इंडिया के 'लसिथ मलिंगा' ने 15 रन देकर लिए 5 विकेट, आखिरी ओवर में टीम को बनाया चैंपियन

डिंडीगुल ड्रैगन्स (Dindigul Dragons) को रोमांचक फाइनल में 12 रन से हराकर चेपक सुपर गिलीज (Chepauk Super Gillies) ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग (Tamilnadu Premier League) का खिताब अपने नाम किया.

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 10:10 AM IST
इंडिया के 'लसिथ मलिंगा' ने 15 रन देकर लिए 5 विकेट, आखिरी ओवर में टीम को बनाया चैंपियन
जी पेरियास्वामी ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग के फाइनल में 15 रन देकर पांच विकेट अपने नाम किए. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 10:10 AM IST
तमिलनाडु प्रीमियर लीग (Tamilnadu Premier League) का खिताब डिंडीगुल ड्रैगन्स (Dindigul Dragons) के खिलाफ बेहद रोमांचक मुकाबले के बाद चेपक सुपर गिलीज (Chepauk Super Gillies) ने 12 रन से जीत दर्ज कर अपने नाम कर लिया है. मुकाबला आखिरी ओवर तक गया. फाइनल में पहले खेलते हुए चेपक सुपर गिलीज (Chepauk Super Gillies) ने 8 विकेट खोकर 126 रन बनाए. जवाब में डिंडीगुल ड्रैगन्स (Dindigul Dragons) की टीम 9 विकेट पर 114 रन ही बना सकी. मगर इस पूरे मुकाबले में जिस एक खिलाड़ी ने अपने प्रदर्शन से सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरीं, वो इंडिया के लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) यानी जी पेरियास्वामी (G Periyaswamy) रहे, जिन्होंने मैच में चार ओवरों में महज 15 रन देकर पांच विकेट अपने नाम किए.

श्रीलंकाई तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा जैसे एक्‍शन से गेंद फेंकने वाले जी. पेरियास्वामी का आखिरी ओवर देखकर खुद मलिंगा को भी गर्व महसूस होता. दरअसल डिंडीगुल ड्रैगन्स को आखिरी ओवर में जीत के लिए 15 रन की दरकार थी जबकि उसके चार विकेट शेष थे. कप्तान ने पेरियास्वामी को गेंद थमाई और उन्होंने निराश भी नहीं किया.

मलिंगा की तरह जबरदस्त यॉर्कर फेंकने वाले पेरियास्वामी के इस ओवर में महज 2 रन बने और उन्होंने विपक्षी टीम के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया. और इस तरह उनकी टीम ने 12 रनों से यह मुकाबला जीतकर खिताब पर भी कब्जा जमा लिया. इससे पहले, अपने तीसरे ओवर में भी पेरियास्वामी ने 6 ही रन खर्च किए थे.

Loading...







लीग के सबसे सफल गेंदबाज
चेपक सुपर गिलीज के तेज गेंदबाज जी पेरियास्वामी सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में शीर्ष पर रहे. लीग के इस सत्र में उन्होंने 9 मैचों में सर्वाधिक 21 विकेट लिए. इस सूची में दूसरे नंबर पर मदुरई पैंथर्स के किरण आकाश रहे, जिन्होंने 17 विकेट चटकाए.

अश्विन नहीं खेले फाइनल
डिंडीगुल ड्रैगन्स के नियमित कप्तान और टीम इंडिया के स्पिनर आर अश्विन (Ravichandran Ashwin) इस मुकाबले में नहीं खेले. ऐसे में दारोमदार टीम के सबसे सफल खिलाड़ी विकेटकीपर बल्लेबाज नारायण जगदीशन (Narayan Jagdeeshan) पर था, जिन्होंने अहम मौके पर निराश किया.

पेरियास्वामी रहे एक्स फैक्टर 
मैच के बाद चेपक सुपर गिलीज के हेड कोच हेमांग बदानी ने कहा कि पेरियास्वामी बेहद विनम्र इंसान हैं और उन्हें अच्छा प्रदर्शन करे देखना सुखद है. उनके लिए यह सत्र शानदार रहा. वहीं, टीम के खिलाड़ी विजय शंकर ने कहा कि पेरियास्वामी हमारे लिए एक्स फैक्टर थे और उन्होंने जब भी टीम को जरूरत पड़ी, अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. इस सत्र में पेरियास्वामी ने श्रीलंकाई तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की तरह कई बेहतरीन यॉर्कर भी डालीं.

धोनी को चेन्नई सुपरकिंग्स में लाने वाले इंडिया के इस पूर्व ओपनर ने की खुदकुशी, बदहाली से थे परेशान

ये भी पढ़ें: वेस्टइंडीज से आई बुरी खबर, इस स्पिनर का हुआ निधन
First published: August 16, 2019, 10:10 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...