गंभीर का बड़ा बयान, कहा- द्रविड़ को सबसे कम आंका गया, सचिन की चमक में दबा करियर

गंभीर का बड़ा बयान, कहा- द्रविड़ को सबसे कम आंका गया, सचिन की चमक में दबा करियर
गौतम गंभीर ने कहा कि भारतीय क्रिकेट पर राहुल द्रविड़ का प्रभाव सचिन तेंदुलकर और गांगुली से ज्यादा है.

गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा कि हम केवल सौरव गांगुली (Sourav Ganguly), एमएस धोनी (MS Dhoni) और अब विराट कोहली (Virat Kohli) के बारे में बात करते हैं, लेकिन राहुल द्रविड़ भारत के लिए एक शानदार कप्तान रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिग्‍गज भारतीय बल्‍लेबाज गौतम गंभीर  (Gautam Gambhir)  का मानना है पूर्व भारतीय बल्लेबाज राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) देश के सबसे ‘ कमतर आंके’ गए पूर्व कप्तान में से एक हैं. गंभीर ने कहा कि क्रिकेट में द्रविड़ का योगदान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की तरह है, मगर जितने के वे हकदार थे, उन्‍हें उतना श्रेय नहीं मिला. द्रविड़ ने भारत के लिए 79 वनडे मैचों कप्तानी की, जिसमें से टीम को 42 में जीत मिली. द्रविड़ की कप्‍तानी में टीम इंडिया (Team India) के नाम लगातार 14 मैच जीतने का भी रिकॉर्ड है.उनकी अगुआई में टीम ने वेस्टइंडीज, साउथ अफ्रीका, बांग्लादेश और इंग्लैंड में टेस्ट श्रृंखला में शानदार प्रदर्शन किया था.

क्रिकेट कनेक्टेड में बात करते हुए गंभीर ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हम द्रविड़ को उनकी कप्तानी का पूरा श्रेय नहीं देते. उन्‍होंने कहा कि हम केवल सौरव गांगुली, एमएस धोनी के बारे में बात करते हैं, अब हम विराट कोहली के बारे में बात करते हैं, लेकिन राहुल द्रविड़ भारत के लिए एक शानदार कप्तान रहे हैं.

भारत के लिए 164 टेस्ट में 13 हजार 288 रन और 344 वनडे मैच में 10 हजार 889 रन बनाने वाले द्रविड़ के बारे में गंभीर ने कहा कि उनके रिकॉर्ड भी शानदार है. क्रिकेटर के तौर पर उनके योगदान को कम आंका गया और कप्तान के तौर पर भी शायद वह सबसे कम आंके गए खिलाड़ी है. हमने उनकी कप्तानी में इंग्लैंड, वेस्टइंडीज में जीत हासिल की. हम लगातार 14 या 15 मैचों में जीत हासिल करने में सफल रहे थे.



यह भी पढ़ें: 
2011 वर्ल्ड कप फिक्सिंग के आरोपों के बाद आईसीसी ने लिया बड़ा फैसला, होगी पूछताछ!

9 साल की उम्र में इस महिला क्रिकेटर ने बनाई टीम में जगह, दोहरा शतक जड़कर रचा था इतिहास

सचिन और गांगुली से ज्‍यादा द्रविड़ का प्रभाव
2007 टी20 विश्व कप और 2011 टी20 विश्व कप जीतने वाली टीम इंडिया का हिस्सा रहे गंभीर ने कहा कि भारतीय क्रिकेट पर द्रविड का प्रभाव सचिन तेंदुलकर और गांगुली से ज्यादा है.
उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि उनका प्रभाव काफी ज्यादा रहा है. सौरव गांगुली ने हमेशा अपनी आक्रामक पारी की वजह से एकदिवसीय क्रिकेट में बड़ा प्रभाव डाला. गंभीर ने कहा कि आप वास्तव में सचिन तेंदुलकर जैसे किसी खिलाड़ी के साथ उनके प्रभाव की तुलना कर सकते हैं . उनका पूरा करियर सचिन तेंदुलकर की आभा में दब गया, लेकिन प्रभाव शायद उतना ही रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading