में भी उन्हें पिछला प्रदर्शन दोहराने की उम्मीद है.

  • Share this:
नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) ऐसा प्लेटफॉर्म है, जहां युवा खिलाड़ियों को मौका मिलता है. राजस्थान के 20 साल के लेग स्पिनर रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) भी इन युवा खिलाड़ियों में से एक हैं. रवि का जोधपुर में ट्रेनिंग के लिए मजदूरी करने से आईपीएल का कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने तक का सफर हर उभरते खिलाड़ी के लिए प्रेरणादायक है. वो पिछले साल अंडर-19 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे. इसी प्रदर्शन के बाद उन्हें पंजाब किंग्स (पहले किंग्स इलेवन पंजाब) ने आईपीएल नीलामी में दो करोड़ की मोटी रकम देकर टीम के साथ जोड़ा था.

इस लेग स्पिनर ने यू-ट्यूब चैनल स्पोर्ट्स यारी को दिए इंटरव्यू में पंजाब किंग्स की तरफ से खेलने का मौका मिलने से लेकर यहां तक आने के सफर में आई तकलीफों पर खुलकर बात की. रवि ने खुलासा किया कि उनके परिवार में कोई भी इस खेल से जुड़ा नहीं था. आर्थिक हालात भी ऐसे नहीं थे कि किसी क्लब में ट्रेनिंग ले पाएं. लेकिन खेल के लिए इतना जुनून था कि उसकी बदौलत ही वो यहां तक पहुंचे.

पिच बनाने के लिए मजदूरी की: रवि बिश्नोई

अपने संघर्ष के शुरुआती दिनों को याद करते हुए बिश्नोई ने ने कहा कि नाकामी आपकी तरक्की की राह का अहम हिस्सा है. लेकिन जब आपको मौका मिल जाए तो फिर उसे बर्बाद न होने दें और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें. उन्होंने बताया कि अपने सपने को सच करने के लिए मैंने जोधपुर में अपने कोच प्रद्योत सिंह राठौर और शाहरुख पठान के साथ मिलकर स्पार्टन नाम से एक क्रिकेट एकेडमी शुरू की थी. पैसे नहीं होने की वजह से एकेडमी की पिच और बाकी सुविधाएं जुटाने के लिए मैं और मेरे कई साथी सीमेंट की बोरी से लेकर ईंट तक उठाते थे. मुझे आज भी याद है कि मैंने बारहवीं की बोर्ड परीक्षा पर राजस्थान रॉयल्स के ट्रायल्स को तरजीह दी. मैं रिजेक्ट हो गया, लेकिन कोशिश नहीं छोड़ी.
कप्तान केएल राहुल और कोच कुंबले ने आत्मविश्वास बढ़ाया

पिछले आईपीएल में पहली बार पंजाब की ओर से खेलने वाले बिश्नोई ने अपने कप्तान केएल राहुल की भी तारीफ की. उन्होंने कहा कि जब सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ डेब्यू मैच में मैंने पार्टनरशिप तोड़ी और एक ही ओवर में दो विकेट लिए तो पूरी टीम ने मेरी तारीफ की. खासतौर पर कप्तान राहुल हमेशा सपोर्ट करते हैं. इतना ही नहीं, इस लेग स्पिनर ने पंजाब के कोच अनिल कुंबले और अंडर-19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ से मिली टिप्स को भी अहम बताया. उन्होंने कहा कि इन दोनों की वजह से ही मेरा आत्मविश्वास बढ़ा और मैं नेट्स में क्रिस गेल, निकोलस पूरन और केएल राहुल जैसे बल्लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी कर पाया. मुझे लगा कि जब मैं नेट्स पर इन जैसे दिग्गज बल्लेबाजों को रोक सकता हूं तो फिर मैदान पर भी किसी भी बल्लेबाज को दबाव में ला सकता हूं.

पिछले आईपीएल में बिश्नोई ने 12 विकेट लिए थे



इस साल के आईपीएल को लेकर रवि ने कहा कि डेविड मलान, झाय रिचर्डसन और शाहरुख खान जैसे खिलाड़ियों के जुड़ने के बाद टीम की ताकत बढ़ गई है और संतुलन अच्छा हो गया है. पिछले सीजन के 14 मैच में 12 विकेट लेने वाले इस गेंदबाज ने कहा कि मैं इस बार भी खुद को साबित करना चाहूंगा और टीम की जीत में अपना योगदान दूंगा. मुझे विश्वास है कि इस बार भाग्य हमारे साथ रहेगा और पंजाब आईपीएल का खिताब जीतने में सफल रहेगा.

पंजाब किंग्स इस साल आईपीएल में अपना पहला मैच 12 अप्रैल को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज