ग्रीम स्वान ने कहा- भारतीय गेंदबाजी के आगे कोई भी टीम कर सकती है सरेंडर

ग्रीम स्वान ने कहा- भारतीय गेंदबाजी के आगे कोई भी टीम कर सकती है सरेंडर
ग्रीम स्वान ने की भारतीय गेंदबाजों की तारीफ

ग्रीम स्वान (Graeme Swann) ने भारतीय पेस बैटरी की जमकर तारीफ की. उनके मुताबिक जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा बेहद ही खतरनाक तिकड़ी है

  • Share this:
नई दिल्ली. इंग्लैंड के पूर्व ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान (Graeme Swann) बुधवार को कहा कि जसप्रीत बुमराह की अगुआई वाला भारतीय गेंदबाजी आक्रमण किसी भी टीम को सस्ते में समेटने की काबिलियत रखता है. क्रिकेटर से कमेंटेटर बने स्वान पिछले साल सितंबर में वेस्टइंडीज में थे जब भारत की तेज गेंदबाजों की तिकड़ी जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी ने मेजबानों को पस्त कर दिया था और मिलकर 40 में से 33 विकेट चटकाये थे जिससे टीम ने दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला 2-0 से क्लीन स्वीप की थी.

'किसी को भी सस्ते में निपटा देगी भारतीय टीम'
स्वान (Graeme Swann) ने सोनी टेन के ‘पिट स्टॉप’ चैट शो में कहा, 'मुझे यह शानदार लगा था और मैंने उस समय कहा था कि यह भारतीय टीम इस गेंदबाजी आक्रमण की बदौलत इस समय दुनिया की किसी भी टीम को सस्ते में समेट देगी. इस समय वे जिस तरह की गेंदबाजी कर रहे हैं और मैं इस पर कायम हूं, यह शानदार है. '

इंग्लैंड गलत टीम चुनने की वजह से हारा
ग्रीम स्वान (Graeme Swann) ने इंग्लैंड को वेस्टइंडीज के हाथों मिली हार पर भी बड़ी बात कही. उन्होंने कहा कि साउथैंप्टन टेस्ट में इंग्लैंड ने स्टुअर्ट ब्रॉड को टीम से बाहर रखकर गलत चयन किया. स्वान बोले, 'मुझे लगता है कि इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को हल्के में लिया और उन्होंने गलत टीम चुनी. इंग्लैंड ने स्टुअर्ट ब्रॉड को बाहर कर गलत टीम चयन किया. मैं इसे लगातार कहता रहूंगा. स्टुअर्ट ब्रॉड को नहीं खिलाकर इंग्लैंड ने अपने पूरे गेंदबाजी आक्रमण को धारहीन बना दिया. '



5 भारतीय खिलाड़ी जो दमदार प्रदर्शन के बावजूद अचानक टीम इंडिया से 'गायब' हो गए

दुबई में ट्रेनिंग करने जा सकते हैं टीम इंडिया के खिलाड़ी: रिपोर्ट

भारत दौरे पर जीत जिंदगी का सबसे बेहतरीन पल
स्वान ने अपने करियर के बारे में बात करते हुए कहा कि भारत को उसके ही घर में टेस्ट सीरीज में मात देना उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि रही. इंग्लैंड ने साल 2012-13 में भारत दौरे पर टीम इंडिया को टेस्ट सीरीज में मात दी थी. उस सीरीज में स्वान ने 20 विकेट लिये थे. स्वान बोले, 'ईमानदारी से कहूं कि जब भी मैं पीछे देखता हूं तो वो मेरी स्पिनर के तौर पर सबसे बड़ी उपलब्धि है. 2010 में हम ऑस्ट्रेलिया में जीते लेकिन वहां मैंने ज्यादा कुछ नहीं किया. भारत में वो सीरीज मेरे जीवन के सबसे अच्छे समय में से एक है.' बता दें उस सीरीज में स्वान और मॉन्टी पनेसर ने मिलकर कुल 37 विकेट झटके थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading