ड्रम पर निशाना लगाकर बना महान गेंदबाज, सचिन से थी कट्टर 'दुश्मनी', झटके 949 विकेट

On This Day: ग्लेन मैक्ग्रा ने आज ही के दिन किया था डेब्यू (Photo- Glenn McGrath Instagram)
On This Day: ग्लेन मैक्ग्रा ने आज ही के दिन किया था डेब्यू (Photo- Glenn McGrath Instagram)

ऑस्ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा (Glenn McGrath) ने आज ही के दिन किया था डेब्यू, टेस्ट में 563 और वनडे में 381 विकेट अपने नाम किये.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 6:03 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 12 नवंबर 1993...ये तारीख क्रिकेट जगत के लिए बेहत ही खास है क्योंकि आज ही के दिन एक ऐसे गेंदबाज ने इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था जिसने ना सिर्फ कई रिकॉर्ड तोड़े बल्कि आज भी उसकी लाइन लेंग्थ की मिसालें दी जाती हैं. हम बात कर रहे हैं ऑस्ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा (Glenn McGrath) की जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में कुल 949 विकेट झटके. मैक्ग्रा ने टेस्ट क्रिकेट में 563, वनडे में 381 और टी20 इंटरनेशनल में 5 विकेट अपने नाम किये. हालांकि आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि ऑस्ट्रेलिया के इस महान तेज गेंदबाज को खराब लाइन लेंग्थ की वजह से गेंदबाजी नहीं दी गई थी और उसके बाद मैक्ग्रा की जिंदगी बदल गई.

मैक्ग्रा कैसे बने महान तेज गेंदबाज
न्यू साउथ वेल्स के छोटे से कस्बे नैरोमाइन में जन्मे मैक्ग्रा (Glenn McGrath) जब छोटे थे तो उन्हें एक टूर्नामेंट के मैच में कप्तान ने इसलिए गेंदबाजी नहीं दी थी क्योंकि वो पिच पर गेंद नहीं फेंक पा रहे थे. मैक्ग्रा पिच से बाहर गेंद को फेंक रहे थे, मतलब उनकी लाइन-लेंग्थ बेहद ही खराब थी. इसके बाद मैक्ग्रा ने अपनी गेंदबाजी पर मेहनत की. अपने घर के पीछे छोटे से गार्डन में मैक्ग्रा ने गेंदबाजी प्रैक्टिस शुरू की. इस दौरान मैक्ग्रा के पास विकेट नहीं थी, लेकिन वो अपने गार्डन में पड़े लोहे के ड्रम को निशाना बनाकर गेंदबाजी करने लगे. प्रैक्टिस करके मैक्ग्रा की लाइन लेंग्थ इतनी अच्छी हो गई कि बाद में उन्होंने कई रिकॉर्ड तोड़ डाले.

मैक्ग्रा का संघर्ष
ग्लेन मैक्ग्रा ने करियर के शुरुआती दिनों में खूब संघर्ष किया. वो क्रिकेट खेलने के लिए सिडनी आए, जहां वो ग्रेड क्रिकेट खेलने के साथ-साथ एक बैंक में काम करते थे. मैक्ग्रा के पास रहने को घर नहीं था और वो एक वैन में रातें काटते थे. हालांकि जल्द ही मैक्ग्रा का समय बदला और उन्होंने 12 नवंबर 1993 को न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया.



वॉल्श का रिकॉर्ड तोड़ा
मैक्ग्रा ने अपने करियर में कई मुकाम हासिल किये लेकिन उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज कर्टनी वॉल्श का रिकॉर्ड तोड़ना था. मैक्ग्रा ने वॉल्श को पछाड़ते हुए 563 विकेट झटके, हालांकि इसके बाद अब एंडरसन ने मैक्ग्रा को पछाड़ दिया है. मैक्ग्रा ने अपने करियर में कई बल्लेबाजों को परेशान किया, जिनमें सचिन तेंदुलकर भी शामिल थे. 100 इंटरनेशनल शतक लगाने वाले सचिन को मैक्ग्रा ने खूब तंग किया और मैदान पर इन दोनों की जंग देखते ही बनती थी.

बुरी खबर: दिग्गज बल्लेबाज का निधन, 20 शतकों की मदद से ठोके थे 14 हजार रन

वर्ल्ड कप की हैट्रिक
ग्लैन मैक्ग्रा ऑस्ट्रेलिया की लगातार तीन वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे. इस तेज गेंदबाज ने 1999, 2003 और 2007 वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन कर टीम को जीत दिलाई. मैक्ग्रा के नाम वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा 71 विकेट लेने का रिकॉर्ड है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज