फैन्स के नाम गंभीर का संदेश, 'मुझे लगा कि मैं हार रहा हूं, आपके प्यार ने मुझे दोबारा खड़ा किया'

गौतम गंभीर ने फेसबुक पर एक भावुक वीडियो शेयर करते हुए अपने संन्यास का ऐलान किया.

News18Hindi
Updated: December 4, 2018, 9:48 PM IST
फैन्स के नाम गंभीर का संदेश, 'मुझे लगा कि मैं हार रहा हूं, आपके प्यार ने मुझे दोबारा खड़ा किया'
(फाइल फोटो- गौतम गंभीर, Getty Image)
News18Hindi
Updated: December 4, 2018, 9:48 PM IST
टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. रिटायरमेंट की घोषणा करते हुए गंभीर ने ट्विटर और फेसबुक पर एक भावुक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के उतार और चढ़ाव के बारे में बताया है.

हिंदी में पढ़ें उनके संन्यास के ऐलान का वीडियो-

हाय फ्रैंड्स!
मेरे साथ वक्त बिताने के लिए आप सबका शुक्रिया. मैं आप सबसे यहां उन बातों को शेयर करना चाहता हूं जिनकी वजह से मैं हमेशा बेचैन रहा. एक बात जो हमेशा मेरे दिमाग में तैरती रही उसी तरह जैसे भारी वजन साथ रहता हो. एक विचार मुझे हमेशा परेशान करता रहा जिसकी वजह से मैं कई रातों तक परेशान रहा. यह उस तरह से था कि जैसे मुझे खराब डिनर मिल गया है.

(ये भी पढ़ेंक्रिकेट से रिटायर हुए गौतम गंभीर, ऐलान करते वक्त हुए भावुक)

मैं जहां भी जाता रहा मुझे एक विचार परेशान करता रहा. चाहे भारतीय टीम के लिए मैं खेल रहा था, चाहे आईपीएल टीम के साथ मुझे एज फैक्टर प्रेशर की तरह काम करता रहा. 2014 के आईपीएल के दौरान मुझे यही विचार हमेशा परेशान करता रहा. 2016 के दौरान मुझे घुटने में दिक्कत थी.

गौतम गंभीर का आईपीएल करियर भी खत्म, दिल्ली डेयरेविल्स ने किया बाहर!
Loading...

मुझे हर बार लगा कि इट्स ओवर गौती! लेकिन लोगों की बातें मेरे लिए स्टेरोइड की तरह काम करती रहीं.



मुझे एक वक्त लगा कि मैं अब हार रहा हूं लेकिन लोगों के प्यार ने मुझे दोबारा खड़ा किया और हर बार बेहतर बनाया. दिल्ली डेयर डेविल के वो 6 मैच लगातार मेरे बेहतर होने की सबूत थे. मैं गलत था.

15 साल के क्रिकेट करियर में मैंने कई बार असफलताओं का सामना किया, कई बार मैंने जीत हासिल की, कई बार चोटिल हुआ और कई सेंचुरी और हाफ सेंचुरी मारी. मैंने कुछ विकेट भी लिए. लेकिन इस खूबसूरत गेम से अब मैं संन्यास लेना चाहता हूं.

अपने अगले जन्म में भी मैं क्रिकेटर बनना चाहूंगा, देश के लिए कुछ शतक, कुछ विकेट्स और जीत मैं हासिल करना चाहूंगा.

मुझे एक वक्त लगा कि मैं अब हार रहा हूं लेकिन लोगों के प्यार ने मुझे दोबारा खड़ा किया और हर बार बेहतर बनाया. दिल्ली डेयर डेविल के वो 6 मैच लगातार मेरे बेहतर होने का इशारा था. मैं गलत था.

दोनों विश्वकपों में बेस्ट रनर्स में से एक रहा हूं. मैं सिर्फ आप सबके लिए विश्वकप जीतना चाहता था.

दोनों विश्वकपों में बेस्ट रनर्स में से एक रहा हूं. मैं सिर्फ आप सबके लिए विश्वकप जीतना चाहता था. मुझे लग रहा था कि कोई मेरी सफलता की स्क्रिप्ट लिख रहा है. लेकिन अब उसके कलम की स्याही खत्म हो गई है. लेकिन इस बीच उसने कुछ बेहद खूबसूरत चैप्टर लिखे. इनमें दुनिया की नंबर टेस्ट टीम का हिस्सा बनना सबसे अहम है. मैं जिस ट्राफी को बड़े प्यार से निहारता हूं वह 2009 में आईसीसी के वर्ष के टेस्ट बल्लेबाज के लिये मिली ट्राफी है.

गंभीर ने इंडियन क्रिकेट टीम, आईपीएल की टीम केकेआर और दिल्ली डेयरडेविल्स, दिल्ली रणजी टीम के अपने साथियों के साथ-साथ अपने कोचेज का भी शुक्रिया अदा किया. गंभीर ने बचपन के अपने कोच संजय भारद्वाज, पार्थसारथी शर्मा और आस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज जस्टिन लैंगर को भी शुक्रिया कहा.

वीडियो के लास्ट मिनट में जो गंभीर ने कहा वह दिल जीतने वाला रहा. गांभीर ने कहा,

'शुक्रिया नताशा! मेरी हिम्मत बनने के लिए. मैंने कहीं सुना है कि 'अ रिटायर्ड हस्बैंड इज अ वाइफ्स फुल टाइम जॉब. तो अपने इस नए असाइनमेंट के लिए तैयार रहना. अब मुझे खुद को क्रिकेट से अलग किसी और फील्ड में काम करने के लिए तैयार करना होगा. देखते हैं क्या होता है.'

फिलहाल मेरे सोचने की वजह है कि मेरी बड़ी बेटी अजीन को पीले रंग की ड्रेस खरीदनी है. मेरी छोटी बेटी अनाइजा अपनी गुड़ियों के साथ दोस्तों के साथ खेलना चाहती है.

गंभीर ने डीडीसीए, बीसीसीआई, और केकेआर का शुक्रिया अदा किया. उन्होंने आखिर में कहा,
'शुक्रिया केकेआर. मुझे एक लीडर के तौर पर स्थापित करने का एक मौका देने के लिए.'

Ranji में शर्मनाक तरीके से आउट हुए गौतम गंभीर, अब आ गया रिटायरमेंट का वक्त!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->