गौतम गंभीर ने बताया क्यों विराट कोहली से बेहतर बल्लेबाज हैं सचिन तेंदुलकर

गौतम गंभीर ने दिया बड़ा बयान
गौतम गंभीर ने दिया बड़ा बयान

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और विराट कोहली (Virat Kohli) भारत के सबसे कमयाब बल्लेबाज हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने लंबे करियर और खेल के नियमों में बदलाव का हवाला देकर एक दिवसीय प्रारूप में मौजूदा कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) पर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को तरजीह दी है . तेंदुलकर ने 463 वनडे खेलकर 49 शतक समेत 18426 रन बनाये . उन्होंने 2013 में वनडे क्रिकेट से संन्यास लिया था .दूसरी ओर कोहली ने 248 वनडे में 11867 रन बना लिये हैं जिनमें 43 शतक शामिल हैं .

गंभीर के लिए सचिन बड़े बल्लेबाज
गंभीर (Gautam Gambhir) ने स्टार स्पोटर्स के शो ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ पर कहा ,‘सचिन तेंदुलकर क्योंकि उन्होंने एक सफेद गेंद से खेला जब सर्कल के भीतर चार फील्डर होते थे . अब पांच रहते हैं . मैं तेंदुलकर को चुनूंगा .’

आजकल वनडे क्रिकेट में दो सफेद गेंद ली जाती है जबकि तीन पावरप्ले होते हैं . भारत की विश्व कप 2011 में खिताबी जीत के सूत्रधारों में रहे गंभीर का मानना है कि नियमों में बदलाव का बल्लेबाजों को फायदा मिला . उन्होंने कहा, ‘विराट कोहली का प्रदर्शन अच्छा रहा लेकिन मेरा मानना है कि नियमों में बदलाव का भी बल्लेबाजों को फायदा मिला है .’
गंभीर ने कहा ,‘नयी पीढ़ी को दो नयी गेंद खेलने को मिल रही है . रिवर्स स्विंग नहीं है और ना ही ऊंगलियों की स्पिन . पचास ओवर तक पांच फील्डर अंदर रहते हैं जिससे बल्लेबाजी आसान हो गई है.’ उन्होंने कहा कि लंबे कैरियर को देखते हुए भी वह तेंदुलकर को चुनेंगे .



गौतम गंभीर ने गेंद पर लार लगाने को लेकर दिया बयान
गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने आईसीसी (ICC) द्वारा गेंद पर लार के इस्तेमाल पर लगाई जाने वाली रोक पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है. गंभीर ने आईसीसी से अनुरोध किया है कि क्रिकेट में बैट और बॉल के बीच संतुलन बनाए रखने के लिए गेंद पर थूक के इस्तेमाल का कोई न कोई विकल्प तो ढूढ़ना ही होगा क्योंकि अगर ऐसा नहीं हुआ तो क्रिकेट के मुकाबले एकतरफा हो जाएंगे, जहां बल्लेबाज हर वक्त गेंदबाजों पर हावी होते दिखेंगे. गंभीर ने स्लाइवा पर लगने वाले प्रतिबंध पर भी बात की और कहा, 'यह गेंदबाजों के लिए सबसे मुश्किल चीज होगी. आईसीसी को इसके विकल्प के साथ आना होगा. गेंद को चमकाए बिना मुझे नहीं लगता कि बल्ले और गेंद में बराबरी की प्रतिस्पर्धा हो पाएगी. '

 

खाली स्टैंड में सेक्स डॉल को बिठाना फुटबॉल क्लब को पड़ा बहुत 'महंगा', भरना होगा सबसे बड़ा जुर्माना

अपने सुपरस्टार को खोने के बाद सदमें में WWE की दुनिया, द रॉक ने भावुक ट्वीट करके किया दोस्त को यादखेल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज