होम /न्यूज /खेल /किस्मत खराब हो तो 499 पर ही रन आउट हो सकता है खिलाड़ी, क्या आप जानते हैं उस क्रिकेटर का नाम?

किस्मत खराब हो तो 499 पर ही रन आउट हो सकता है खिलाड़ी, क्या आप जानते हैं उस क्रिकेटर का नाम?

पाकिस्तान के एक बैटर 499 पर रन आउट हो गए थे. (News18 Hindi)

पाकिस्तान के एक बैटर 499 पर रन आउट हो गए थे. (News18 Hindi)

हम क्रिकेट खिलाड़ियों को उनकी अलग-अलग खासियतों के लिए जानते हैं. डॉन ब्रैडमैन को उनकी निरंतरता और विवियन रिचर्ड्स को उन ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. वो कहते हैं ना कि जब किस्मत खराब हो तो ऊंट पर बैठे इंसान को भी कुत्ता काट लेता है… यह कहावत पाकिस्तान के लीजेंडरी क्रिकेटर हनीफ मोहम्मद पर एकदम सटीक बैठती हैं. हनीफ मोहम्मद को पाकिस्तान क्रिकेट का पहला सुपरस्टार माना जाता है. गुजरात में जन्मे इस दाएं हाथ के बल्लेबाज ने पाकिस्तान के लिए क्रिकेट में कुछ ऐसा कारनामा कर दिखाया था, जो आजतक कोई नहीं कर पाया है. बावजूद इसके हनीफ के साथ क्रिकेट में एक ऐसा हादसा हुआ है, जिसकी कल्पना करने में एक क्रिकेटर सहम उठेगा. आइए हम आपको आज बताते हैं कि हनीफ मोहम्मद के साथ क्रिकेट की पिच ऐसा क्या हुआ था?

दरअसल, आज ही के दिन 63 साल पहले यानी, 11 जनवरी 1959 में हनीफ मोहम्मद 499 रन बनाकर रन आउट हो गए थे. हनीफ ने 1958-59 कायद-ए-आजम ट्रॉफी के सेमीफाइनल में 499 रन बनाकर महान डॉन ब्रैडमैन को पीछे छोड़ दिया था. ब्रैडमैन के नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में नाबाद 452 रन बनाने का रिकॉर्ड है. हनीफ ने पाकिस्तान के फर्स्ट क्लास टूर्नामेंट कायद-ए-आजम ट्रॉफी में 499 रन का स्कोर बनाया था.

रोहित शर्मा ने जिसे एक दिन पहले खोया, उसी के नाम की हाफ सेंचुरी, मैदान पर ही इमोशनल हुए ‘हिटमैन’

हनीफ मोहम्मद का रिकॉर्ड ब्रायन लारा ने तोड़ा
हनीफ का यह 499 रनों के रिकॉर्ड को 35 साल बाद ब्रायन लारा ने तोड़ा था. उन्होंने 1994 में डरहम के खिलाफ वर्कविशर के लिए खेलते हुए नाबाद 501 रन बनाए थे. हालांकि, हनीफ का 499 का स्कोर अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड था, लेकिन उनकी बदकिस्मती थी कि वह 500 का आंकड़ा नहीं छू पाए थे.

हनीफ मोहम्मद ने बॉलरों को चटा दी थी धूल
1958-59 कायद-ए-आजम ट्रॉफी के सेमीफाइनल मुकाबले में बहावलपुर ने कराची के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए महज 185 रन बनाए थे. इसके बाद हनीफ ने एक ऐसी शानदार पारी खेली, जिसने अकेले ही विरोधी टीमों के बॉलरों की शामत ला दी. मैच के पहले दिन स्टम्प्स तक हनीफ ने नाबाद 25 रन बनाए. मैच के दूसरे दिन उन्होंने 230 रन और जोड़े और उस दिन भी नाबाद 255 रन पर रहे. इसके बाद मैच के तीसरे दिन हनीफ शानदार खेल रहे थे, लेकिन मैच में एक बड़ी गलती हो गई.

किस्मत ने नहीं दिया हनीफ मोहम्मद का साथ
तीसरे दिन के खेल की जब कुछ ही गेंदे शेष बची हुई थीं, तब हनीफ 498 के स्कोर तक पहुंच गए थे. लेकिन स्कोरबोर्ड अपडेट नहीं हुआ था और वहां दिखाया जा रहा था हनीफ का स्कोर 496 रन है. वह स्टम्प्स से पहले 500 रन पूरे करना चाहते थे, लेकिन किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और वह 499 के स्कोर पर बुरी तरह रन आउट हो गए. दाएं हाथ के इस बल्लेबाज की विशाल पारी का अचानक अंत हो गया. हनीफ की इस यादगार पारी में 64 चौके शामिल थे.

हनीफ की टीम ने जीता था मैच
हनीफ के आउट होने के बाद कराची ने 7 विकेट के नुकसान पर 772 रन पर पारी घोषित कर दी. इस दौरान गेंदबाजों ने खूब आराम किया. कराची के बॉलरों ने बहावलपुर की पूरी टीम को महज 108 रनों के स्कोर पर ही आउट कर दिया. इसके साथ ही कराची ने यह मैच पारी और 479 रनों के अंतर से जीता.

हनीफ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली थी मैराथन पारी
हनीफ मोहम्मद ने पाकिस्तान के लिए 55 टेस्ट मैचों में 43.98 की औसत से 3,915 रन बनाए हैं. उनके नाम 12 टेस्ट शतक और 15 अर्धशतक दर्ज हैं. हनीफ का टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ा स्कोर 337 रनों का है, जो वेस्टइंडीज के खिलाफ 1958 में आया था. हनीफ की वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गई पारी आज भी क्रिकेट इतिहास की सबसे लंबी टेस्ट पारी है. उन्होंने इस पारी के दौरान क्रीज पर 16 घंटे से अधिक (970 मिनट) का समय बिताया था. हनीफ का 337 का स्कोर उस वक्त टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर था, जो आज आठवें नंबर पर पहुंच गया है.

IND vs AUS: ऋषभ पंत की जगह ले सकते हैं 6 दावेदार, एक तो जड़ रहा शतक पर शतक

भारतीय खिलाड़ी ने तोड़ा था हनीफ का रिकॉर्ड
हनीफ मोहम्मद की यह पारी फर्स्ट क्लास क्रिकेट इतिहास की सबसे लंबी पारी थी. इसके बाद 1999-2000 की रणजी ट्रॉफी में हिमाचल प्रदेश के बैटर राजीव नैय्यर ने इसमें 45 मिनट का इजाफा और (16 घंटे 55 मिनट) कर लिया. यह मैच जम्मू कश्मीर के खिलाफ था. नैय्यर ने इस मैच में 271 रन बनाए थे.

Tags: On This Day, Pakistani cricketer, Ranji Trophy

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें