Home /News /sports /

कोच पर तकरार जारी, अब गंभीर बोले, कोच न बनाए जाने से हताश हो चुके हैं शास्त्री

कोच पर तकरार जारी, अब गंभीर बोले, कोच न बनाए जाने से हताश हो चुके हैं शास्त्री

गंभीर ने कहा कि शास्त्री इस बात को पचा ही नहीं पा रहे हैं कि उन्हें कोच का पद नहीं मिला।

गंभीर ने कहा कि शास्त्री इस बात को पचा ही नहीं पा रहे हैं कि उन्हें कोच का पद नहीं मिला।

गंभीर ने कहा कि शास्त्री इस बात को पचा ही नहीं पा रहे हैं कि उन्हें कोच का पद नहीं मिला।

    नई दिल्ली। अरसे से भारतीय टीम को एक अदद भारतीय कोच की तलाश थी और जब ये तलाश खत्म हुई तो टीम इंडिया में एक नया भूचाल आ गया। भारतीय टीम का कोच न चुने जाने पर रवि शास्त्री के तीखे बोल का पूर्व कप्तान सौरव गांगुली करारा जवाब दे चुके हैं लेकिन अब इस जंग में पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर भी कूद गए हैं।

    गौतम ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि रवि शास्त्री जिस तरीके से मीडिया में या इंटरव्यू के समय बयानबाजी कर रहे हैं वह साफ दर्शाता है कि वे कितने ज्यादा हताश हैं। उन्होंने आगे कहा कि शास्त्री इस बात को पचा ही नहीं पा रहे हैं कि उन्हें कोच का पद नहीं मिला।  मुझे लगता है भारतीय टीम के कोच के लिए सबसे प्रोफेशनल और सबसे उपयुक्त इंसान अनिल कुंबले ही थे।   बीसीसीआई ने जिस तरीके से कोच को चुनने की प्रक्रिया अपनाई थी  उसमें कुंबले एकदम मुफीद उम्मीदवार हैं।

    उन्होंने आगे कहा कि शास्त्री हमेशा इस बात का दम भरते हैं कि उनके कार्यकाल में भारतीय टीम ने जबरदस्त सफलता हासिल की। मगर वे कभी दक्षिण अफ्रीका से घर पर हारी हुई सीरीज या बांग्लादेश से पराजय के बारे में बात नहीं करते। उनके कार्यकाल में भारत ने  दो विश्व कप खेले जिसमें से एक तो भारत की सरजमीं पर ही खेला गया था,  और इसम विश्व कप में भारत सिर्फ सेमीफाइनल तक ही जगह बना पाया।

    उऩ्होंने आगे कहा कि वे साबित करने की कोशिश कर रहे हैं कि उनके कार्यकाल में टीम इंडिया टी 20 और टेस्ट क्रिकेट में शीर्ष तक पहुंचने में कामयाब रही है। लेकिन देखा जाए तो न ही हम विदेशी धरती पर कोई सीरीज जीतने में कामयाब रहे और न ही कोई बड़ा टूर्नामेंट जीत पाए  तो अगर रवि के कार्यकाल को देखा जाए तो भारत का प्रदर्शन केवल औसत ही रहा है।

    गौरतलब है कि भारतीय टीम का कोच न बनाए जाने पर शास्त्री ने पूर्व कप्तान और सेलेक्शन कमिटी के सदस्य सौरव गांगुली को आड़े हाथों लेते हुए उन पर निजी हमले किए थे जिसका गांगुली ने माकूल जवाब दिया था। गांगुली के समर्थन में गौतम गंभीर के अलावा पूर्व बल्लेबाज संजय मांजरेकर भी आ चुके हैं।

    Tags: Anil Kumble, Ravi shastri, Saurav ganguly

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर