टीम चयन पर भड़के गावस्कर, पूछा- मयंक अग्रवाल कैसे पहुंच गए वर्ल्ड कप में?

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में हार के बाद गावस्कर ने कहा कि इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की तरफ से कई हैरान कर देने वाले फैसले लिए गए

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 11:49 AM IST
टीम चयन पर भड़के गावस्कर, पूछा- मयंक अग्रवाल कैसे पहुंच गए वर्ल्ड कप में?
गावस्कर ने उठाए सवाल
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 11:49 AM IST
आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में चयन को लेकर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज़ सुनील गावस्कर बेहद नाराज हैं. उन्होंने मयंक अग्रवाल को वर्ल्ड कप टीम में शामिल किए जाने को लेकर सवाल उठाए हैं.  सुनील गावस्कर के मुताबिक विजय शंकर के घायल होने पर अंबाती रायडू को इंग्लैंड भेजा जाना चाहिए था न कि मयंक अग्रवाल को.

अंबाती रायडू क्यों नहीं?


न्यूज़ीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में हार के बाद स्टार स्पोर्ट्स से बातचीत करते हुए गावस्कर ने कहा कि इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की तरफ से कई हैरान कर देने वाले फैसले लिए गए. उन्होंने कहा, ''आखिर क्यों और कैसे मयंक अग्रवाल को टीम में शामिल किया गया. उन्होंने अभी तक एक भी वनडे नहीं खेला है. वो श्रीलंका के खिलाफ आखिरी लीग मैच से पहले इंग्लैंड पहुंचे थे. ऐसे में अगर टीम में जगह रहती तो क्या आप उन्हें सेमीफाइनल या फिर फाइनल में खिलाते. अंबाती रायडू को क्यों नहीं बुलाया गया वो आपका वर्ल्ड कप के लिए स्टैंडबाय खिलाड़ी था.''

सब गोलमाल है!

बता दें कि पिछले साल एशिया कप में अंबाती रायडू की टीम इंडिया में वापसी हुई थी. इसके बाद से उन्होंने चौथे नंबर पर 14 पारियों में बैटिंग की थी. न्यूजीलैंड दौरे पर भी वो सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ थे. लेकिन इसके बावजूद उन्हें नजरअंदाज किया गया. पहले शिखर धवन की जगह ऋषभ पंत को भेजा गया और फिर विजय शंकर के घायल होने पर मयंक अग्रवाल इंग्लैंड पहुंच गए. लिहाजा रायडू ने निराश होकर संन्यास ले लिया.

अंबाती रायडू को नहीं मिला मौका?


चौथे नंबर पर फ्लॉप शो
Loading...

वर्ल्ड कप में टीम इंडिया नंबर चार को लेकर जूझती नजर आई. इस नंबर पर टीम इंडिया ने चार बल्लेबाजों को आजमाया लेकिन कोई भी बड़ी पारी नहीं खेल सके. यहां तक की इस नंबर पर किसी भी भारतीय बल्लेबाज़ ने हाफ सेंचुरी भी नहीं लगाई.

हैरान कर देने वाला फैसला
गावस्कर के मुताबिक, सेमीफाइनल मैच में धोनी को चौथा विकेट गिरने के बाद बैटिंग के लिए आना चाहिए था. उन्होंने मैच के एक दिन बाद स्टार स्पोर्ट्स से बातचीत करते हुए कहा, ''जब 24 रनों पर चार विकेट गिर गए थे उस वक्त एक ही मिजाज के दो बल्लेबाज़ों को आप नहीं भेज सकते हैं. पंत और पंड्या दोनों आक्रमक बल्लेबाज़ हैं. यहां धोनी को बैटिंग के लिए आना चाहिए था. वो क्रीज पर आकर हर दूसरी गेंद पर ऋषभ से बात कर सकते थे. टीम मैनेजमेंट का ये फैसला हैरान कर देने वाला था. यहां सेलेक्शन कमेटी की कोई गलती नहीं थी. ये टीम मैनेजमेंट की चूक थी''

ये भी पढ़ें:  वर्ल्ड कप 2019: धोनी की बैटिंग पोजिशन को लेकर भड़के गावस्कर

हार के बाद बोले रवि शास्त्री, नंबर चार ने हमें फंसा दिया

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...