INDvsSA : विराट की टीम के लिए बड़ा खतरा है दक्षिण अफ्रीका, सामने आते ही हो जाता है 'पंगा'

IND vs SA : भारत-दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच यूं तो चिर प्रतिद्वं‌द्विता नहीं है, लेकिन दोनों टीमों के बीच मैदान पर ऐसी घटनाएं होती रहीं हैं जिन्होंने क्रिकेट की दुनिया को हिलाकर रख दिया,

News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 5:14 PM IST
INDvsSA : विराट की टीम के लिए बड़ा खतरा है दक्षिण अफ्रीका, सामने आते ही हो जाता है 'पंगा'
विराट कोहली और क्विंटन डी कॉक की कप्तानी में भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच पहला टी-20 मैच 15 सितंबर को धर्मशाला में खेला जाएगा. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 5:14 PM IST
भारत-दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच क्रिकेट मैदान पर प्रतिद्वंद्विता कोई आज की बात नहीं है. ये सिलसिला लंबे समय से जारी है. यूं तो इन दोनों देशों के बीच ऐसी चिर प्रतिद्वं‌द्विता नहीं है जैसी कि भारत-पाकिस्तान (India vs Pakistan) और इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया (England vs Australia) के बीच है. मगर गाहे-बगाहे दोनों टीमों के बीच ऐसी घटनाएं होती रहीं हैं जिन्होंने न केवल क्रिकेट की दुनिया को हिलाकर रख दिया, बल्कि दोनों टीमों के बीच रिश्ते थोड़े तल्‍ख भी कर दिए. चाहे हैंसी क्रोन्ये (Hansie cronje) की मैच फिक्सिंग हो या फिर दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर छह भारतीय खिलाड़ियों पर लगा एक मैच का प्रतिबंध या फिर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) पर बॉल टैंपरिंग (Ball Tempering) का आरोप, ऐसे ही कई और भी किस्से हैं जिन्होंने भारत-दक्षिण अफ्रीका प्रतिद्वंद्विता को नया आयाम दिया.

1. कपिल देव ने पीटर कर्स्टन को किया मानकड़िंग आउट
क्रिकेट से लंबे समय तक दूर रहने के बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम ने 1991 के भारत दौरे से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की. अगले साल ही भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गई. यह पहली सीरीज थी, जिसमें थर्ड अंपायर (third umpire) नियुक्त किया गया था. पोर्ट एलिजाबेथ (Port Elizabeth) में खेले गए दूसरे वनडे में तब विवाद हो गया जब भारतीय टीम 147 रन के छोटे से लक्ष्य का पीछा कर रही थी. दक्षिण अफ्रीका (South Africa) ने 9 ओवर में 1 विकेट के नुकसान पर 20 रन बना लिए थे. कपिल देव मेजबान ओपनर केप्लर वेसेल्स (Kepler Wessels) को गेंदबाजी करने पहुंचे, लेकिन जैसे ही रनअप पूरा कर स्टंप के पास पहुंचे, उन्होंने नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े गैरी कर्स्टन के भाई पीटर (Peter Kirsten) को मानकड़िंग आउट कर दिया. पीटर क्रीज से बाहर थे. अंपायर साइरस मिचले ने नियमों के तहत पीटर को आउट करार दिया. नाराज कपिल देव ने इशारा किया कि ये तीसरा मौका था जब वेसेल्स ने पहले ही क्रीज छोड़ दी थी. दरअसल, कपिल देव ने उस सीरीज में दो बार क्रीज छोड़ने के लिए कर्स्टन को चेतावनी दी थी. मैच के बाद कर्स्टन ने कहा कि बेशक मैं कपिल देव का सम्मान करता हूं, लेकिन उन्होंने जो कुछ भी किया, उससे सहमत नहीं हूं. हालांकि कर्स्टन नियमों के तहत आउट करार दिए गए थे, लेकिन इस घटना के बाद कपिल देव की खेल भावना पर सवाल उठाए गए. घटना से नाराज वेसेल्स ने तो कथित रूप से रन लेने के दौरान कपिल देव को बल्ला भी मार दिया था. हालांकि वह सजा से बच गए, लेकिन अंपायर के फैसले पर नाराजगी जताने के लिए कर्स्टन की 50 फीसदी मैच फीस काट ली गई थी.

india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket team, cricket, dharamsala t20, kapil dev, sachin tendulkar, Greg Chappell, hansie cronje, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, धर्मशाला टी-20, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, हैंसी क्रोन्ये, सचिन तेंदुलकर, ग्रेग चैपल, कपिल देव
कपिल देव दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज पीटर कर्स्टन को मानकड़िग आउट किया था. (फाइल फोटो)


2. हैंसी क्रोन्ये ने मानी मैच फिक्सिंग की बात, क्रिकेट जगत में आया भूचाल
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को हिला देने वाले मैच फिक्सिंग (Match Fixing) कांड से भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) की टीमें भी कहीं न कहीं जुड़ी हैं. दरअसल, 7 अप्रैल 2000 को दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया कि दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान हैंसी क्रोन्ये (Hansie cronje) मैच फिक्सिंग में शामिल थे. हैंसी क्रोन्ये पर मैच फिक्सिंग का दोष सिद्ध होने के बाद आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था. बाद में दक्षिण अफ्रीकी टीम के अन्य दिग्गज बल्लेबाज हर्शल गिब्स (Herschelle Gibbs) ने खुलासा किया क्रोन्ये ने उन्हें भी नागपुर में भारत के खिलाफ खेले गए पांचवें वनडे में 20 रन से कम पर आउट होने के लिए 15 हजार डॉलर की पेशकश की थी. इसी मैच में हेनरी विलियम्स (Henry Williams) को 50 से ज्यादा रन खर्च करने के लिए भी इतनी ही राशि की पेशकश हुई थी. गिब्स ने इस मैच में 53 गेंद पर 74 रन बनाए थे और विलियम्स चोटिल होने के चलते दूसरा ओवर भी पूरा नहीं कर सके ‌थे. ऐसे में किसी को भी पैसे नहीं मिले. मैच फिक्सिंग की बात स्वीकार करते हुए हैंसी क्रोन्ये ने कहा कि 1996 में कानपुर में खेले गए तीसरे टेस्ट के दौरान उन्हें भारत के तत्कालीन कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammad Azharuddin) ने मुकेश गुप्ता (Mukesh Gupta) से मिलवाया था. गुप्ता ने हैंसी क्रोन्ये को 30 हजार डॉलर देते हुए कहा था कि वो आखिरी दिन विकेट गंवाकर मैच हारने के लिए अपनी टीम को भी राजी करें. दक्षिण अफ्रीकी टीम 460 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 127 रन पर पांच विकेट गंवा चुकी थी. हैंसी क्रोन्ये आउट हो चुके थे और उन्होंने टीम के अन्य खिलाड़ी से इस बारे में कोई बात नहीं की. इस बारे में हैंसी ने कहा था कि मुझे इसके बावजूद पैसे मिल गए थे. इसके बाद टीम की जानकारी देने के लिए हैंसी को गुप्ता की ओर से 50 हजार डॉलर और मिले.

india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket team, cricket, dharamsala t20, kapil dev, sachin tendulkar, Greg Chappell, hansie cronje, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, धर्मशाला टी-20, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, हैंसी क्रोन्ये, सचिन तेंदुलकर, ग्रेग चैपल, कपिल देव
दक्षिण अफ्रीका के हैंसी क्रोन्ये के मैच फिक्सिंग में शामिल होने की खबर ने पूरे क्रिकेट जगत को हिलाकर रख दिया था. (फाइल फोटो)

Loading...

3. सचिन तेंदुलकर पर बॉल टैंपरिंग का आरोप, छह भारतीय खिलाड़ियों पर बैन
भारतीय क्रिकेटी टीम साल 2001 में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गई थी. दोनों टीमों के बीच पोर्ट एलिजाबेथ में खेला गया दूसरा टेस्ट तब विवादों में आ गया जब मैच रेफरी माइक डेनेस (Mike Denness) ने छह भारतीय खिलाड़ियों पर कई आरोप लगाए. इनमें जरूरत से ज्यादा अपील करने का आरोप भी था. मगर हर कोई तब हैरान रह गया जब रेफरी ने सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को बॉल टैंपरिंग का दोषी माना. सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag), कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly), हरभजन सिंह (Harbhajan Singh), शिव सुंदर दास (Shiv Sunder Das) और दीप दासगुप्ता (Deep Dasgupta) पर एक टेस्ट मैच का बैन लगा दिया गया. यह मामला भारतीय संसद में भी गूंजा. डेनेस को नस्लवादी माना गया और आईसीसी पर भारत से भेदभाव के आरोप भी खूब लगे. बीसीसीआई ने मांग की कि अगर तीसरे टेस्ट में डेनेस को मैच रेफरी के तौर पर हटाया नहीं गया तो वो दौरा रद्द कर देगी. डेनेस को तीसरे टेस्ट से हटा दिया गया, जिसके बाद आईसीसी ने तीसरे टेस्ट को अनऑफिशियल ठहराते हुए इसे दोस्ताना मैच करार दिया. ऐसे में सीरीज तीन की जगह दो मैचों की मान ली गई, जिसमें मेजबान दक्षिण अफ्रीका पहले ही 1-0 से जीत दर्ज कर चुका था.

india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket team, cricket, dharamsala t20, kapil dev, sachin tendulkar, Greg Chappell, hansie cronje, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, धर्मशाला टी-20, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, हैंसी क्रोन्ये, सचिन तेंदुलकर, ग्रेग चैपल, कपिल देव
सचिन तेंदुलकर पर बॉल टैंपरिंग का आरोप लगते के साथ ही क्रिकेट की दुनिया में सनसनी मच गई थी. (फाइल फोटो)


4. ग्रेग चैपल ने दिखाई मिडिल फिंगर
साल 2005 में दक्षिण अफ्रीकी टीम भारत दौरे पर आई. पिछले मैचों में खराब प्रदर्शन के बाद सौरव गांगुली (Sourv Ganguly) को वनडे टीम से बाहर कर दिया गया था. खुद को टीम से बाहर करने पर सौरव गांगुली ने इसके लिए सीधे-सीधे टीम के कोच ग्रेग चैपल (Greg Chappell) को जिम्मेदार ठहराया था. ऐसे में जब सीरीज का तीसरा वनडे खेलने के लिए टीम कोलकाता के ईडन गार्डेंस पहुंची तो टीम बस में बैठे ग्रेग चैपल को गांगुली के समर्थकों का सामना करना पड़ा. लोगों ने चैपल का विरोध करने के लिए हाथ में बैनर ले रखे थे और लगातार नारेबाजी चल रही थी. इसके बाद ग्रेग चैपल ने गुस्साए समर्थकों की तरफ मिडिल फिंगर दिखाई. उनकी यह हरकत कैमरे में कैद हो गई थी. इस मैच के दौरान भारतीय टीम को सौरव गांगुली के प्रशंसकों द्वारा विराेध का सामना करना पड़ा जबकि उन्होंने दक्षिण अफ्रीकी टीम का जमकर हौसला बढ़ाया. दक्षिण अफ्रीका ने यह मैच दस विकेट से अपने नाम किया.

india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket team, cricket, dharamsala t20, kapil dev, sachin tendulkar, Greg Chappell, hansie cronje, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, धर्मशाला टी-20, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, हैंसी क्रोन्ये, सचिन तेंदुलकर, ग्रेग चैपल, कपिल देव
टीम इंडिया के तत्कालीन कोच ग्रेग चैपल ने सौरव गांगुली को वनडे टीम से बाहर कर दिया था, जिसके बाद उनके प्रशंसकों में नाराजगी फैल गई थी. (फाइल फोटो)


5. कानुपर में 3 दिन में गिरे 32 विकेट, आईसीसी ने पिच को बताया खराब
साल 2008 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच सीरीज का तीसरा और आखिरी टेस्ट मैच कानपुर में हुआ. भारत ने यह मैच तीन दिन में जीतकर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली. इस मैच में 3 दिन में 32 विकेट गिरे, जिसके चलते आईसीसी ने इस पिच को खराब करार दिया. दक्षिण अफ्रीकी टीम के कोच मिकी ऑर्थर ने आरोप लगाया कि यह दुनिया की सबसे खराब पिचों में से थी. मैच रेफरी रोशन महानामा ने आईसीसी को सौंपी अपनी रिपोर्ट में पिच की गुणवत्ता को लेकर चिंता जाहिर की थी.

india vs south africa, indian cricket team, south africa cricket team, cricket, dharamsala t20, kapil dev, sachin tendulkar, Greg Chappell, hansie cronje, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, धर्मशाला टी-20, इंडिया वस साउथ अफ्रीका, भारतीय क्रिकेट टीम, साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम, हैंसी क्रोन्ये, सचिन तेंदुलकर, ग्रेग चैपल, कपिल देव
साल 2008 में कानपुर टेस्ट में तीन दिन में ही 32 विकेट गिर गए थे. भारत ने यह मैच जीतकर सीरीज में 1-1 की बराबरी हासिल की. (फाइल फोटो)


तीन टी-20 और तीन टेस्ट मैचों की सीरीज
भारतीय क्रिकेट टीम और दक्षिण अफ्रीका के बीच मौजूदा दौरे पर तीन टी-20 और तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जाएगी. पहला टी-20 मैच धर्मशाला में 15 सितंबर को होगा, जबकि दूसरा मुकाबला 18 सितंबर को मोहाली में खेला जाएगा. टी-20 सीरीज का आखिरी मैच 22 सितंबर को बेंगलूरु में होगा. वहीं, पहला टेस्ट 2 अक्तूबर से विशाखापट्टनम में होगा. दूसरा टेस्ट 10 अक्तूबर से पुणे में होगा. सीरीज का आखिरी मुकाबला 19 अक्तूबर से रांची में खेला जाएगा.

ब्रैडमैन, विवियन रिचर्ड्स और गावस्कर का बड़ा रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ इतनी दूर हैं स्टीव स्मि‌थ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 4:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...